Showing posts with label Arunachal Pradesh. Show all posts
Showing posts with label Arunachal Pradesh. Show all posts

31 December, 2016

अरुणाचल प्रदेश से ख़त्म हुई कांग्रेस, 1 को छोड़कर सबने ज्वाइन कर ली BJP और बन गयी बीजेपी सरकार

अरुणाचल प्रदेश से ख़त्म हुई कांग्रेस, 1 को छोड़कर सबने ज्वाइन कर ली BJP और बन गयी बीजेपी सरकार

bjp-sarkar-in-arunachal-pradesh-with-45-seats-pema-khandu-cm

Arunachal Pradesh, 31 December: अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से मिट गयी है, 2014 में जब विधानसभा चुनाव हुए थे तो कांग्रेस पार्टी ने 42 सीटें जीतकर बहुमत के साथ सरकार बनायी थी लेकिन वह अपने विधायकों को साथ नहीं रख सकी और आज एक को छोड़कर सभी ने बीजेपी ज्वाइन कर लिया, बीजेपी के पहले केवल 11 विधायक थे लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री पेमा खंडू सहित कांग्रेस के 32 विधायकों ने बीजेपी ज्वाइन करके बीजेपी की सीटों की संख्या को 45 बना दिया है। 

अब अरुणाचल प्रदेश में बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बन गयी है। अरुणाचल प्रदेश में कुल 60 विधानसभा सीटें हैं, बहुमत के लिए 31 सीटें होनी चाहियें लेकिन बीजेपी के पास इस वक्त 45 सीटें हो गयी हैं, कांग्रेस के पास अब केवल पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी ही एकमात्र विधायक हैं।

जानकारी के लिए बता दें इससे पहले कांग्रेस के 41 विधायकों ने बगावत करके पीपल पार्टी ऑफ़ कांग्रेस नाम से अलग पार्टी बनायी, बीजेपी ने उन्हें बाहर से समर्थन दिया और उनकी सरकार बनायी, आज PPA के 34 विधायकों सहित मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने BJP ज्वाइन कर लिया, बीजेपी के पास पहले से ही 11 सीटें थीं, अब उनके पास 45 सीटें हो गयी हैं, कल नए साल पर अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी की सरकार बन जाएगी।

बीजेपी ज्वाइन करने के बाद मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि हम लोगों ने बीजेपी ज्वाइन कर लिया है इसलिए अब अरुणाचल प्रदेश एक बहुमत की बीजेपी सरकार है और मेरा इस्तीफ़ा देने का सवाल ही नहीं उठता क्योंकि हम लोगों ने अपने विधायकों के साथ मार्च किया है, स्पीकर के माध्यम से विधानसभा में सभी दस्तावेज जमा कर दिए गए हैं। 

13 December, 2016

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा 'मोदीजी को अपने मंत्री किरण रिजिजू तुरंत बर्खास्त करना चाहिए'

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा 'मोदीजी को अपने मंत्री किरण रिजिजू तुरंत बर्खास्त करना चाहिए'

congress-demand-kiren-rijiju-resignation-in-arunachal-hydro-project

नई दिल्ली, 13 दिसम्बर: कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश में एक पनबिजली परियोजना घोटाले में केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू की कथित संलिप्तता को लेकर केंद्रीय मंत्रीमंडल से उनके इस्तीफे की मांग की है। कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को कहा, "मंत्री को अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जो पारदर्शिता और ईमानदारी की बात करते हैं, उन्हें इस मामले की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी से करानी चाहिए।"

कांग्रेस नेता ने कहा, "तब तक प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह मंत्री को या तो बर्खास्त कर दें या पद से इस्तीफा देने के लिए कहें।"

सुरजेवाला ने परियोजना से जुड़े सभी वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ जांच की भी मांग की।

रिजिजू की इस परियोजना में संलिप्तता से संबंधित रिपोर्ट एक दैनिक में प्रकाशित हुई। रिजिजू ने इसे एक 'सुनियोजित' खबर करार देते हुए मंगलवार को कहा कि यदि वे (दैनिक के कर्मचारी) अरुणाचल प्रदेश जाएंगे तो उनकी 'जूतों से पिटाई होगी।'

अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि रिजिजू ने अरुणाचल प्रदेश में 600 मेगावाट की कामेंग पनबिजली के लिए दो बांधों के निर्माण हेतु ठेकेदार को भुगतान करने के लिए पत्र लिखा।

28 October, 2016

चीन की आपत्ति को दरनिकार करते हुए भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने की दी इजाजत

चीन की आपत्ति को दरनिकार करते हुए भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने की दी इजाजत

dalai-lama-news

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर: भारत ने चीन की आपत्ति को दरनिकार करते हुए तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने की इजाजत दे दी है, दलाई लामा के अरुणाचल प्रदेश के प्रस्तावित दौरे पर चीन की आपत्ति की आशंका के बीच भारत ने गुरुवार को कहा कि तिब्बत के आध्यात्मिक नेता भारत के सम्मानित अतिथि हैं और वह देश के किसी भी हिस्से की यात्रा करने के लिए स्वतंत्र हैं। 

संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि दलाई लामा पहले भी सीमाई राज्य का दौरा कर चुके हैं और राज्य का दौरा फिर करते हैं तो इसमें कुछ भी असामान्य नहीं है। 

स्वरूप ने कहा कि दलाई लामा परम पूजनीय आध्यात्मिक नेता और भारत के एक सम्मानित अतिथि हैं। वह देश के किसी भी हिस्से की यात्रा के लिए पूरी तरह स्वतंत्र हैं। यह एक सच्चाई है कि अरुणाचल प्रदेश के बौद्धों के बीच उनके अनुयायियों की बड़ी संख्या है जो उनका आशीर्वाद लेना पसंद करते हैं। वह राज्य का पहले भी दौरा कर चुके हैं और यदि वह फिर वहां जाते हैं तो हमलोग उसमें कुछ भी असामान्य नहीं देख रहे हैं। 

दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने अगले वर्ष के शुरू में आने के लिए आमंत्रित किया है। उस दौरान उम्मीद है कि वह तवांग, ईटानगर और राज्य के कुछ अन्य हिस्सों का दौरा करेंगे। 

भारत इससे पहले अरुणाचल प्रदेश में होने वाले वार्षिक तवांग महोत्सव में अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा के दौरे को लेकर चीन के विरोध को इसी हफ्ते खारिज कर चुका है। 

चीन ने कहा कि वर्मा की तरह के दौरों से भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को और जटिल बनाएगा और इस क्षेत्र में शांति को नुकसान पहुंचाएगा। 

स्वरूप ने कहा कि वर्मा के दौरे में कुछ भी असामान्य नहीं था। उन्होंने एक ऐसे राज्य का दौरा किया है जो उस देश का अभिन्न हिस्सा है।

16 September, 2016

अरुचाचल प्रदेश में कांग्रेस का परमानेंटली उखड गया खूंटा, बौखला कर बोला MODI-BJP पर हमला

अरुचाचल प्रदेश में कांग्रेस का परमानेंटली उखड गया खूंटा, बौखला कर बोला MODI-BJP पर हमला

Randeep-Singh-Surjewala-attack-modi-bjp-arunachal-Pradesh-issue

नई दिल्ली, 16 सितंब: इस बार कांग्रेस का अरुणाचल प्रदेश में परमानेंटली खूंटा उखड गया है, खूंटा तो पिछली बार भी उखड गया था लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस के पक्ष में निर्णय सुनाकर उखड़े हुए खूंटे को फिर से गाड़ दिया था, आज मुख्यमंत्री पेंमा खांडू सहित कांग्रेस के सभी 42 विधायक अरुणाचल प्रदेश की नयी पार्टी 'पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए)' में शामिल हो गए जिसे बीजेपी की सहयोगी पार्टी बताया जा रहा है।

अरुणाचल प्रदेश के खूंटा उखड़ने से कांग्रेस पार्टी बौखला गयी है, आज कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी और बीजेपी पर जमकर हमला बोला, उन्होंने तो 'पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए)' को बीजेपी की नाजायज संतान बताते हुए कहा कि यह मोदी की कपटपूर्ण चाल है।

कांग्रेस ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर कपटपूर्ण 'चाल चलने' और 'लोकतंत्र के साथ धोखा' करने का आरोप लगाया और कहा कि 'पीपीए' लोकतंत्र को नेस्तनाबूद करने के लिए भाजपा की शैतानी चाल की 'नाजायज संतान' है। पार्टी ने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेम खांडू के 42 कांग्रेस विधायकों सहित कांग्रेस छोड़कर राज्य में भाजपा की एक सहयोगी पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) में शामिल हो जाने के बाद यह बयान दिया।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, "मोदी और भाजपा की साजिश और लोकतंत्र के साथ धोखाधड़ी का आज अरुणाचल प्रदेश में चक्र पूरा हो गया है।"

उन्होंने कहा, "पीपीए लोकतंत्र को नेस्तनाबूद करने के लिए भाजपा की शैतानी चाल की नाजायज संतान है।"

सुरजेवाला ने कहा, "सीमावर्ती राज्य अरुणाचल प्रदेश के लोगों का जनादेश दिन की रोशनी में लूट लिया गया है।"

सुरजेवाला ने कहा, "धन-बल के सकल और बड़े पैमाने पर दुरुपयोग ने आखिरकार अवसरवादियों और दल बदलुओं की एक अनैतिक सरकार को जन्म दिया है।"

उन्होंने कहा, "दुख की बात है कि शमन के वास्तुकार और लोकतंत्र और संविधानवाद की भावना की हत्या करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह हैं, जो सहकारी संघवाद के वादे पर सत्ता में पहुंचे थे।"

उन्होंने कहा, "भाजपा सरकार ने संवैधानिक सर्वोच्चता की आत्मा का नाश कर दिया है।"

सुरजेवाला ने साथ ही कहा कि दल बदल कर 'कांग्रेस के अपव्ययी बेटों ने बेहद बड़ी वैचारिक और राजनीतिक भूल और समझौता' किया है। 

कांग्रेस नेता ने कहा, "उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के लोगों का विश्वास भी खत्म कर दिया है, जिन्होंने उन्हें बतौर कांग्रेस उम्मीदवार वोट दिया था। हम अरुणाचल प्रदेश में जैसी राजनीति देख रहे हैं, वह न ही तर्कसंगत है और न ही विश्वसनीय।"

कांग्रेस के पूर्वोत्तर भारत प्रभारी सी.पी. जोशी ने संवाददाताओं से कहा, "पूवरेत्तर भारत में भाजपा की विचारधारा के लिए कोई जगह नहीं है।"

उन्होंने साथ ही कहा कि अपनी विचारधारा थोपने के प्रयास के 'घातक परिणाम' होंगे।

जोशी ने कहा, "हमने देखा है कि जम्मू एवं कश्मीर में क्या हो रहा है। और हमें चिंता है कि कहीं पूर्वोत्तर भारत में भी ऐसी ही स्थिति उत्पन्न न हो जाए।"

कांग्रेस नेता ने साथ ही कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बावजूद 'आज (शुक्रवार) जो धोखाधड़ी हुई है, वह भारत के लोकतंत्र के लिए बेहद अशुभ है।'
अरुणाचल प्रदेश में फिर फूटा कांग्रेस का गुब्बारा, मुख्यमंत्री सहित 42 विधायक PPA में शामिल

अरुणाचल प्रदेश में फिर फूटा कांग्रेस का गुब्बारा, मुख्यमंत्री सहित 42 विधायक PPA में शामिल

Congress-cm-pema-khandu-join-ppa-along-with-42-mlas-in-ap

Itanagar, Sep 16: अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस का गुब्बारा एक बाद फिर से फूट गया है, आज अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पेमा खांडू समेत 42 विधायक 'पीपल पार्टी ऑफ़ अरुणाचल प्रदेश (PPA)' में शामिल हो गए ओर इस तरह से कांग्रेस सरकार एक बार फिर से गिरने की कगार पर है, यह भी कह सकते हैं कांग्रेस सरकार एक बार फिर से गिर चुकी है क्योंकि जब मुख्यमंत्री और 42 विधायक ही दूसरी पार्टी में चले गए तो सरकार किस बात की।

कहा जा रहा है कि PPA बीजेपी की सहयोगी पार्टी है और कांग्रेस विधायकों का PPA में जाना मतलब BJP में जाना है, 42 कांग्रेस विधायकों के साथ साथ 2 निर्दलीय विधायक जिन्होंने कांग्रेस पार्टी को समर्थन दिया था, वे भी PPA में शामिल हो गए हैं, दोनों विधायकों ने हाल ही में एक अलग पार्टी 'NEDA' बनायी थी।

मुख्यमंत्री खांडू ने PPA ज्वाइन करने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने इस बात की खबर सभापति वांगकी लोवंग को दे दी है हालाँकि उन्होंने कहा है कि हम कांग्रेस का विलय PPA में कर रहे हैं, यह निर्णय आज विधायकों की मीटिंग के बाद लिया गया था, एक तरह से यह भी कह सकते हैं कि उन्होंने कांग्रेस विधायकों को PPA में शामिल करके अरुणाचल प्रदेश को कांग्रेस मुक्त कर दिया है, अब अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस का एक भी विधायक नही बचा है।