Feb 11, 2018

बॉबी कटारिया के परिवार की धमकी से पीछे हटे हरमीत सिंह, अब छोड़ देंगे बॉबी कटारिया के लिए बोलना


harmeet-singh-mintu-afraid-from-bobby-kataria-family-for-legal-action

गुरुग्राम: बॉबी कटारिया की गिरफ्तारी के बाद कई लोग उसके समर्थन में आये, सोशल मीडिया पर अपना समय बर्बाद करके बॉबी कटारिया के लिए आन्दोलन खड़ा किया, पूरे देश में बॉबी कटारिया पर हुए जुल्म की आवाज पहुंचाई, अजय चौधरी, बीरेंद्र सिंह और हरमीत सिंह मिंटू ने समय समय पर आकर बॉबी कटारिया के समर्थन में आन्दोलन को जिंदा रखा और इन लोगों की वजह से ही बॉबी कटारिया के समर्थक आज भी बॉबी से जुड़े हुए हैं लेकिन अब इन लोगों को ही कानूनी कार्यवाही की धमकी दी जा रही है. यह धमकी बॉबी कटारिया और बॉबी कटारिया के परिवार की तरफ से दी गयी है.

बॉबी कटारिया की रिहाई के लिए उनके समर्थक परेशान हैं, लेकिन उनके परिवार द्वारा कानूनी कार्यवाही की धमकी दिए जाने के बाद हरमीत सिंह मिंटू भी आन्दोलन से पीछे हट रहे हैं, इससे पहले अजय चौधरी और बीरेंद्र सिंह आन्दोलन से हट चुके हैं, उन लोगों ने भी बॉबी कटारिया का काफी समर्थन किया, कई कई दिन तक उसके लिए आवाज उठायी लेकिन परिवार से धमकी मिलने के बाद अचानक गायब हो गए.

अब हरमीत सिंह मिंटू भी बॉबी कटारिया के समर्थन में आन्दोलन से पीछे हट रहे हैं, वह कई दिनों से लुधियाना से अपना घर छोड़कर गुरुग्राम, दिल्ली और फरीदाबाद की ख़ाक छान रहे हैं, वकीलों से मिलकर उनकी रिहाई के लिए परेशान हैं, लेकिन अब बॉबी कटारिया के परिवार ने कानूनी कार्यवाही की धमकी दी है तो वह भी पीछे हट रहे हैं.

बॉबी कटारिया के भाई समय कटारिया ने फेसबुक पोस्ट में चेतावनी दी है कि उनके वकीलों के बजाय अगर किसी समर्थन ने उनकी जमानत के लिए खुद से बेल एप्लीकेशन लगाई या किसी अन्य कार्यवाही में दखल दी तो उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी.

परिवार से इस प्रकार की धमकी मिलने के बाद हरमीत सिंह ने कहा कि अगर बॉबी कटारिया का परिवार ही नहीं चाहता कि मुझे उसके लिए कुछ करना चाहिए, उन्हें मेरी मदद चाहिए ही नहीं तो मुझे भी अब पीछे हट जाना चाहिए, लेकिन अगर उसे कभी मेरी जरूरत पड़ी तो मैं फिर मदद के लिए आगे आऊंगा लेकिन फिलहाल तो मैं अपने घर लुधियाना वापस जा रहा हूँ.

उन्होंने यह भी बताया कि बॉबी कटारिया को दो केसों में जमानत मिल चुकी है जबकि दो में एंटी-सिपेटरी बेल मिली है, अभी उनपर तीन मामले और हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: