Follow by Email

Total Pageviews

Blog Archive

Search This Blog

नोटबंदी के समय हमें 4000 नहीं मिले, भंसाली को 150 करोड़ कहाँ से मिले: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी

Share it:
sukhdev-singh-gogamedi-blame-sanjay-leela-bhansali-for-anti-india-activities

मुंबई: संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विवाद थमने का नाम नही ले रहा है. राजपूत करणी सेना ने एक बार फिर से फिल्म को बैन  करने की मांग की हैं, साथ ही करणी सेना ने U/A सर्टिफिकेट के साथ फिल्म को मंजूरी देने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और सेंसर बोर्ड पर निशाना साधा है।  

राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी ने कहा - मैं केंद्र सरकार से पूछना चाहता हूँ इस फिल्म का समर्थन करके और झूठा इतिहास दिखने से उन्हें क्या लाभ मिलेगा, पद्मावती फिल्म को लेकर केंद्र सरकार क्यों चुप बैठी है, उन्होंने बताया कि इसे विदेशी कंपनी वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर ने नोटबंदी के समय पर बनाया था, जिस समय हमें चार हजार मिलना मुश्किल था उस समय भंसाली को 160 से 180 करोड़ कहाँ से मिल गए. भंसाली को डेविड हेडली की मदद से ब्रिटेन में फिल्म दिखाने का सर्टिफिकेट पहले ही  मिल गया है. केंद्र सरकार भंसाली से उनकी देश विरोधी गतिविधियों के लिए गिरफ्तार करके पूंछताछ क्यों नही करा रही है. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले हफ्ते ही सेंसर बोर्ड ने पद्मावती फिल्म को 5 बदलावों के साथ U/A सर्टिफिकेट के साथ रिलीज की अनुमति दे दी थी, फिल्म का नाम भी बदलकर पद्मावत कर दिया गया है लेकिन करणी सेना इसे स्वीकार नही कर रहा है. सुखदेव सिंह ने यह भी कहा है कि जब समीक्षा के लिए बनाए गए पैनल में फिल्म को दिखाया गया तो अरविंद सिंह और के.के. सिंह ने कहा था कि फिल्म लोगों को आंदोलन के लिए भड़काएगी। इसके बाद भी प्रसून जोशी ने फिल्म के लिए हरी झंडी क्यों दे दी.
Share it:

India

Politics

Post A Comment:

0 comments: