Feb 10, 2018

फिल्म Khilji Ek Curel में उपदेश राणा दिखाएंगे खिलजी की बेटी फिरोजा और वीरमदेव की प्रेम कथा


updesh-rana-will-show-khilji-daughter-firoja-and-viramdev-love-story

नई दिल्ली: राष्ट्रवादी नेता उपदेश राणा खिलजी का असली रूप दिखाने के लिए Khilji Ek Cruel फिल्म बना रहे हैं जिसमें खिलजी की असली दरिंदगी और अन्य चीजों को दिखाया जाएगा. उपदेश राणा के अनुसार इस फिल्म में खिलजी की बेटी फिरोजा और राजा वीरमदेव की प्रेम कहानी और उसके आत्मदाह की भी कहानी दिखाएंगे.


आपको बता दें  मुस्लिम शासक अलाउद्दीन खिलजी की बेटी फिरोजा और राजा वीरमदेव की प्रेम कहानी पर आज तक कोई बात नहीं हुई. बड़ी चालाकी से हमारे इतिहासकारों ने इस प्रेम कहानी को दबा दिया था. बताया जाता है कि अलाउद्दीन खिलजी की बेटी फिरोजा ने वीरमदेव के लिए आत्मदाह कर लिया था क्यूंकि वह राजकुमार से बेहद प्यार करती थी. लेकिन हमारे इतिहासकारों ने इसे दबा कर रख दिया था. 

वीरमदेव और फिरोजा की प्रेम कहानी का सच

राजा वीरमदेव जालौर के महाराजा कान्हड़ देव के पुत्र थे. जब अलाउद्दीन खिलजी की सेना गुजरात के सोमनाथ मंदिर को खंडित करने के उपरांत शिवलिंग लेकर दिल्ली लौट रही थी. तभी जालौर के शासक, कान्हड़ देव  ने शिवलिंग को पाने के लिए मुघलो की सेना पर हमला कर दिया था. इस हमले में अलाउद्दीन की सेना बुरी तरह हारी थी. जीत के बाद कान्हड़ देव ने शिवलिंग को जालौर में स्थापित करवा दिया था.

जब अलाउद्दीन को इस हार की खबर हुई तो उसने इस युद्ध के मुख्य योद्धा वीरमदेव को अपने यहाँ दिल्ली बुलाया था. वीरमदेव जैसे ही दिल्ली खिलजी के महल में पहुंचे तो खिलजी की बेटी फिरोजा से उनको मोहब्बत हो गयी, जब इस बात की खबर खिलजी को लगी तो उन्होंने वीरमदेव के सामने सादी का प्रस्ताव रखा.

अलाऊद्दीन खिलजी अपनी बेटी की शादी वीरमदेव से करवाकर उन्हें अपना गुलाम बनान थाहता था, वीरमदेव को फिरोजा से प्रेम था लेकिन उन्हें गुलाम बनना स्वीकार नहीं था इसलिए जालौर लौटने के बाद उन्होंने खिलजी का ये प्रस्ताव ठुकरा दिया। जिससे नाराज होकर खिलजी ने जालौर पर आक्रमण कर दिया जिसमें राजा वीरमदेव की मौत हो गयी इस खबर को सुनते ही खिलजी की बेटी फिरोजा ने आत्मदाह कर लिया. (हम तथ्यों के पुष्टि नहीं करते, विकीपीडिया से मिली जानकारी पर आधारित).
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: