Showing posts with label Assam. Show all posts
Showing posts with label Assam. Show all posts

Aug 4, 2017

बीजेपी में नहीं बनी बात तो पार्टी छोड़ते हुए बोले अबू ताहेर 'यह पार्टी मुस्लिमों के लिए नहीं है'

बीजेपी में नहीं बनी बात तो पार्टी छोड़ते हुए बोले अबू ताहेर 'यह पार्टी मुस्लिमों के लिए नहीं है'

abu-taher-bepari-told-bjp-muslim-virodhi-party-resign-assam-news

अबू ताहेर बेपारी असम के पूर्व कांग्रेसी विधायक और संसदीय सचिव हैं हालाँकि उन्होंने पिछले चुनाव में बीजेपी की हवा देखकर पलटी मार ली और बीजेपी में शामिल हो गए, वे 2011 में असम के गोलागंज से कांग्रेस विधायक चुने गए थे लेकिन वर्ष 2015 विधानसभा चुनाव से पहले 9 कांग्रेसी विधायकों के साथ बीजेपी में शामिल हो गए, उन्होंने बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा लेकिन हार गए.

अब खबर आ रही है कि उन्हें भाजपा रास नहीं आ रही थी क्योंकि उन्हें कोई बड़ा पद नहीं दिया गया, उन्होंने बीजेपी से इस्तीफ़ा देने के साथ साथ बीजेपी के बारे में काफी भला बुरा भी कहा है, उन्होंने बीजेपी को मुस्लिम विरोधी पार्टी बताते हुए कहा है कि बीजेपी मुसलामानों के लिए बनी ही नहीं है.

उन्होंने कहा कि मैं अपना वलिदान देकर कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुआ लेकिन मुझे बीजेपी में मेरे वलिदान का मोल नहीं मिला, अब मैं बीजेपी से इस्तीफ़ा दे रहा हूँ क्योंकि ये पार्टी मुस्लिमों के लिए है ही नहीं.

अब शायद अबू ताहेर बेपारी वापस कांग्रेस पार्टी में शामिल हो जाएं, हो सकता है कि कांग्रेस उन्हें पार्टी में शामिल ना करे क्योंकि ताहेर ने कांग्रेस की पीठ में छूरा घूमकर बीजेपी में शामिल हुए थे.

Aug 1, 2017

असम में हो गया बड़ा कांड, बोडोलैंड की मांग करने वाले मुस्लिमों के नेता तफीकुल इस्लाम की हत्या

असम में हो गया बड़ा कांड, बोडोलैंड की मांग करने वाले मुस्लिमों के नेता तफीकुल इस्लाम की हत्या

assam-all-bodoland-minority-student-leader-tafikul-islam-killed

असम में आज एक बड़ा काण्ड हो गया है, आल इंडिया बोडोलैंड माइनॉरिटी स्टूडेंट (ABMSU) के नेता तफीकुल इस्लाम अहमद को अज्ञात हमलावरों ने गलियों से भून दिया, उनकी मौके पर ही मौत हो गयी, यह वारदात असम के कोकराझार में हुई. असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा - मैं तफीकुल इस्लाम की हत्या की कड़ी निंदा करता हूँ, मैंने असम पुलिस के DGP को कोकराझार पहुंचकर जांच के आदेश दिए हैं.


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तफीकुल इस्लाम असाम में अलग बोडोलैंड की मांग करने वाले मुस्लिमों के नेता थे, ये मुस्लिम बंगलादेश से भागकर आये हैं और असम में बस गए हैं, अब ये लोग अपना अलग बोडोलैंड बनाना चाहते हैं, मतलब असम के दो टुकड़े करना चाहते हैं, तफीकुल इस्लाम इनका प्रतिनिधित्व करते थे लेकिन आज उन्हें ख़त्म कर दिया गया.

Jul 31, 2017

असम में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल ने आमिर खान को बोला धन्यवाद

असम में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल ने आमिर खान को बोला धन्यवाद

assam-cm-sarbananda-sonowal-thanks-aamir-khan-for-help-flood

असम में बाढ़ ने हर जगह तबाही मचा दी है, सैकड़ों लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं, हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, करीब 20 लाख लोगों के मकान बह गए हैं, ऐसे में असम को बहुत बड़ी मदद की जरूरत है, हाल ही में फिल्मस्टार आमिर खान ने भी 25 लाख रुपये की मदद की है, आज मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने उन्हें बधाई देते हुए कहा - आमिर खान का मुख्यमंत्री राहत कोष में 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद के लिए धन्यवाद, यह पैसे आमिर खान प्रोडक्शन प्राइवेट लिमिटेड के जरिये दिए गए.


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आमिर खान ने खुद तो बाढ़ पीड़ितों की मदद की ही, ट्विटर पर एक वीडियो के जरिये अन्य लोगों को भी मदद करने की अपील की. उन्होंने असम के अलावा गुजरात की भी मदद करने की अपील की है.

वीडियो में आमिर खान ने कहा - दोस्तों असम और गुजरात के कई इलाके बाढ़ से प्रभावित हैं, वहां पर हमारे भाई और बहन बहुत परेशान हैं, कई जानें चली गयी हैं और बहुत बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ है, हम प्रकृति के सामने असहाय हैं लेकिन अपनी तरफ से कुछ ना कुछ मदद तो कर ही सकते हैं. मैं आप सभी लोगों से अपील करता हूँ कि मुख्यमंत्री राहत कोष में आर्थिक मदद करें ताकि जल्द से जल्द फिर से हालात सामान्य हो सकें. जय हिन्द.

Jul 22, 2017

बीजेपी सांसद राम प्रसाद शर्मा ने कांग्रेसी सांसद गौरव गोगोई को जमकर लगाई फटकार: पढ़ें क्यों

बीजेपी सांसद राम प्रसाद शर्मा ने कांग्रेसी सांसद गौरव गोगोई को जमकर लगाई फटकार: पढ़ें क्यों

bjp-mp-ram-prasad-sarmah-slams-congress-mp-gaurav-gogoi

कल लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी के असम के तेजपुर से सांसद राम प्रसाद सरमाह ने कांग्रेस के सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के बेटे गौरव गोगोई को जमकर फटकार लगा दी. आपको बता दें कि गौरव गोगोई असम के कालियाबोर से सांसद हैं और कांग्रेस की तरफ से हर मुद्दे पर पार्टी का पक्ष रखते हैं.

कल बीजेपी सांसद राम प्रसाद शर्मा असम में आयी बाढ़ का मुद्दा उठा रहे थे, उन्होंने कहा कि असम में बाढ़ से लोग परेशान हैं, 33 जिलों में से 29 जिले बाढ़ की चपेट में हैं, 17 लाख लोगों को अपना घर बार छोड़कर कैम्पों में रहना पड़ रहा है, राज्य का बहुत आर्थिक नुकसान हुआ है, लोगों के घर बह गए हैं, ग्रामीण इकॉनोमी तबाह हो गयी है. लोगों के घर बह गए हैं, उनके पास पहनने के लिए कपडे नहीं हैं, बच्चों के पास पढने के लिए किताबें नहीं हैं, कई स्कूल बह गए हैं और कई स्कूल डूब गए हैं, असम की सभी 20 नदियों में बाढ़ है.

उन्होंने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि नुकसान का जायजा लेने के लिए कैबिनेट मंत्री की अगुवाई में एक हाई लेवल टीम भेजी जाय और तुरंत ही कम से कम 12 हजार करोड़ रुपये की आर्थिक मदद भेजी जाय ताकि सड़कों को रिपेयर किया जा सके, स्कूलों की हालत में सुधार किया सके और लोगों के घर बनाए जा सकें.

राम प्रसाद शर्मा के इतना बोलते ही कांग्रेसी सांसद गौरव गोगोई खड़े होकर चिल्लाने लगे, जिसे देखकर बीजेपी सांसद राम प्रसाद को गुस्सा आ गया और उन्होंने गौरव गोगोई को जमकर फटकार लगा दी. राम प्रसाद ने कहा - मुझे बोलने तो दो, आप क्यों चिल्ला रहे हो, यह आपकी भी समस्या है और मेरी भी समस्या है, यह पूरे असम की समस्या है. आप मुझसे क्यों लड़ रहे हो, आप मेरी मदद कीजिये, असम के लोग परेशान हैं, 17 लाख लोगों के घर बह गए हैं और आप चिल्ला रहे हैं, आप राजनीति मत कीजिये. गौरव गोगोई जी, आप असम के लोगों के साथ मत खेलिए, 70 लोग बाढ़ से मर गए हैं और आप यहाँ चिल्ला रहे हैं, राजनीति खेल रहे हैं, आपको चिल्लाना नहीं चाहिए.

