Feb 3, 2018

करणी सेना चीफ गोगामेड़ी ने अपने समर्थकों से की एक और अपील, राजपूतों हमपर भरोसा बनाये रखो, पढ़ें


sukhdev-singh-gogamedi-claimed-letter-on-padmaavat-film-is-false

नई दिल्ली: पद्मावत फिल्म के समर्थन में करणी सेना का पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. राजपूत करणी सेना की जमकर हजीहत हो रही है, कोई कह रहा है कि ये भंसाली के हाथों बिके हुए थे, कोई कह रहा है कि ये कांग्रेस के हाथों बिके हुए थे, कोई कह रहा है कि बीजेपी को हराने के लिए और राजपूतों को बीजेपी के खिलाफ भड़काने के लिए यह सब ड्रामा रचा गया था. 

करणी सेना को लेकर लोगों का शक इसलिए भी यकीन में बदल रहा है क्योंकि 25 जनवरी के बारे करणी सेना के किसी भी कार्यकर्ता ने पद्मावत फिल्म का विरोध नहीं किया, ना तो किसी को गुलाब का फूल दिया गया, ना तो मोमबत्तियां जलाईं गयी और ना ही किसी से फिल्म ना देखने की अपील की गयी.

कल लेटर जारी हुए कि हमने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के कहने पर फिल्म देखी, फिल्म बहुत अच्छी है, राजपूतों को गर्व होगा, सभी सिनेमाघरों में यह फिल्म लगनी चाहिए.

करणी सेना की फजीहत होते देखकर गोगामेड़ी फिर से मैदान में आ गए हैं, उन्होंने इन ख़बरों को फर्जी बताया है और लेटर को भी फर्जी बता दिया हालंकि यह पत्र करणी सेना के लेटर-हेड पर लिखा गया है. 

गोगामेडी ने कहा है - सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें जल्दी फैलती है, फैलाई जाती है.. राजपूत समुदाय के युवा, वरिष्ठ सयंम से काम लें.

एक कागज के टुकड़े को सही मानोगे क्या? जिसका कोई आधार नही. सुखदेव सिंह के खिलाफ ऐसे षड़यंत्र कुप्रचार किया जाना, आज नई बात नहीं है. 

यह दुश्मनों और विरोधियों की नई चाल है. वो लोग पहले से ही उस फर्जी स्टिंग आपरेशन, फर्जी मुकदमे समेत, प्रेस मीडिया के मार्फत समाज को विभाजित करने के लिए, आमजन को भ्रमित करने के लिए रात दिन से लगे हुए हैं |

अभी 3:30 बजे करुंगा दुध का दुध, पानी का पानी. आप लोगो का जो विश्वास हेै राष्ट्रीय करणी सेना पर वो हमेशा बना रहेगा. सुखदेव सिंह की ताकत समाज हैे, सुखदेव सिंह ने आज तक जो निर्णय लिये है, वो समाज से पूछकर लिये है. ओैर आगे भी जो समाज कहेगा, वही सुखदेव सिंह करेगा.

क्या लोग करेंगे सुखदेव की बातों पर भरोसा

सुखदेव सिंह गोगामेडी कुछ भी कहें लेकन अब ये लोग पद्मावत फिल्म का विरोध कम बल्कि बीजेपी का विरोध ज्यादा कर रहे हैं जैसे कि पद्मावत फिल्म भंसाली ने नहीं बल्कि मोदी ने बनायी है. अब बीजेपी की तीन सीटों पर हार की खुशियाँ मनाई जा रही हैं. पद्मावत विरोध को 25 जनवरी से ही किनारे रख दिया गया और बीजेपी का विरोध शुरू हो गया, राजपूतों को बीजेपी के खिलाफ भड़काने का प्रयास शुरू हो गया जो सफल भी हुआ, राजस्थान की तीनों सीटें बीजेपी हार गयी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: