Feb 15, 2018

त्रिपुरा में मोदी लहर की ग़दर, खतरे में लाल सलाम का किला


pm-narendra-modi-rally-in-asthabal-maidan-agartala-attack-cpim

अगरतला: त्रिपुरा में करीब 25 वर्षों से CPIM की सरकार है, करीब 22 वर्षों से माणिक सरकार वहां के मुख्यमंत्री है लेकिन अब वहां पर मोदी लहर ने ग़दर मचा रखी है. लाल सलाम का सबसे मजबूत किला खतरे में पड़ गया है. ऐसा लग रहा है कि अबकी बार वहां भी बीजेपी की सरकार बनने वाली है, कम से कम मोदी की रैली में जुटी भीड़ तो यही इशारा कर रही है.

आज मोदी ने त्रिपुरा में दो रैलियों को संबोधित किया, पहली रैली अगरतला के शान्ति बाजार में थी जबकि दूसरी रैली अस्थाबल मैदान में थी, दोनों रैलियों में जबरदस्त भीड़ थी, ऐसा लग ही नहीं रहा था कि यह छोटे राज्य की रैली है, ऐसा लग रहा था जैसे कोई बहुत बड़ा जलसा हो.

अस्थाबल मैदान में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वामपंथियों का अंत नजदीक है, 18 फ़रवरी के बाद CPIM सरकार का कहीं नामो निशान नहीं रहेगा.

उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में वाम दल, कम्युनिस्ट और लाल झंडे का राज चला है, लोकतंत्र में सरकारें जनता जनार्दन के कल्याण के लिए बनती हैं, उनकी समस्याएँ दूर करने के लिए बनती हैं. लेकिन 20-25 साल हो रहे हैं, क्या कोई त्रिपुरा का वासी ये कह सकता है कि त्रिपुरा के अन्दर विकास को प्राथमिकता दी जा रही है.

मोदी ने कहा कि त्रिपुरा में लाल झंडे की सरकार है, जिस प्रकार से लाल बत्ती पर हमें रुकना पड़ता है उसी प्रकार से त्रिपुरा का विकास तब तक रुका रहेगा जब तक यहाँ से लाल झंडे की सरकार रहेगी, लाल झंडा हटाओ और विकास कराओ. लाल झंडा हटने के बाद विकास होने लगेगा.

रैली के दौरान मोदी बहुत खुश दिखे और हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया. उन्होंने कहा कि इस मैदान में बहुत लोग पहुँच नहीं पाए, बाहर बहुत अधिक भीड़ है, हम आपसे क्षमा चाहते हैं. आप लोग मैदान से बाहर होकर भी अनुशासन मनाये रखे हैं.
पोस्ट शेयर करें, कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करें
loading...

0 comments: