Showing posts with label Bihar. Show all posts
Showing posts with label Bihar. Show all posts

Thursday, February 23, 2017

आर्थिक सर्वेक्षण में नीतीश के वित्त मंत्री का दावा, बिहार 10 फ़ीसदी की दर से कर रहा विकास

आर्थिक सर्वेक्षण में नीतीश के वित्त मंत्री का दावा, बिहार 10 फ़ीसदी की दर से कर रहा विकास

bihar-economic-survey-2017-18

पटना: बिहार विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन गुरुवार को राज्य के वित्तमंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने 2016-17 का आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। दावा किया गया कि बिहार तेजी से विकास करने वाले राज्यों में से एक है। विकास की दर 10 प्रतिशत से अधिक है और राज्य की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की दर 7.6 प्रतिशत रही, जबकि राष्ट्रीय अर्थव्यस्था की यह दर 6.8 प्रतिशत रही है। बिहार विधानसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में वित्तमंत्री ने दावा किया कि बिहार की अर्थव्यवस्था में निरंतर सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि चालू वित्तवर्ष में विनिर्माण, विद्युत, गैस एवं जलापूर्ति, व्यापार, होटल, संचार के साथ ही मत्स्य क्षेत्र के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौतल विकास की दर 10 प्रतिशत से अधिक रही है।

सिद्दीकी ने बताया कि राज्य में विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर जहां 17.7 प्रतिशत रही, वहीं विद्युत, गैस एवं जलापूर्ति की 15.2 प्रतिशत, व्यापार, मरम्मत, होटल एवं रेस्तरां की 14.6 प्रतिशत तथा परिवहन, भंडारण एवं संचार की 12.6 प्रतिशत रही। 

वित्तमंत्री ने बताया, "राज्य का राजस्व अधिशेष 2011-12 के 4,820 करोड़ रुपये से बढ़कर 2015-16 में 12,507 करोड़ रुपये हो गया है। यह अभी तक के सर्वोच्च स्तर है। इसके कारण राज्य सरकार के लिए पूंजीगत व्यय 5,800 करोड़ रुपये से ज्यादा होने का अनुमान लगाया गया है।"

उन्होंने दावा किया कि बिहार में राजस्व में वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि इस वित्तवर्ष में राजस्व प्राप्ति में 17,706 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई है, जिसमें 16,659 करोड़ (करीब 94 प्रतिशत) अकेले कर राजस्व के बढ़ने के कारण हुई है। 

वित्तमंत्री ने कहा कि दुग्ध सहकारी समितियों की संख्या में भी वृद्धि दर्ज की गई है। वर्ष 2014-15 में राज्यभर में दुग्ध सहकारी समितियों की कुल संख्या जहां 18.4 हजार थी, वहीं वर्ष 2015-16 में इसकी संख्या बढ़कर 19.5 हजार हो गई। 

इस दौरान राज्य में पुलों और सड़कों के क्षेत्र में भी निवेश बढ़ने का दावा सर्वेक्षण रिपेार्ट में किया गया है। सड़क क्षेत्र में वर्ष 2007-08 में जहां 2,696 करोड़ रुपये का निवेश था वह वर्ष 2016-17 में बढ़कर 7,696 करोड़ रुपये हो गया। इसी तरह राज्य की सड़कों में भी वृद्धि दर्ज की गई है। 

सिद्दीकी 27 फरवरी को बिहार विधानसभा में वित्तवर्ष 2017-18 का राज्य का बजट पेश करेंगे। 

उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष केंद्र सरकार की तर्ज पर बिहार में भी आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाता है। 

Tuesday, February 21, 2017

स्कूली छात्रा को एक युवक ने पहले खिलाई चाउमीन फिर पिलाई कोल्ड ड्रिंक, उसके बाद कर दिया रेप

स्कूली छात्रा को एक युवक ने पहले खिलाई चाउमीन फिर पिलाई कोल्ड ड्रिंक, उसके बाद कर दिया रेप


bihar-school-chhatra-rape
गया, 21 फरवरी: बिहार के गया जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में एक स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है और इस मामले में गया के एक थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि सोमवार की देर शाम कुछ लोग मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भदेजा मोड़ के पास एक 15 वर्षीय किशोरी को गंभीर हालत में ऑटो रिक्शा से फेंककर फरार हो गए। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पुलिस ने बेहोशी की हालत में किशोरी को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल भेजा। 

पुलिस के अनुसार, पीड़िता जिले के विष्णुपद क्षेत्र की रहने वाली है। मंगलवार को होश में आने के बाद छात्रा के बयान पर मुफस्सिल थाना में दुष्कर्म की एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। पीड़िता का मेडिकल कराया गया है। 

10वीं में पढ़ने वाली पीड़िता ने बताया कि वह सोमवार को स्कूल में आयोजित वरिष्ठ छात्र-छात्राओं के विदाई समारोह में शामिल होने के लिए स्कूल गई थी। वहां से लौटने के दौरान वजीरगंज थाना क्षेत्र के हेमजा गांव निवासी मंटू यादव ने रास्ते में उसे चाउमीन खिलाई और कोल्ड ड्रिंक पिलाई। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद गुगरीरटांड ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। इस दौरान पीड़िता बेहोश हो गई। 

गया जिले के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है तथा आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। 

Friday, February 17, 2017

PM MODI से बोले लालू यादव, भाई, इतना मत हंसो: पढ़ें क्यों

PM MODI से बोले लालू यादव, भाई, इतना मत हंसो: पढ़ें क्यों

lalu-yadav-modi-news
पटना, 16 फरवरी: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यह कहने पर तंज कसा कि उत्तर प्रदेश ने उन्हें गोद लिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री से 'अब न हंसाने' का निवेदन भी किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने किसी का नाम लिए बिना ट्वीट कर लिखा, "पंजाब में खून का बेटा और उत्तर प्रदेश में दत्तक पुत्र! गजब है रे भाई..इतना मत हंसाओ!" 

प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के हरदोई में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, "भगवान कृष्ण यूपी की धरती में पैदा हुए और गुजरात में कर्मभूमि बनाई। मैंने गुजरात में जन्म लिया और मुझे यूपी ने गोद लिया है। यह मेरी कर्मभूमि है, मेरा माई-बाप है। मैं ऐसा बेटा नहीं हूं, जो यूपी छोड़ दूं। गोद लिया बेटा भी माई-बाप की चिंता करेगा और यहां की स्थिति बदलने का कर्तव्य निभाएगा।"

मोदी ने इससे पहले पंजाब की एक रैली में खुद को पंजाब के खून का बेटा बताया था।

लालू इन दिनों ट्विटर पर काफी सक्रिय हैं। वह प्रधानमंत्री और भाजपा पर लगातार निशाना साध रहे हैं। राजद उत्तर प्रदेश चुनाव में समाजवादी पार्टी को समर्थन दे रही है। 

Monday, February 6, 2017

मोदी सरकार ने रेलवे का बंटाधार कर दिया: नीतीश कुमार

मोदी सरकार ने रेलवे का बंटाधार कर दिया: नीतीश कुमार

nitish-kumar-says-modi-government-has-destroyed-railways

पटना, 6 फरवरी: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां सोमवार को कहा कि रेल बजट को आम बजट में समाहित कर रेलवे का बंटाधार कर दिया गया। पटना में 'लोक संवाद कार्यक्रम' में भाग लेने के बाद मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा, "रेल बजट को आम बजट में समाहित कर रेलवे की स्वायत्तता एवं कार्यकुशलता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने से इनकार नहीं किया जा सकता है। रेल का जो आकर्षण था, वह समाप्त हो गया। रेल के बारे में न सोच है, न नजरिया है, जबकि रेल ही आवागमन का मूल स्रोत है।"

उन्होंने कहा कि रेलवे में सफाई की व्यवस्था न के बराबर है। न रेल समय पर चलती है और न ही स्वच्छता का ध्यान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब रेलवे का बंटाधार कर दिया गया।

मुख्यमंत्री ने गांधी मैदान में आयोजित पटना पुस्तक मेला में कमल के फूल में रंग भरने को लेकर पूछे गए प्रश्न पर कहा, "आयोजक उनको वहां ले गए थे, लिहाजा यह प्रश्न आयोजकों से ही पूछना चाहिए।" 

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चुनाव चिह्न् 'कमल' पर रंग भरने के बाद बिहार की राजनीति गर्म हो गई थी तथा नीतीश की भाजपा के साथ नजदीकी के कयास लगने लगे हैं। 

उत्तर प्रदेश चुनाव के विषय में पूछे जाने पर उन्होंने सीधे कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने हालांकि इतना जरूर कहा कि उत्तर प्रदेश में 'गठबंधन' है, बिहार जैसा 'महागठबंधन' नहीं है। 

मुख्यमंत्री ने अपनी 'निश्चय यात्रा' को पूरी तरह कामयाब बताते हुए कहा कि इस यात्रा का अनुभव बहुत अच्छा रहा। 

उन्होंने कहा, "नौ नवंबर को पश्चिम चंपारण से मैंने 'निश्चय यात्रा' की शुरुआत की थी। यात्रा के क्रम में सात निश्चय से संबंधित योजनाओं का क्रियान्वयन क्षेत्र में जाकर देखने का मौका मिला। सात निश्चय में से चार निश्चय हर घर नल का जल, हर घर बिजली, हर घर शौचालय, गांव तक पक्की गली नाली की योजना सबके लिए लागू है। गांव हो या शहर, सभी जगह योजना का क्रियान्वयन होगा।"

उन्होंने कहा कि बिहार में अब खुले में शौच से मुक्ति का वातावरण बन रहा है। जन-जागरण चलाकर शौचालय का निर्माण हो रहा है, जो अद्भुत है।

Friday, February 3, 2017

नीतीश कुमार को NDA से हो गया है प्रेम, इसलिए UP चुनावों से बनायी दूरी: जीतनराम मांझी

नीतीश कुमार को NDA से हो गया है प्रेम, इसलिए UP चुनावों से बनायी दूरी: जीतनराम मांझी

jitanram-manjhi-stated-nitish-kumar-will-join-nda

पटना, 3 फरवरी: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी ने शुक्रवार को कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर काम करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं और उन्होंने दावा किया कि नीतीश आने वाले दिनों में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल हो जाएंगे। मांझी ने पटना में संवाददाताओं से कहा, "नीतीश कुमार भाजपा से मिलने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में इतनी तैयारियों के बाद अचानक जद (यू) का चुनाव से अलग हट जाना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को फायदा पहुंचाने की कवायद है।" 

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर काम करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जद (यू) अध्यक्ष राजग में शामिल हो सकते हैं।

राजग के घटक दल में शामिल 'हम' के प्रमुख ने कहा कि जिस तरह नीतीश कुमार नोटबंदी का समर्थन कर रहे हैं या जिस तरह के बयान दे रहे हैं, उससे जाहिर होता है कि वह भाजपा से मिलने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अगर नीतीश राजग में आते हैं तो उनका स्वागत किया जाएगा। 

वहीं, भाजपा की बिहार इकाई पर निशाना साधते हुए मांझी ने कहा कि यहां के नेता सहयोगियों को तरजीह नहीं देते।

उन्होंने भाजपा को सलाह दी कि किसी भी आंदोलन या कार्यक्रम से पहले सभी सहयोगी दलों से विचार-विमर्श कर लेना चाहिए।

Wednesday, February 1, 2017

लालू यादव ने मोदी को बताया 'भारत का ट्रम्प': पढ़ें क्यों?

लालू यादव ने मोदी को बताया 'भारत का ट्रम्प': पढ़ें क्यों?

lalu-yadav-told-narendra-modi-indian-trump-in-hindi

Patna, 1 February: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के पूर्व रेल मंत्री और चारा घोटाले के करोड़ों रुपये लूट खाने के आरोपी लालू यादव ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इंडियन ट्रम्प बताया है। उन्होंने कहा कि सांसद ई-अहमद के निधन के बावजूद भी मोदी ने एक दिन के लिए बजट नहीं टाला, उन्होंने संसद की मौत के बावजूद भी बजट पेश किया इसलिए वे भारत के ट्रम्प हैं। 

लालू ने कहा कि ई अहमद देश के वरिष्ठ सांसद थे, उनके निधन पर बजट पेश नहीं किया जाना चाहिए था, मोदी ने असंवेदनशीलता और अमानवीयता दिखाई है। जिस प्रकार से अमेरिका में ट्रम्प दिक्कतें पैदा कर रहे हैं वैसे ही मोदी भारत में कर रहे हैं, दोनों ही दिक्कतें पैदा कर रहे हैं। 

लालू ने मोदी सरकार के बजट को भी खोखला पिटारा बताते हुए कहा कि इस बजट में गरीबों और किसानों के लिए कुछ भी नहीं है, नोटबंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था तबाह हो गयी है इसलिए अर्थव्यवस्था को फिर से मजबूत करने के लिए कुछ किया जाना चाहिए था लेकिन कुछ नहीं किया गया।

Sunday, January 29, 2017

4 शादियाँ और 40 बच्चे पैदा करने वालों को नहीं दिया जाना चाहिए कोई सरकारी लाभ: गोपाल नारायण सिंह

4 शादियाँ और 40 बच्चे पैदा करने वालों को नहीं दिया जाना चाहिए कोई सरकारी लाभ: गोपाल नारायण सिंह

bjp-mp-gopal-narayan-singh-latest-news-in-hindi

पटना, 29 जनवरी: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सांसद गोपाल नारायण सिंह ने यहां शनिवार को जनसंख्या नियंत्रण के लिए सरकार को कठोर कदम उठाने की सलाह देते हुए कहा कि ऐसे दंपति को सरकारी लाभ नहीं दिया जाना चाहिए जो चार चार शादियाँ करके 40 बच्चे पैदा करते हैं, ऐसे लोगों ने भारत की जनसँख्या को अनियंत्रित कर दिया है।

पटना में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, "देश में जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए सरकार को वैसे परिवारों के संवैधानिक दायरे पर विचार करना चाहिए, जिनके दो या तीन से अधिक बच्चे हैं। ये समस्या केवल बिहार की ही नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश, केरल और आंध्र प्रदेश जैसे कई राज्यों में भी है।"

सांसद ने कहा, "अकेले बिहार में बाहर से आकर तीन से चार करोड़ लोग बैठे हैं, जिनके पास न तो वीजा है और न ही पासपोर्ट है। ऐसे लोगों को दी जाने वाली सुविधाओं पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

'सबका साथ, सबका विकास' चाहने वाली पार्टी के सांसद ने कहा, "सीमांचल के कई जिलों में हिंदू अब अल्पसंख्यक हो गए हैं और एक वर्ग विशेष बहुसंख्यक हो गया है।" 

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि समान नागरिक संहिता लागू कर इस पर रोक लगाई जा सकती है। 

उल्लेखनीय है कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री और सांसद गिरिराज सिंह ने भी जनसंख्या नियंत्रण के लिए ऐसे कानून बनाने की बात कही थी। भाजपा के सांसद ऐसा क्यों कह रहे हैं, यह अल्पसंख्यकों की समझ में आने लगा है।

Wednesday, January 25, 2017

JDU सांसद शरद यादव ने दिया बहुत ही शर्मनाक बयान, बोले, 'बेटी की इज्जत से बड़ी है वोटों की कीमत'

JDU सांसद शरद यादव ने दिया बहुत ही शर्मनाक बयान, बोले, 'बेटी की इज्जत से बड़ी है वोटों की कीमत'


sharad-yadav-said-daughter-ijjat-smaller-than-vote

Patna, 25 January: अक्सर आप देखते होंगे कि लोग अपनी बेटियों की इज्जत के लिए अपनी जान गँवा देते हैं, बड़े बड़े गुंडों से टकरा जाते हैं, बेटी की इज्जत बचाने के लिए कोई भी कीमत देने को तैयार रहते हैं लेकिन JDU संसद शरद यादव जरा दूजे किस्म के नेता हैं, इनके लिए बेटी की इज्जत की कीमत कम है और वोटों की कीमत अधिक है। 

कल उन्होंने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर की जन्म जयंती पर भाषण में कहा, बेटी की इज्जत चली जाए तो बर्दास्त किया जा सकता है क्योंकि इससे केवल गाँव या समाज में बदनामी होती है लेकिन जब चुनाव में हर होती है तो पूरे देश में बेइज्जती होगी है इसलिए बेटी की इज्जत की कीमत से अधिक वोटों की कीमत है। 
अगर वोट नहीं मिलते तो इससे सूबे की बेइज्जती होती है, पूरे देश में बदनामी मिलती है लेकिन बेटी की इज्जत चली जाए तो केवल गाँव या समझ में बेइज्जती होती है। 

Tuesday, January 24, 2017

बेउर जेल में छापेमारी, आपत्तिजनक सामान बरामद

बेउर जेल में छापेमारी, आपत्तिजनक सामान बरामद

patna-beur-jail-raid-objectionable-things-recovered

पटना, 24 जनवरी: बिहार की राजधानी पटना के आदर्श बेउर कारा (जेल) में मंगलवार तड़के की गई छापेमारी में विभिन्न कैदी वार्डो से सात मोबाइल फोन, चार्जर और कई आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए हैं। पुलिस के अनुसार, पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिस के अधिकारी और पुलिस जवान बेउर जेल पहुंचे और घंटों तलाशी अभियान चलाया। 

मनु महाराज ने बताया कि इस छापेमरी में सात मोबाइल फोन, चार्जर, नशीले पदार्थ और कई अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि एक नक्सली वॉर्ड से एक नोटबुक भी बरामद की गई है, जिसमें कई लोगों के नाम और पते हैं। 

उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि आखिर यह सारा सामान जेल के अंदर कैसे पहुंचा। 

उल्लेखनीय है कि बेउर जेल में कई खूंखार नक्सली और अपराधी बंद हैं। 

Monday, January 23, 2017

पढ़ें: लालू यादव 1 जनवरी के बाद मोदी को चौराहे पर लटकाने वाले थे, लेकिन क्यों बंद हो गयी बोलती?

पढ़ें: लालू यादव 1 जनवरी के बाद मोदी को चौराहे पर लटकाने वाले थे, लेकिन क्यों बंद हो गयी बोलती?

demonetisation-succeesful-lalu-yadav-not-asking-modi-resignation

New Delhi, 23 January: प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी के लिए 50 दिन का समय माँगा था और कहा था कि अगर 50 दिन तक आपकी समस्याएँ ख़त्म ना हों तो मुझे किसी भी चौराहे पर बुला लेना, मै आ जाऊँगा और आप मुझे लटका देना। प्रधानमंत्री मोदी की बात को लालू यादव ने पकड़ लिया। उन्होंने कहा कि 31 दिसम्बर के बाद मोदी का इस्तीफा मांगकर उन्हें चौराहे पर लटका दूंगा। लालू बहुत खुश थे क्योंकि उन्हें लगता था कि 31 दिसम्बर के बाद भी बैंकों और ATM के बाहर लाइनें लगेंगी, वे भीड़ की फोटो खींचकर मोदी को दिखाएंगे और चौराहे पर लटका देंगे। जब मोदी ही नहीं रहेगा तो सारी झंझट ही समाप्त हो जाएगी। 

लालू यादव का यह सपना पूरा नहीं हुआ क्योंकि 31 दिसम्बर से पहले पहले मोदी सरकार ने 500 रुपये के नोटों को देना शुरू कर दिया और देखते ही देखते बैंकों से भीड़ ख़त्म होने लगी, इसके बाद ATM से रुपये की निकासी की लिमिट बढ़ा दी, इसके बाद और भीड़ ख़त्म हो गयी, अब ATM से निकासी की लिमिट 10 हजार हो गयी है तो भीड़ विल्कुल ख़त्म हो गयी है। गरीबों के बैंक खाते में इतने रुपये ही नहीं होते कि हर रोज 10 हजार रुपये निकालें। 

अब ATM में इतने नोट भरे पड़े हैं कि निकालने वाले ही नहीं मिल रहे हैं, इसके अलावा बैंकों ने भी बिना परेशान किये गरीबों को एक बार में 24 हजार रुपये देना शुरू कर दिया है। कुछ घोटालेबाज और कमिशनखोर बैंकों को छोड़कर किसी भी बैंक में भीड़ नहीं है, यहाँ तक कि किसी भी ATM के बाहर भीड़ नहीं है। स्टेट बैंक के ATM तो रुपये से भरे पड़े हैं। 

इसका नतीजा यह हुआ कि लालू यादव, ममता बनर्जी, केजरीवाल जैसे नोटबंदी विरोधी और कालेधन प्रेमी नेता अब मोदी का ना तो इस्तीफ़ा मांग रहे हैं और ना ही उन्हें चौराहे पर लटकाने की बात कर रहे हैं, उल्टा ये लोग दहशत में जी रहे हैं। अब जनता को धड़ाधड़ कैश मिल रहा है, ATM से रंगीन नोट जब हाथ में आते हैं तो लोगों के चेहरे पर अजीब से ख़ुशी दिखती है, सारा गुस्सा ख़त्म हो जाता है। 

नोटबंदी की सफलता से विरोधियों के हौसले पस्त पड़े हैं, इसका सबसे अधिक असर उत्तर प्रदेश चुनावों में दिख रहा है, समाजवादी और कांग्रेस पार्टी में बीजेपी के खिलाफ अकेले लड़ने की हिम्मत नहीं बची तो गठबंधन करके चुनाव लड़ने का फैसला किया। लालू लगातार यूपी चुनाव पर नजर रखे हुए हैं, रातों की नींद उड़ी हुई है, समधी और उनके बेटे की कुर्सी खतरे में है। 

Sunday, January 22, 2017

पत्नी ने अवैध संबंधों पर डाली नजर तो पति ने घोंप दिया खंजर

पत्नी ने अवैध संबंधों पर डाली नजर तो पति ने घोंप दिया खंजर

bihar-news-hindi-husband-attack-wife-with-knife-avaidh-sambandh

Saharsa, 22 January: बिहार में एक पत्नी को अपने पति के दूसरी महिलाओं के साथ अवैध संबंधों के खिलाफ आवाज उठाना भारी पड़ गया, पति ने अपनी ससुराल में आकर पत्नी के शरीर में खंजर घोंप दिया, यही नहीं उसने अपनी साली पर भी खंजर से कई वार कर दिए। दोनों महिलाएं गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं और पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गयी है। 

यह घटना बिहार के सहरसा की हिया, पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक प्रेम चौधरी के कई महिलाओं के साथ अवैध सम्बन्ध थे इसी को लेकर उसकी पत्नी के साथ उसका विवाद होता रहता था, पूजा अपने पति का लगातार विरोध करती रहती थी लेकिन वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था इससे नाराज होकर वह अपने मायके आ गयी। 

इस बात से तमतमाए प्रेम चौधरी ने शनिवार को अपने ससुराल में आकर पति पूजा पर खंजर से हमला कर दिया, जब उसकी साली बीच बचाव के लिए आगे आयी तो प्रेम चौधरी ने उसपर भी हमला कर दिया, दोनों को गंभीर हालत में छोड़कर प्रेम चौधरी फरार हो गया, दोनों महिलाओं को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, पुलिस ने दोनों के बयान दर्ज कर लिए हैं। 
बिहार में 3 करोड़ लोगों ने शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला बनाकर रचा इतिहास

बिहार में 3 करोड़ लोगों ने शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला बनाकर रचा इतिहास

bihar-news-3-crore-people-make-human-chain-for-sharab-bandi

पटना, 21 जनवरी: शराबबंदी के समर्थन और नशा-मुक्ति के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से 11 हजार किलोमीटर से ज्यादा लंबी मानव श्रृंखला बनाकर बिहार ने शनिवार को एक बार फिर इतिहास रचा और देश व दुनिया को नशा-मुक्ति का संदेश दिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया कि 11 हजार किलोमीटर से भी लंबी बनी इस मानव श्रृंखला में तीन करोड़ से ज्यादा लोग एक-दूसरे का हाथ पकड़कर शामिल हुए। इस मानव श्रृंखला की तस्वीर उपग्रह से ली गई। हालांकि कई स्थानों पर मानव श्रृंखला में शामिल महिलाएं और बच्चे खड़े-खड़े बेहोश भी हो गए। 

मानव श्रृंखला की शुरुआत ऐतिहासिक गांधी मैदान में अपराह्न् 12.15 बजे शुरू हुई, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राजद प्रमुख लालू प्रसाद, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव सहित कई नेता और मंत्री शामिल हुए। 

सीवान में भाजपा के नेता कार्यकारिणी समिति की बैठक को बीच में ही रोककर इस मानव श्रृंखला में शामिल हुए। कई विपक्षी दलों ने हालांकि इसमें आम लोगों की भागीदारी को नगण्य बताया। 

नीतीश कुमार ने मानव श्रृंखला में शामिल होने के बाद पत्रकारों से कहा, "इस मानव श्रृंखला में पहले दो करोड़ लोगों के शामिल होने की उम्मीद की गई थी, लेकिन सभी जिले से मिल रही सूचना के हिसाब से आज (शनिवार) 11,400 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई और इसमें तीन करोड़ लोगों ने हिस्सेदारी की।" उन्होंने कहा कि इस सफल आयोजन के लिए सभी लोग बधाई के पात्र हैं। 

जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष ने कहा कि बहुत जगह एक पंक्ति से ज्यादा लोग इकट्ठे हो गए और लोगों को निर्धारित पंक्ति के आगे-पीछे भी पंक्ति बनानी पड़ी। 

उन्होंने कहा, "मानव श्रृंखला के पहले दिन की सफलता इस बात का परिचायक है कि बिहार के लोग शराबबंदी और नशा-मुक्ति के पक्षधर हैं। मानव श्रृंखला के माध्यम से उसका प्रकटीकरण किया गया है।"

नीतीश ने कहा कि इस अभूतपूर्व और विलक्षण मानव श्रृंखला के प्रति लोगों में काफी उत्साह था। उन्होंने स्वयं गांव-कस्बों में अन्य रूटों पर मानव श्रृंखला बनाई। यह अभियान अभी रुकने वाला नहीं है। यह 22 मार्च तक चलेगा।

राज्य के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि बिहार सरकार ने मानव श्रृंखला को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्डस में दर्ज कराने के लिए प्रस्ताव देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि मद्य निषेध अभियान की सफलता के लिए बनाई गई 11 हजार किलोमीटर लंबी यह मानव श्रृंखला विश्व की सबसे लंबी मानव श्रृंखला है, इसे गिनीज बुक में जरूर दर्ज किया जाएगा।

एक अधिकारी के मुताबिक, नशा-मुक्त बिहार बनाने के उद्देश्य से बनी इस मानव श्रृंखला में 45 मिनट तक लोग एक-दूसरे के हाथ पकड़े शामिल रहे। 

मानव श्रृंखला की तस्वीर लेने के लिए तीन उपग्रहों और 40 ड्रोनों का उपयोग किया गया। तीन उपग्रहों में एक विदेशी व दो भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के तकनीकी विशेषज्ञ थे। इसके अलावा चार हेलीकॉप्टरों और हर जिले में ड्रोन के जरिए मानव श्रृंखला की वीडियोग्राफी भी कराई गई। 

बिहार राज्य जद (यू) के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि इस मानव श्रृंखला द्वारा बिहार पूरे देश ही नहीं, विदेशों में भी नशामुक्ति का संदेश देने में सफल रहा। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक आयोजन में सभी राजनीतिक दलों का साथ मिला है। 

बिहार सरकार ने पांच अप्रैल, 2016 को राज्य में शराब पर पाबंदी लगाई थी। 

इस मानव श्रृंखला को लेकर उत्साह चरम पर था, लेकिन प्रशासन की कोताही के कारण कई स्थानों पर लोगों को मुश्किलों का भी सामना करना पड़ा। मुजफ्फरपुर, सुपौल, नालंदा, बेतिया और रोहतास जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में मानव श्रृंखला के दौरान स्कूली बच्चों और महिलाओं के बेहोश होने की सूचना है। 

मानव श्रृंखला के लेकर सत्ताधारी और कई विपक्षी दल आमने-सामने आ गए। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने मानव श्रृंखला को पूरी तरह सफल बताते हुए कहा कि आज पूरा बिहार नशा-मुक्ति के लिए सड़क पर उतर गया है और नशाबंदी का संकल्प ले रहा है। 

उन्होंने पटना मंे पत्रकारों से कहा, "आप सब भी संकल्प लें और बिहार को नशा मुक्त बनाएं। शराबबंदी से समाज को बड़ी राहत मिलेगी और गरीबों का बड़ा कल्याण होगा, कई सामाजिक बुराइयों से भी लोगों को मुक्ति मिलेगी।"

उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि मानव श्रृंखला यह बता रही है कि जनता का पूरा समर्थन और सहयोग इस नशा-मुक्ति अभियान को प्राप्त है। उन्होंने कहा कि बिहार की यह चाहत है कि पूरा भारत नशा-मुक्त हो। 

उधर, जन अधिकार पार्टी ने मानव श्रृंखला को पूरी तरह असफल बताया। पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक और बाहुबली सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि मानव श्रृंखला को राज्य के आमलोगों का समर्थन नहीं मिला। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मानव श्रृंखला के माध्यम से चेहरा चमकाने की मुहिम फेल हो गई। 

उन्होंने कहा, "केवल सरकारी तंत्र और स्कूली बच्चे ही मानव श्रृंखला में शामिल हुए। शराब तो अब भी मिलती है, वह भी आसानी से। नीतीश कुमार के झूठ के सहारे से बनी 'विकास पुरुष' की इमेज पर आज जनता ने पानी फेर दिया।"

पप्पू यादव ने सवालिया लहजे में कहा, "क्या ये पतंगबाजी के बाद 24 मौत की नाकामियों को छुपाने की कोशिश नहीं है? पूर्ण शराबबंदी कहां है? नीतीश कुमार को बताना चाहिए कि सरकारी कोष का दुरुपयोग कर वह आखिर साबित क्या करना चाहते हैं?"

उनके सुर में सुर मिलाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने आरोप लगाया कि मानव श्रृंखला की सफलता के लिए सरकारी तंत्र का जमकर दुरुपयोग किया गया। 

उन्होंने कहा, "नीतीश कुमार ने गांव-गांव में शराब की दुकान खोलने का जो पाप किया था, उसे धोने की कोशिश है मानव श्रृंखला। रिकॉर्ड बनाकर नीतीश वाहवाही लूटना चाह रहे हैं।"

Friday, January 20, 2017

लालू बोले, मोदीजी तुम्हारे RSS ने आरक्षण पर फिर अंट शंट बका है, UP में भी रगड़ रगड़ कर धोये जाओगे

लालू बोले, मोदीजी तुम्हारे RSS ने आरक्षण पर फिर अंट शंट बका है, UP में भी रगड़ रगड़ कर धोये जाओगे

lalu-yadav-counter-attack-on-rss-leader-manmohan-vaidya-statement

New Delhi, 20 January: लालू यादव ने आरएसएस नेता मनमोहन वैद्य के आरक्षण ख़त्म करने की सिफारिश वाले बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री मोदी से कहा है कि  'मोदी जी आपके RSS प्रवक्ता आरक्षण पर फिर अंट-शंट बके है। बिहार में रगड़-रगड़ के धोया, शायद कुछ धुलाई बाकी रह गई थी जो अब यूपी जमकर करेगा।'

उन्होने दूसरे ट्वीट में कहा 'आरक्षण संविधान प्रदत्त अधिकार है। RSS जैसे जातिवादी संगठन की खैरात नहीं। इसे छीनने की बात करने वालों को औकात में लाना कमेरे वर्गों को आता है।'

उन्होंने तीसरे ट्वीट में कहा 'मोदी जी आपके RSS प्रवक्ता आरक्षण पर फिर अंट-शंट बके है। बिहार में रगड़-रगड़ के धोया, शायद कुछ धुलाई बाकी रह गई थी जो अब यूपी जमकर करेगा।

क्या कहा मनमोहन वैद्य ने

वैसे अगर मनमोहन वैद्य की बात ध्यान से पढ़ें तो उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा है, गलत तो मोहन भागवत ने भी नहीं कहा था लेकिन उनकी बात को उल्टा-पुल्टा करके गरीबों के खिलाफ बना दिया गया। मनमोहन वैद्य ने भी कुछ गलत नहीं कहा, उन्होंने सिर्फ ये कहा कि आरएसएस ख़त्म होना चाहिए क्योंकि इससे लोगों में भेदभाव बढ़ रहा है, आरक्षण की जगह सभी लोगों को पढने और नौकरी के लिए सामान अवसर उपलब्ध कराए जाने चाहिए। गरीबों को आरक्षण के बजाय आर्थिक मदद की जा सकती है।

मनमोहन वैद्य ने भले ही यह बयान समाज के भले के लिए दिया हो, ऊंच नीच की खाई मिटाने के लिए दिया हो, भेदभाव मिटाने के लिए दिया हो लेकिन विरोधी उनके बयान को दलित-विरोधी बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। लालू यादव ने तो तुरंत ही इस पर प्रतिक्रिया दे दी है।

Wednesday, January 18, 2017

जिहादी युवक बोला, सभी हिन्दुओं की गर्दन कटवा देंगे, उसके बाद रोज गाय का मांस खायेंगे: VIDEO

जिहादी युवक बोला, सभी हिन्दुओं की गर्दन कटवा देंगे, उसके बाद रोज गाय का मांस खायेंगे: VIDEO

jihadi-muslim-video-viral-threaten-hindu-to-cut-head-eat-cow-meat

New Delhi, 18 January: सोशल मीडिया पर एक जिहादी युवक ने बहुत ही खतरनाक VIDEO पोस्ट किया है, ट्विटर पर यह VIDEO वायरल हो गया है। जिहादी युवक ने इस VIDEO में कहा है कि उसे गाय का मांस बहुत पसंद है लेकिन हिन्दू लोग उन्हें गाय का मांस खाने नहीं देते।

उसका कहना है कि वे लोग चोरी से गाय का मांस खाते हैं क्योंकि उन्हें गाय का मांस इतना स्वादिष्ट लगता है कि वे गाय का मांस खाए बिना रह ही नहीं सकते।

युवक का कहना है कि अगर उसे मौका मिला तो वह गाय का मांस मुर्गे या बकरे के मांस में मिलकर हिन्दू को खिला देगा ताकि हिन्दू का धर्म भी भ्रष्ट हो जाए।

युवक ने कहा कि हिन्दू उन्हें कितना भी रोक ले, वे गाय का मांस जरूर खायेंगे और ISIS से बोलकर सभी हिन्दुओं की गर्दन कटवा देंगे। उसके बाद वे रोज गाय को काटेंगे और रोज मांस खायेंगे।

यह VIDEO सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, पुलिस को चाहिए कि तुरंत ही इस लड़के को गिरफ्तार करें क्योंकि VIDEO में उसे साफ़ साफ़ पहचाना जा सकता है। 

Sunday, January 15, 2017

पटना नाव हादसे से दहला PM MODI का दिल, रद्द किया कार्यक्रम

पटना नाव हादसे से दहला PM MODI का दिल, रद्द किया कार्यक्रम

patna-naav-hadsa-pm-modi-cancels-inauguration-of-gandhi-setu

पटना, 14 जनवरी: बिहार में दर्दनाक नाव हादसे से प्रधानमंत्री मोदी का भी दिल दहल गया है इसलिए आज उन्होंने पटना में गंगा सेतु पर पूरे हुए मरम्मत कार्य के उद्घाटन का प्रोग्राम रद्द कर दिया है, मोदी दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग से इस कार्य का उद्घाटन करने वाले थे लेकिन भीषण हादसे की वजह से उन्होंने यह कार्क्रम रद्द कर दिया साथ ही घटना में मरने वाले लोगों को श्रद्धांजलि भी दी। 

बिहार की राजधानी पटना में शनिवार की शाम गंगा नदी के एनआईटी घाट के पास एक नाव के पलट जाने जाने से कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई, जबकि 25 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं। ये सभी लोग मकर संक्रांति के मौके पर दियारा क्षेत्र में सरकार द्वारा आयोजित पतंग उत्सव देखकर लौट रहे थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख जताते हुए जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच जनता दल (युनाइटेड) ने मकर संक्रांति पर रविवार को आयोजित दही-चूड़ा भोज को स्थगित कर दिया है। 

पुलिस के अनुसार, मकर संक्रांति के अवसर पर गंगा के सबलपुर दियारा क्षेत्र में पतंग उत्सव का आयोजन किया जाता है। इसका आयोजन पर्यटन विभाग द्वारा प्रत्येक वर्ष की जाती है। इस दौरान दियारा से लोगों को लेकर लौट रही एक नाव गंगा नदी में पलट गई, जिसमें 25 लोगों की मौत हो गई है। 

कहा जा रहा है कि इस नाव पर क्षमता से अधिक लोग सवार हो गए थे। राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को लगाया गया है। 

एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट रविकांत ने बताया, "अब तक 25 शवों को नदी से बाहर निकाल लिया गया है। राहत और बचाव का कार्य अभी भी जारी है। मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है।" 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में अब तक बचाए गए सात लोगों को भर्ती कराया गया है, जिसमें दो बच्चे हैं। इनमें दो की हालत गंभीर बनी हुई है। 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, नाव पर 50 से ज्यादा लोग सवार थे। 25 लोग तैरकर बाहर निकल गए हैं। 

घटना की सूचना पाकर पटना के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। इधर, लोग लापता हुए अपने परिजनों को खोजने के लिए परेशान हैं। 

इस हादसे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दुख जताया है। नीतीश ने ट्वीट कर लिखा, "गंगा दियारा में नाव डूबने की घटना दुखद। विभागों को बचाव और राहत कार्य में तेजी लाने का निर्देश।"

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को सभी मृतकों के आश्रितों को तत्काल आर्थिक मदद मुहैया कराने का आदेश दिया है। उन्होंने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। 

इस बीच राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये बतौर मुआवजा दिया जाएगा। 

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी दुख जताते हुए कहा, "गंगा में नाव डूबने की घटना से दुखी हूं। सरकार की तरफ से संबंधित विभागों को राहत एवं बचाव कार्यो में तेजी लाने का निर्देश दे दिया गया है।"

इधर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ने घटना के बाद तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और पीएमसीएच का दौरा किया। उन्होंने इस हादसे के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, "राज्य सरकार से व्यवस्था में चूक हुई है।"

राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए ट्वीट कर लिखा, "गंगा में नाव डूबने की दुखद घटना से मर्माहत हूं। सरकार ने राहत व बचाव कार्यो में तेजी एवं दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जांच का आदेश दिया है।"

जद (यू) के एक नेता ने बताया कि रविवार को मकर संक्रांति के मौके पर दही-चूड़ा भोज को स्थगित कर दिया है।

Saturday, January 14, 2017

लालू ने नीतीश को खिलाया दही-चूड़ा, दही का तिलक लगाकर बोले, अब गठबंधन में सब ‘शुभ ही शुभ’ होगा

लालू ने नीतीश को खिलाया दही-चूड़ा, दही का तिलक लगाकर बोले, अब गठबंधन में सब ‘शुभ ही शुभ’ होगा

dahi-chuda-bhoj

पटना, 14 जनवरी: मकर संक्रांति के मौके पर शनिवार को बिहार की राजधानी में सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की ओर से 'दही-चूड़ा भोज' का आयोजन किया गया, जिसमें राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गर्मजोशी से मिले। लालू ने नीतीश को दही का तिलक लगाया। इस भोज के बहाने जहां महागठबंधन को मजबूत दिखाने की कोशिश की गई, वहीं यह भी जताने का प्रयास किया गया कि राजद और जद (यू) के नेताओं में कोई मनमुटाव नहीं है। 

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास 10, सर्कुलर रोड पर हर साल की तरह इस बार भी मकर संक्रांति के मौके पर दही-चूड़ा भोज का आयोजन किया गया। भोज में शामिल होने के लिए दोपहर बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी लालू प्रसाद के आवास पहुंचे। 

लालू प्रसाद ने नीतीश को दही का टीका लगाते हुए कहा, "गठबंधन सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है। लोग कहते रहते हैं कि महगठबंधन में कोई मनमुटाव है, और देखिए मैंने नीतीश के माथे पर दही का तिलक लगाया है। दही का तिलक काफी शुभ होता है। दही के तिलक से ही साबित होता है कि कोई मतभेद नहीं है।"

उन्होंने कहा कि अब गठबंधन में सब शुभ ही शुभ होगा। 

इस भोज में राज्य के मंत्री और लालू प्रसाद के पुत्र तेजप्रताप और तेजस्वी प्रसाद यादव सहित कई मंत्री, सांसद और विधायक भी शामिल हुए। लालू और राबड़ी आगंतुकों के लिए मुस्तैद दिखे तथा खुद दही, चूड़ा और तिलकुट परोसा। 

नीतीश कुमार ने भी इस मौके पर प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की शुभकामना दी। लालू द्वारा दही का तिलक लगाए जाने पर उन्होंने कहा, "मुझे इस भोज में भाग लेने का अवसर मिला, जिसे मैं अपना सौभाग्य मानता हूं। लालूजी ने दही का टीका लगाकर मुझे आशीर्वाद दिया, इसके लिए मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं।" 

उन्होंने कहा, "हमलोग मिलकर बिहार को आगे बढ़ाने के लिए प्रयत्नशील हैं। महागठबंधन को जिस प्रकार जनादेश मिला है, उसका हमें एहसास है और हम लोग चुनाव के पूर्व जो वादे किए थे, उसे पूरा करने में लगे हुए हैं।" 

इस भोज में विपक्षी भाजपा के लोगों को भी निमंत्रण दिया गया था, लेकिन वे इस भोज से अलग रहे। 

इस मौके पर कांग्रेस और जद (यू) के लगभग सभी बड़े नेता राबड़ी-लालू के आवास पर पहुंचे और उन्हें मकर संक्रांति की बधाई दी। 

उल्लेखनीय है कि राजद की ओर से दो दिन चूड़ा-दही भोज का आयोजन किया गया है। रविवार को अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए राबड़ी के आवास पर भोज का आयोजन किया गया है। 

15 जनवरी को जद (यू) की ओर से भी चूड़ा-दही भोज का आयोजन किया गया है। इसमें भी भाजपा को निमंत्रण दिया गया है। भाजपा के नेता इस भोज में शामिल हो सकते हैं।
पटना में बड़ा नाव हादसा, लाशों से पट गया घाट: पढ़ें

पटना में बड़ा नाव हादसा, लाशों से पट गया घाट: पढ़ें

patna-breaking-news-boat-drowned-20-dead-25-missing

पटना, 14 जनवरी: बिहार की राजधानी पटना में शनिवार की शाम गंगा नदी के एनआईटी घाट के पास एक नाव के पलट जाने जाने से कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई, जबकि 25 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं। ये सभी लोग मकर संक्रांति के मौके पर दियारा क्षेत्र में सरकार द्वारा आयोजित पतंग उत्सव देखकर लौट रहे थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख जताते हुए जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच जनता दल (युनाइटेड) ने मकर संक्रांति पर रविवार को आयोजित दही-चूड़ा भोज को स्थगित कर दिया है। 

पुलिस के अनुसार, मकर संक्रांति के अवसर पर गंगा के सबलपुर दियारा क्षेत्र में पतंग उत्सव का आयोजन किया जाता है। इसका आयोजन पर्यटन विभाग द्वारा प्रत्येक वर्ष की जाती है। इस दौरान दियारा से लोगों को लेकर लौट रही एक नाव गंगा नदी में पलट गई, जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई है। 

कहा जा रहा है कि इस नाव पर क्षमता से अधिक लोग सवार हो गए थे। राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को लगाया गया है। 

एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट रविकांत ने बताया, "अब तक 20 शवों को नदी से बाहर निकाल लिया गया है। राहत और बचाव का कार्य अभी भी जारी है। मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है।" 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में अब तक बचाए गए सात लोगों को भर्ती कराया गया है, जिसमें दो बच्चे हैं। इनमें दो की हालत गंभीर बनी हुई है। 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, नाव पर 50 से ज्यादा लोग सवार थे। 25 लोग तैरकर बाहर निकल गए हैं। 

घटना की सूचना पाकर पटना के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। इधर, लोग लापता हुए अपने परिजनों को खोजने के लिए परेशान हैं। 

इस हादसे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दुख जताया है। नीतीश ने ट्वीट कर लिखा, "गंगा दियारा में नाव डूबने की घटना दुखद। विभागों को बचाव और राहत कार्य में तेजी लाने का निर्देश।"

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को सभी मृतकों के आश्रितों को तत्काल आर्थिक मदद मुहैया कराने का आदेश दिया है। उन्होंने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। 

इस बीच राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये बतौर मुआवजा दिया जाएगा। 

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी दुख जताते हुए कहा, "गंगा में नाव डूबने की घटना से दुखी हूं। सरकार की तरफ से संबंधित विभागों को राहत एवं बचाव कार्यो में तेजी लाने का निर्देश दे दिया गया है।"

इधर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ने घटना के बाद तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और पीएमसीएच का दौरा किया। उन्होंने इस हादसे के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, "राज्य सरकार से व्यवस्था में चूक हुई है।"

राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए ट्वीट कर लिखा, "गंगा में नाव डूबने की दुखद घटना से मर्माहत हूं। सरकार ने राहत व बचाव कार्यो में तेजी एवं दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जांच का आदेश दिया है।"

जद (यू) के एक नेता ने बताया कि रविवार को मकर संक्रांति के मौके पर दही-चूड़ा भोज को स्थगित कर दिया है।

Friday, January 13, 2017

लालू की चालाकी, कांग्रेस के खिलाफ आन्दोलन किये, उसी की गोद में बैठकर लेंगे 10000 रुपये की पेंशन

लालू की चालाकी, कांग्रेस के खिलाफ आन्दोलन किये, उसी की गोद में बैठकर लेंगे 10000 रुपये की पेंशन

lalu-yadav-rs-10000-pension-accepted-by-bihar-government

पटना, 13 जनवरी: इस दुनिया में लालू यादव से अधिक चालाक आदमी शायद ही कोई होगा, उन्हें जब भी और जहाँ भी लेने का मौका मिलता है वे लेने से नहीं चूकते, उन्हें चारा घोटाले में लेने का मौका मिला तो हजारों करोड़ लूट लिए, देश के रेल मंत्री बनने का मौका मिला तो बन गए, कई वर्षों तक सपत्नी बिहार के मुख्यमंत्री बने रहे और अब जय प्रकाश सेनानी सम्मान योजना के तहत 10 हजार रुपये की पेंशन लेंगे। 

लालू यादव को यह पेंशन क्यों मिलेगी अगर आप इसका कारन जानने तो आपको गुस्सा आएगा, अगर जय प्रकार नारायण भी जिन्दा होते तो वे भी शर्मशार हो जाते। 

आपको बता दें कि वर्ष 1974 में जयप्रकाश नारायण ने 'संपूर्ण क्रांति' का नारा दिया था। उन्होंने इंदिरा गांधी की सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए यह आह्वान किया था। इस आन्दोलन में लाखों लोग शामिल हुए थे, लालू यादव भी कांग्रेस को उखाड़ फेंकने के इस अभियान में शामिल हुए थे और 6 महीने से अधिक समय तक जेल की हवा काटी थी। 

अब आप स्वयं सोचिये, लालू यादव ने कांग्रेस को उखाड़ फेंकने के लिए आन्दोलन किया, 6 महीने जेल गए, उसके बाद कांग्रेस सरकार में रेल मंत्री रहे, आज भी बिहार में वे कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं। एक तरह से वे उसी पार्टी की गोद में बैठे हैं जिसके खिलाफ उन्होंने आन्दोलन किया था, उसके बावजूद भी उन्हें 10 हजार की पेंशन मिलेगी और यह पेंशन बिहार सरकार ने मंजूर भी कर ली है। 

यह योजना वर्ष 2009 में उस समय लागू की गयी थी कि बिहार में बीजेपी और नीतीश की मिली जुली सरकार थी, उस समय नीतीश कुमार NDA का बड़ा चेहरा थे, बीजेपी के साथ उनकी दांत काटी रोटी थी, बीजेपी ने सोचा भी नहीं होगा उनकी योजना का लाभ लालू यादव भी उठा लेंगे। आज लालू यादव भी कांग्रेस के साथ बिहार सरकार में हिस्सेदार हैं इसलिए उनकी मांग को कोई नामंजूर नहीं कर सकता। 

उन्होंने 11 जनवरी को जयप्रकाश (जेपी) सेनानी सम्मान योजना के तहत पेंशन के लिए आवेदन पत्र जमा किया और केवल एक दिन बाद 12 जनवरी को उनकी मांग मंजूर कर ली गयी। 

जेपी सम्मान पेंशन राशि की दो श्रेणियां है। जेपी आंदोलन के दौरान छह माह से कम जेल में रहने वालों को राज्य सरकार पांच हजार रुपये पेंशन के रूप में देती है, जबकि छह माह से ज्यादा जेल में रहने वाले व्यक्तियों के लिए पेंशन की राशि 10 हजार रुपये प्रतिमाह है। बिहार में वर्ष 2009 से लागू इस योजना में वर्तमान समय में 2,500 से ज्यादा व्यक्तियों को लाभ मिल रहा है। 

Thursday, January 12, 2017

बिहार में CISF जवानों नें आपस में ही कर ली मार काट, तीन की जीवन लीला समाप्त

बिहार में CISF जवानों नें आपस में ही कर ली मार काट, तीन की जीवन लीला समाप्त

bihar-aurangabad-cisf-jawan-fight-among-themselves-3-dead

औरंगाबाद, 12 जनवरी: बिहार के औरंगाबाद जिले के नबीनगर पॉवर जेनरेटिंग कंपनी (एनपीजीसी) परियोजना में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ ) के जवानों ने आपस में ही मार काट कर ली जिसकी वजह से तीन की मौत हो गई और एक जवान गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

पुलिस के अनुसार, एनपीजीसी में तैनात सीआईएसएफ के जवानों के दो गुटों के बीच गुरुवार की दोपहर किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इसके बाद एक जवान ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इस घटना में तीन जवानों की मौत हो गई, जबकि एक अन्य जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। इस घटना में आरोपी जवान को अन्य जवानों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी जवान को गिरफ्तार कर लिया गया है। घायल जवान को इलाज के लिए नबीनगर अस्पताल भेजा गया है। घायल जवान की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिले के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। 
नीतीश कुमार को मिला BJP का साथ, दारुबंदी के समर्थन में बिहार में बनेगी सबसे बड़ी मानव श्रंखला

नीतीश कुमार को मिला BJP का साथ, दारुबंदी के समर्थन में बिहार में बनेगी सबसे बड़ी मानव श्रंखला

bihar-biggest-human-chain-in-support-of-sharab-bandi

पटना, 10 जनवरी: बिहार में शराबबंदी को लेकर जागरुकता अभियान के तहत 21 जनवरी को बनने वाली मानव श्रृंखला में करीब दो करोड़ लोगों के शामिल करने की योजना है। पूरे बिहार में 11,292 किलोमीटर की मानव श्रृंखला बनेगी। 

इस मानव श्रृंखला का केंद्र बिदु पटना का ऐतिहासिक गांधी मैदान होगा जहां से यह राज्य की सीमाओं तक अटूट रूप से बढ़ेगी।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस मानव श्रृंखला के विश्व रिकॉर्ड बनाने की उम्मीद है। नीतीश के इस अभियान को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का भी साथ मिला है। मोदी ने प्रकाश पर्व के दिन भाषण देते हुए सभी राजनीतिक दलों से नीतीश कुमार के अभियान को समर्थन देने की अपील की थी, इस वजह से बीजेपी भी इस अभियान का खुलकर समर्थन कर रही है। 

पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि यह मानव श्रृंखला सबसे बड़ी होगी और इसमें करोड़ों लोगों की भागीदारी होगी। जिलाधिकारी ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पुलिस बल की नियुक्ति और 'रूट लाइनिंग' करने का निर्देश दिए गए हैं।

बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि 21 जनवरी को बिहार के लोग 11,292 किलोमीटर की ऐतिहासिक मानव श्रृंखला बनाएंगे। 

उन्होंने स्पष्ट कहा, "यह मानव श्रृंखला किसी दल या राजनीतिक पार्टी की नहीं है। इसमें किसी भी दल के कार्यकर्ता पार्टी का झंडा और बैनर लेकर शामिल नहीं हो सकते। यह मानव श्रृंखला बिहार के लोगों की होगी।" 

मुख्य सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मद्य निषेध संदेश राज्य के हर घर-घर में भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस श्रृंखला की रिकॉर्डिग हर जिले में ड्रोन कैमरों के माध्यम से की जाएगी। इसके अलावा पूरे राज्य के सैटेलाइट तस्वीर के लिए भी इसरो से संपर्क किया गया है।

एक किलोमीटर में लगभग दो हजार व्यक्ति श्रृंखला में शामिल रहेंगे। मानव श्रृंखला में व्यक्ति एक-दूसरे का हाथ पकड़ कर शराबबंदी अभियान का समर्थन करेंगे। 

इस श्रृंखला में कक्षा पांच से कम उम्र के बच्चे शामिल नहीं होंगे। इस मानव श्रृंखला में जिला स्तर के सभी विभागों के सरकारी और संविदाकर्मी हिस्सा लेंगे। 

इस मानव श्रृंखला में सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल जद (यू), कांग्रेस और राजद के अलावा अब भाजपा का भी साथ मिला है। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि भाजपा मानव श्रृंखला में शामिल होगी। उन्होंने कहा, "भाजपा शुरू से ही पूर्ण शराबबंदी के पक्ष में रही है। पार्टी ने सरकार के शराबबंदी के निर्णय का पहले ही समर्थन किया है। यह जागरूकता का कार्यक्रम है। पार्टी के नेता व कार्यकर्ता मानव श्रृंखला में शामिल होंगे।" 

मालूम हो कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नोटबंदी के फैसले का समर्थन कर चुके हैं। वहीं, प्रकाश पर्व पर पटना आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शराबबंदी को लेकर नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा था कि यह सामाजिक सुधार का काम है। नीतीश कुमार ने नशामुक्ति का जो बीड़ा उठाया है, उसका हम अभिनंदन करते हैं।

राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के निर्देश पर पंचायत से प्रखंड और जिला मुख्यालयों पर राजद के कार्यकर्ता इस जनजागरूकता अभियान में शामिल होंगे। 

उल्लेखनीय है कि सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कहा था कि 21 जनवरी को एकजुटता दर्शाने के लिए बिहार के लोग मानव श्रृंखला में शामिल होंगे। 11,000 किलोमीटर से भी ज्यादा लंबी मानव श्रृंखला होगी, जिससे एक विश्व रिकॉर्ड बनेगा।

बिहार में पिछले साल अप्रैल महीने से पूर्ण शराबबंदी लागू है।