May 26, 2017

MODI बोले, 2004 में अटल जीतते तो 10 साल पहले बन जाता सबसे लम्बा पुल, कांग्रेस ने रोका काम

MODI बोले, 2004 में अटल जीतते तो 10 साल पहले बन जाता सबसे लम्बा पुल, कांग्रेस ने रोका काम

pm-modi-inaugurated-asia-biggest-bhupendra-hajarika-bridge-assam

Assam: मोदी ने आज असम की ब्रह्मपुत्र नदी पर बने भारत और एशिया के सबसे बड़े पुल - 'Dhola-Sadiya Bridge' का उद्घाटन करके इस तोहफे को देश को सौंप दिया. इस मौके पर आयोजित जनसभा को सबोधित करते हुए कहा कि अगर 2004 में अटल जी ही हार ना होती तो यह पुल 10 साल पहले ही देश को मिल गया होता लेकिन कांग्रेस की 10 साल की सरकार ने काम रोक दिया जिसकी वजह से यह पुल देश को 10 साल बाद मिल रहा है.

मोदी ने असम वादियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग पिछले 50 वर्षों से इस पुल का इन्तजार कर रहे हैं, आज आपको यह पुल मिल रहा है. मोदी ने कहा कि 29 मई 2003 को देश में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी, उस समय बीजेपी विधायक जगदीश भुवन ने एक चिट्ठी लिखकर इस ब्रिज के लिए आग्रह किया और अटल जी की सरकार ने इस पुल की फीजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने का आदेश दे दिया, यह काम गंभीरता से मिला गया, अगर उसके तुरंत बाद ये काम चला होता तो आज से 10 साल पहले आपको यह ब्रिज मिल गया होता लेकिन बीच में सरकार बदल गयी तो कम में रुकावट आ गयी जिसकी वजह से आपका सपना भी डगमगाता रहा. लेकिन पिछले तीन साल में हमने अटल बिहारी का सपना पूरा करना का लगातार प्रयास किया और आज जब असम में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का 1 वर्ष पूर्ण हो रहा है, ऐसे अवसर पर आपको ब्रिज सौंप रहा है, यह ना केवल असम के लिए गर्व का विषय है बल्कि हिंदुस्तान के लिए भी गर्व का विषय है क्योंकि यह एशिया का सबसे लम्बा ब्रिज है.

इस पुल की लम्बाई सवा 9 किलोमीटर के करीब है, इस पुल के बनने से असम और अरुणाचल प्रदेश की दूरी करीब 40 किलोमीटर कम हो जाएगी और समय के साथ साथ धन भी बचेगा. मोदी ने ट्वीट करके बताया कि 'Dhola-Sadiya Bridge' भारत का सबसे महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट है.

रिपोर्ट के अनुसार इस पुल का निर्माण वर्ष 2011 मिनिस्ट्री ऑफ़ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे और नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड ने PPP के तहत शुरू किया था, इस पुल का उद्घाटन दिसम्बर 2015 में होना था लेकिन निर्माण में देरी की वजह से इसका काम आज पूरा हुआ है.

इस पुल के निर्माण में 6 वर्ष और 10 अरब रुपये खर्च हुए हैं, नदी पर पुल की लम्बाई सवा नौ किलोमीटर है जो मुंबई के Bandra Worli Sea Link से करीब 3.55 किलोमीटर से अधिक है.


पुल से क्या मिलेंगे लाभ
  • इस पुल की वजह से क्षेत्र में कई डेवलपमेंट परियोजनाएं शुरू होंगी जिसकी वजह से लोगों को रोजगार मिलेगा
  • ट्रांसपोर्ट नेटवर्क का विस्तार होगा
  • सप्लाई चैन मैनेजमेंट में सुधार होगा जिसकी वजह से मंहगाई कम होगी, समय पर ढुलाई होने से जरूरत की चीजें लोगों को आसानी से मिल सकेंगी
  • औद्योगीकरण को बढ़ावा मिलेगा
  • स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में विकास होगा, सुविधाओं में बढ़ोतरी होगी
  • टूरिज्म का विकास होगा
  • अरुणाचल प्रदेश और पडोसी देशों (ASEAN देशों) के बीच सीमा व्यापर बढेगा
  • डिफेंस क्षेत्र में भी काफी फायदा होगा क्योंकि चीन के साथ युद्ध की स्थिति में रक्षा सामान जल्दी पहुंचाए जा सकेंगे
सरकार की तीसरी सालगिरह पर PM MODI ने देश को सौंपा सबसे बड़ा तोहफा, चीन को दी सबसे बड़ी टेंशन

सरकार की तीसरी सालगिरह पर PM MODI ने देश को सौंपा सबसे बड़ा तोहफा, चीन को दी सबसे बड़ी टेंशन

pm-namo-modi-inaugurates-india-biggest-bridge-dhola-sadiya-assam

Dhola-Tinsukia (Assam): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने कार्यकाल की तीसरी सालगिरह पर देश को सबसे बड़ा तोहफा सौंपा है साथ ही दुश्मन देश चीन को सबसे बड़े टेंशन दी है. आज मोदी ने असम के तिनसुकिया जिले में ब्रह्मपुत्र नदी पर बड़े देश के सबसे बड़े पुल 'Dhola-Sadiya Bridge' का उद्घाटन किया है, इस पुल ने असम को अरुणाचल प्रदेश से पूरी तरह से जोड़ दिया है जिसकी वजह से दुश्मन देश चीन की टेंशन बढ़ गयी है क्योंकि चीन काफी समय से अरुणाचल प्रदेश पर कब्जे का सपना देख रहा है, पुल के बनने से नार्थ ईस्ट के राज्य आपस में जुड़ेंगे, विकास होगा चीन का सपना सपना ही रह जाएगा.

इस पुल की लम्बाई सवा 9 किलोमीटर के करीब है, इस पुल के बनने से असम और अरुणाचल प्रदेश की दूरी करीब 40 किलोमीटर कम हो जाएगी और समय के साथ साथ धन भी बचेगा. मोदी ने ट्वीट करके बताया कि 'Dhola-Sadiya Bridge' भारत का सबसे महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट है.

रिपोर्ट के अनुसार इस पुल का निर्माण वर्ष 2011 मिनिस्ट्री ऑफ़ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे और नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड ने PPP के तहत शुरू किया था, इस पुल का उद्घाटन दिसम्बर 2015 में होना था लेकिन निर्माण में देरी की वजह से इसका काम आज पूरा हुआ है.

इस पुल के निर्माण में 6 वर्ष और 10 अरब रुपये खर्च हुए हैं, नदी पर पुल की लम्बाई सवा नौ किलोमीटर है जो मुंबई के Bandra Worli Sea Link से करीब 3.55 किलोमीटर से अधिक है.

पुल से क्या मिलेंगे लाभ
  • इस पुल की वजह से क्षेत्र में कई डेवलपमेंट परियोजनाएं शुरू होंगी जिसकी वजह से लोगों को रोजगार मिलेगा
  • ट्रांसपोर्ट नेटवर्क का विस्तार होगा
  • सप्लाई चैन मैनेजमेंट में सुधार होगा जिसकी वजह से मंहगाई कम होगी, समय पर ढुलाई होने से जरूरत की चीजें लोगों को आसानी से मिल सकेंगी
  • औद्योगीकरण को बढ़ावा मिलेगा
  • स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में विकास होगा, सुविधाओं में बढ़ोतरी होगी
  • टूरिज्म का विकास होगा
  • अरुणाचल प्रदेश और पडोसी देशों (ASEAN देशों) के बीच सीमा व्यापर बढेगा
  • डिफेंस क्षेत्र में भी काफी फायदा होगा क्योंकि चीन के साथ युद्ध की स्थिति में रक्षा सामान जल्दी पहुंचाए जा सकेंगे

Jan 23, 2017

असम में 2 सैनिकों को मारने वाले दो आतंकियों का खात्मा

असम में 2 सैनिकों को मारने वाले दो आतंकियों का खात्मा

assam-rifles-attack-2-terrorists-killed-in-hindi

तिनसुकिया(असम), 22 जनवरी: असम-अरुणाचल सीमा पर जयरामपुर के निकट रविवार को सुरक्षाकर्मियों के एक काफिले पर आतंकवादियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में असम राइफल्स के दो जवान शहीद हो गए और दो अन्य घायल हो गए। हालांकि, सुरक्षा बलों ने तत्काल इलाके में जवाबी कार्रवाई अभियान की शुरुआत कर घात में शामिल दो आतंकवादियों को मार डाला।

पुलिस के अनुसार, हमलावर पूर्वोत्तर के अधिकांश आतंकी संगठनों के संयुक्त मंच युनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ वेस्ट ईस्टर्न साउथ ईस्ट एशिया (यूएनएलएफडब्ल्यू),युनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) के वार्ता विरोधी गुट और खापलांग के नेतृत्व वाले नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन-के) और कोआर्डिनेशन कमेटी (कोरकोम) ऑफ मणिपुर से संबद्ध थे।

असम के पुलिस महानिदेशक मुकेश सहाय ने कहा कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के खिलाफ अभियान शुरू किया है।

डीजीपी ने कहा, "हमले में शामिल दो आतंकवादियों को बाद में मार दिया गया। बलों ने उनके पास से दो हथियार बरामद किए हैं।"

तिनसुकिया पुलिस अधीक्षक मुग्धाज्योति महंत ने कहा कि 15-20 आतंकवादियों ने घात लगाकर हमला किया। 

गैर सरकारी सूत्रों ने कहा कि हमले के बाद आतंकवादी असम राइफल्स के कुछ हथियार और गोला बारूद लेकर भाग गए।

उल्फा और एनएससीएन-के ने गत साल नवम्बर में तिनसुकिया जिले में सेना के एक काफिले पर घात लगा कर हमला किया था, जिसमें तीन जवान शहीद हो गए थे।

घटना के बाद सुरक्षा बलों ने जगुन-जयरामपुर मार्ग पर वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित कर दिया और चौकसी बढ़ा दी। असम-अरुणाचल प्रदेश सीमा और असम-नागालैंड सीमा के बीच अंतर-राज्य सीमा पर निगरानी कड़ी कर दी गई है।

इस बीच, कोरकोम और उल्फा ने एक संयुक्त बयान में हमले की जिम्मेदारी ली है। इसमें कहा गया है कि उन्होंने 'ऑपरेशन बराक' नाम से सुरक्षा बलों पर संयुक्त हमला किया।

Jan 22, 2017

उग्रवादियों ने घात लगाकर किया हमला, दो सुरक्षाकर्मी शहीद

उग्रवादियों ने घात लगाकर किया हमला, दो सुरक्षाकर्मी शहीद

assam-terrorist-attack-2-jawan-martyr-2-injured-in-hindi

तिनसुकिया (असम), 22 जनवरी: असम-अरुणाचल सीमा पर जयरामपुर के निकट रविवार को सुरक्षाकर्मियों के एक काफिले पर उग्रवादियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में असम राइफल्स के दो जवान शहीद हो गए और दो अन्य घायल हो गए। पुलिस के अनुसार, हमलावर युनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) के वार्ता विरोधी गुट और खापलांग के नेतृत्व वाले नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन-के) से संबद्ध थे।

असम के पुलिस महानिदेशक मुकेश सहाय ने कहा कि सुरक्षा बलों ने उग्रवादियों के खिलाफ अभियान शुरू किया है।

तिनसुकिया के पुलिस अधीक्षक मुग्धाज्योति महंता ने कहा कि 15-20 उग्रवादियों ने घात लगाकर हमला किया। 
गैर सरकारी सूत्रों ने कहा कि हमले के बाद उग्रवादी असम राइफल्स के कुछ हथियार और गोला बारूद लेकर भाग गए।

उल्फा और एनएससीएन-के ने गत साल नवम्बर में तिनसुकिया जिले में सेना के एक काफिले पर घात लगा कर हमला किया था, जिसमें तीन जवान शहीद हो गए थे।

Dec 22, 2016

पुलिस और इनकम टैक्स ने एक साथ मारी रेड, व्यापारी ‘अमूल्य दास’ के यहाँ पकड़ लिए 2.2 करोड़ रुपये

पुलिस और इनकम टैक्स ने एक साथ मारी रेड, व्यापारी ‘अमूल्य दास’ के यहाँ पकड़ लिए 2.2 करोड़ रुपये

police-income-tax-raid-on-merchant-amulya-das-rs-2-2-crore-ceazed

गुवाहाटी, 22 दिसम्बर: असम के नगांव जिले में गुरुवार को एक व्यापारी से पुलिस ने दो करोड़ रुपये से अधिक के नोट जब्त किए। पुलिस ने बताया कि अधिकांश 2000 और 500 रुपये के नए नोट हैं। पुलिस ने बताया कि पुलिस और आयकर विभाग के एक संयुक्त दल ने एक गुप्त सूचना के आधार पर नगांव स्थित व्यापारी अमूल्य दास के घर पर छापेमारी की। 

पुलिस ने कहा, "छापेमारी के दौरान हम लोगों ने 2000 और 500 रुपये के नए नोट बरामद किए जो कुल 2.2 करोड़ रुपये के हैं। कुछ 100 रुपये के नोट भी हैं।"

अमूल्य दास और उसके बेटे तपन दास का सिगरेट, पान मसाला, गुटखा, बीडी आदि का खुदरा व्यापार है। हाल ही में शहर में उसने एक होटल भी खरीदा है। यह भी बताया जाता है कि इस परिवार का असम की बराक घाटी में भी कुछ व्यवसाय है।

आयकर विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमारे अधिकारी पिता-पुत्र से पूछताछ कर रहे हैं कि उन्होंने इतनी रकम कहां से पाई। हम लोग इसकी भी जांच करने जा रहे हैं कि बरामद रकम उनकी वैध आय के अनुपात में है या नहीं। उसने यह भी बताया कि ये रुपये दास के घर और गोदाम के अंदर बने गुप्त संदूकों और बोरों में छुपाकर रखे गए थे। 

इससे पहले इसी माह असम पुलिस की सीआईडी ने गुवाहाटी में एक व्यवसायी के घर से 1.5 करोड़ रुपये बरामद किए थे। 

Dec 16, 2016

अमित शाह ने रंजीत दास को असम भाजपा प्रमुख बनाया

अमित शाह ने रंजीत दास को असम भाजपा प्रमुख बनाया

online-hindi-news-ranjit-kumar-das

नई दिल्ली, 16 दिसम्बर: असम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक रंजीत दास को शुक्रवार को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया। 

भाजपा ने एक बयान में कहा, "पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने असम के भाजपा विधायक दास को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है।"

दास सोरभोग विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

Dec 12, 2016

गुवाहाटी में CID वालों ने पकड़ लिए डेढ़ करोड़ के 2000 के नोट

गुवाहाटी में CID वालों ने पकड़ लिए डेढ़ करोड़ के 2000 के नोट

guwahati-news-cid-found-1-and-half-crore-rs-of-2000-500-notes

Guwahati, 12 December: असम पुलिस के आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) ने गुवाहाटी में एक व्यवसायी के घर से 1.5 करोड़ रुपये मूल्य के 2,000 और 500 रुपये के नए नोट बरामद किए हैं। 

सीआईडी अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि देर सोमवार हरजीत सिंह बेदी के घर में छापेमारी कर यह रकम बरामद की गई।

अधिकारी ने कहा, "हमें बेदी के घर में बड़ी मात्रा में काला धन छिपाए जाने की सूचना मिली थी, जिसके बाद हमने बेलतोला इलाके में स्थित उनके घर में छापा मारा।"

अधिकारी ने कहा, "रकम बेदी के घर के बाथरूम में बने एक गुप्त लॉकर में छिपाई गई थी।"

उन्होंने कहा, "हमने आयकर विभाग को इसकी सूचना दे दी है और वे उनसे पूछताछ कर रहे हैं कि पूरा देश जब नए नोटों को लेकर संघर्ष कर रहा है तो उन्हें इतनी बड़ी रकम कैसे मिली।"

उन्होंने कहा कि जांच जारी है और अगर आयकर की पूछताछ में पाया गया कि यह रकम उनकी आय से अधिक है, तो सीआईडी भी उनके खिलाफ मामला दर्ज करेगी।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सीआईडी ने काले धन और उससे जुड़े अपराधों के खिलाफ अभियानों के लिए 18 अधिकारियों वाला एक त्वरित प्रतिक्रिया बल (क्यूआरसी) भी गठित किया है।

इन 18 अधिकारियों को तीन भागों में बांटा गया है। वे जरूरत पड़ने पर स्थानीय पुलिस के सहयोग से राज्य के विभिन्न भागों में अभियानों का संचालन करेंगे।

नोटबंदी के बाद बड़ी मात्रा में कालेधन चोरों की धरपकड हो रही है, अब तक 20-30 कालेधन के चोर पकडे गए हैं और कुल मिलकर 250 करोड़ रुपये के नए और 2000 हजार करोड़ रुपये के पुराने नोट जब्त हुए हैं। 

Nov 22, 2016

नोटबंदी के बाद भी जनता ने नहीं छोड़ा MODI का साथ, उपचुनावों में MP और असम की चारों सीटों पर बढ़त

नोटबंदी के बाद भी जनता ने नहीं छोड़ा MODI का साथ, उपचुनावों में MP और असम की चारों सीटों पर बढ़त

assam-and-mp-bipoll-result-2016-bjp-leading-on-all-4-seat-modi-win

भोपाल, 22 नवंबर: लोगों को आशंका थी कि नोटबंदी की वजह से उपचुनावों में मोदी और बीजेपी को नुकसान होगा लेकिन जिस प्रकार के रिजल्ट आ रहे हैं उसके बाद ऐसा लग रहा है कि नोटबंदी से परेशानी उठाने के बाद भी जनता मोदी के साथ है और नोटबंदी का समर्थन भी कर रही है, आज उपचुनावों की मतगणना हो रही है जिसमें मध्य प्रदेश की 2 और असम की 2 सीटों पर बीजेपी कांग्रेस से आगे है और जीत की तरफ है। त्रिपुरा में जरूर CPIM की जीत हुई है लेकिन वहां पर बीजेपी का कोई अस्तित्व नहीं है। इसके अलावा तमिल नाडू की 3 सीटों पर AIDIMK आगे है और वहां भी बीजेपी के वोटर नहीं हैं। 

असम की लखीमपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी 30 हजार वोटों से आगे चल रही है जबकि बैठालंग्शु विधानसभा सीट से भी बीजेपी प्रत्याशी आगे हैं और दोनों स्थानों पर बीजेपी की जीत तय मानी जा रही है। लखीमपुर लोकसभा सीट मुख्यमंत्री सोनोवाल से छोड़ी थी।

महाराष्ट्र विधान परिषद् में कांग्रेस को जरूर सफलता मिली है लेकिन यहाँ भी बीजेपी ने उसकी बराबरी की है, 6 सीटों में 2-2 बीजेपी और कांग्रेस ने जबकि 1-1 शिवसेना और NCP ने जीती हैं। 

मध्य प्रदेश के शहडोल संसदीय क्षेत्र और नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में मतगणना का दौर जारी है। दोनों ही स्थानों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार कांग्रेस उम्मीदवारों के मुकाबले बढ़त बनाए हुए हैं। इन सीटों पर उपचुनाव के तहत 19 नवंबर को मतदान हुए थे।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, शहडोल संसदीय क्षेत्र में भाजपा के उम्मीदवार ज्ञान सिंह ने कांग्रेस उम्मीदवार हिमांद्री सिंह से 12,800 से ज्यादा मतों के अंतर से बढ़त बना ली है।

वहीं, बुरहानपुर जिलाधिकारी दीपक सिंह के मुताबिक, नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार मंजू दादू ने कांग्रेस उम्मीदवार अंतर सिंह पर 9,000 से अधिक मतों से बढ़त बना ली है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के मुताबिक, शहडोल संसदीय क्षेत्र की मतगणना चार जिला मुख्यालयों और नेपानगर की मतगणना बुरहानपुर जिला मुख्यालय पर हो रही है। शहडोल लोकसभा क्षेत्र में मुख्य मुकाबला कांग्रेस की हिमाद्री सिंह व भाजपा के ज्ञान सिंह के बीच है, यहां कुल 17 उम्मीदवार हैं। वहीं, नेपानगर विधानसभा में मुख्य मुकाबला भाजपा की मंजू दादू व कांग्रेस के अंतर सिंह के बीच है, यहां कुल चार उम्मीदवार मैदान में हैं।

मतगणना के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मंगलवार सुबह आठ बजने के साथ डाक मतपत्रों की गणना शुरू हुई।

गौरतलब है कि 19 नवंबर को हुए उपचुनाव में शहडोल संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में 66 प्रतिशत और नेपानगर विधानसभा में लगभग 73 प्रतिशत मत पड़े थे। 

Nov 19, 2016

असम में उपचुनाव के लिए मतदान जारी, मुख्यमंत्री सोनोवाल की रिक्त हुई सीट पर भी मतदान

असम में उपचुनाव के लिए मतदान जारी, मुख्यमंत्री सोनोवाल की रिक्त हुई सीट पर भी मतदान

assam-bi-polling-started-including-lakhimpur-and-baithalangso-seats

गुवाहाटी, 19 नवंबर: असम की लखीमपुर लोकसभा सीट और बैठालांगसो विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव के मद्देनजर शनिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू हो गया, जो शांतिपूर्ण तरीके से जारी है। एक वरिष्ठ चुनाव अधिकारी ने कहा, "मतदान शांतिपूर्ण ढंग से शुरू हुआ और अब तक लगभग सभी मतदान केंद्रों पर पहुंचने वाले मतदाताओं की संख्या औसत रही है।"

अधिकारी ने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

दोनों निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 2,200 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें लखीमपुर संसदीय क्षेत्र में 1,954 और बैठालांगसो विधानसभा क्षेत्र में 246 मतदान केंद्रों पर मतदान हो रहे हैं।

लखीमपुर में 15,11,110 मतदाताओं के मतदान करने की उम्मीद है, जबकि बैठालांगसो में 1,80,203 मतदाताओं के मतदान की उम्मीद है।

लखीमपुर लोकसभा सीट के लिए पांच उम्मीदवार मैदान में हैं। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विधायक प्रधान बरुआ को मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता हेमा हरि पेगु को मुकाबले के लिए खड़ा किया है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने अमिया कुमार हांडिक और सोशलिस्ट युनाइटेड सेंटर ऑफ इंडिया ने हेम कांता मिरी को मुकाबले में उतारा है।

भाजपा के असंतुष्ट नेता और दूमदूमा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे दिलीप मोरन ने लखीमपुर लोकसभा सीट के लिए निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है।

मोरन अप्रैल में पिछला विधानसभा चुनाव में हार गए थे।

वहीं, बैठालांगसो उपचुनाव के लिए तीन उम्मीदवार मैदान में हैं। भाजपा ने मानसिंह रोंगपी को मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने रूपन सिंह रोनघांग पर दांव लगाया है। राजन तिमुंग ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है।

लखीमपुर लोकसभा सीट सांसद सर्बानंद सोनोवाल के इस्तीफे के कारण रिक्त हुई, जिन्होंने राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद संसदीय सीट छोड़ दी थी।

वहीं, बैठालांगसो सीट विधायक मानसिंह रोंगपी के कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के बाद खाली हो गई थी।
असम में उग्रवादी हमला, 3 जवान शहीद, मुठभेड़ जारी

असम में उग्रवादी हमला, 3 जवान शहीद, मुठभेड़ जारी

terrorist-attack-in-assam-tinsukhiya-three-soldiers-martyr

गुवाहाटी, 19 नवंबर: असम के तिनसुकिया जिले में शनिवार को संदिग्ध उग्रवादियों ने सेना के काफिले पर हमला किया, जिसमें 3 जवान शहीद हो गए और 4 अन्य घायल हो गए। रक्षा विभाग के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल सुनीत न्यूटन ने कहा कि घटना सुबह करीब 5.30 बजे पेनगेरी इलाके की है।

न्यूटन ने कहा, "उग्रवादियों ने सड़क पर एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) रखा था। आईईडी विस्फोट के बाद काफिला रुक गया। उसके बाद आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी।"

अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने हालांकि जवाबी कार्रवाई की, लेकिन हमले में 7 जवान घायल हो गए, जिनमें से 3 ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

स्थानीय लोगों ने बताया कि आतंकवादियों ने सड़क के दोनों ओर से सैन्य वाहन पर गोलीबारी की। सड़क के दोनों और वन क्षेत्र है।