Feb 1, 2018

जैसे करणी सेना ने BJP को हराया है, वैसे जयचंद ने पृथ्वीराज को मरवाया था, 300 साल गुलाम रहा देश


karni-sena-become-jaichand-for-bjp-like-prithiraj-chauhan-killed

नई दिल्ली: राजपूत करणी सेना आज भाजपा को सबक सिखाने में कामयाब हो गयी, उन्होंने बीजेपी के खिलाफ अपना गुस्सा निकाल दिया, उन्हें तीनों सीटों पर हरवा दिया, राजपूतों को बीजेपी के खिलाफ भड़काकर कांग्रेस को राजस्थान की तीनों सीटों पर भारी वोटों से जिता दिया.

बीजेपी की हार से लोगों को 1249 में मोहम्मद गोरी के हाथों पृथ्वीराज चौहान की हत्या की याद ताजा हो गयी है. जयचंद भी राजपूत था लेकिन पृथ्वीराज से नाराज था, पृथ्वीराज चौहान उसकी बहन संयोगिता से प्रेम करते थे, जयचंद उन्हें पसंद नहीं करता था, पृथ्वीराज चौहान ने उसकी बहन से बिना उसकी मर्जी के शादी कर ली, जयचंद को गुस्सा आ गया, वह मुहम्मद गोरी के साथ मिल गया, अपनी सेना भी उसे दे दिया, पृथ्वीराज चौहान बहुत वीर थे, कई बार उन्होंने मोहम्मद गोरी को परास्त किया लेकिन जब गद्दार जयचंद अपनी सेना लेकर मोहम्मद गोरी से मिल गया तो उसकी ताकत बढ़ गयी और उसनें पृथ्वीराज को हरा दिया. उसके बाद दिल्ली में उसकी सरकार बन गयी, बाद में धीरे धीरे मुगलों ने मानसिंग जैसे गद्दार राजपूतों को अपने साथ मिलाकर पूरे भारत पर कब्जा कर लिया और हमारा देश करीब 315 साल उनका गुलाम रहा.

अब करणी सेना ने भी बीजेपी के खिलाफ गुस्सा दिखाकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है और आज उसका असर भी दिख गया है, लेकिन लोग करणी सेना से नाराज हो रहे हैं, लोग करणी सेना को जयचंद समझने लगे हैं, लोगों को पता है कि कांग्रेस भी भारत में इस्लामीकरण को बढ़ावा दे रही है, तुस्टीकरण के रास्ते पर चलती है, उनके नेता खुद कहते हैं कि कांग्रेस मुगलों के फ़ॉर्मूले को फॉलो करती है, बादशाह के बेटा ही बादशाह बनता है, हाल ही में कांग्रेस ने कर्नाटक में सभी मुस्लिम अपराधियों से केस वापस लेने का आदेश दिया है, कांग्रेस कश्मीर के पत्थरबाजों का खुला समर्थन करती है, उसके नेता पी चिदंबरम कश्मीर की आजादी का समर्थन करते हैं, उसके नेता मणि शंकर अय्यर पाकिस्तान जाकर मोदी को ख़त्म करने की अपील करते हैं.

मतलब करणी सेना ने खिलजी का विरोध करके उनका ही समर्थन कर दिया है तो भारत में खिलजी युग लाना चाहते हैं, इस्लामीकरण के रास्ते पर चल रहे हैं, अयोध्या में बाबरी मस्जिद बनाना चाहते हैं. मतलब खिलजी का विरोध करते करते खुद ही खिलजी बन गए, वाह जी वाह,
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: