Jan 5, 2018

बॉबी कटारिया के समर्थन में उतरीं संगीता दहिया, गुरुग्राम पुलिस को लताड़कर कहा, शर्म से डूब मरो


sangita-dahiya-support-bobby-kataria-slams-gurugram-police-news

नई दिल्ली: बॉबी कटारिया के समर्थन में सामाजिक कार्यकर्ता और हरियाणा की मशहूर हस्ती संगीता दहिया भी आ गयी हैं, गुरुग्राम पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के बाद बॉबी कटारिया इस वक्त फरीदबाद की जेल में बंद हैं, सोशल मीडिया पर बॉबी कटारिया को काफी समर्थन मिल रहा है, हर कोई उसके बारे में जानना चाहता है, पूरे देश के युवाओं के होठों पर इस वक्त सिर्फ एक नाम है और वो है बॉबी कटारिया. हर कोई उसके बारे में जानने के लिए बेचैन है. आज यही सब देखकर संगीता दहिया भी उसके समर्थन में आ गयीं और उसके साथ ऐसा बर्ताव करने के लिए उन्होंने गुरुग्राम पुलिस को जमकर फटकार लगा दी.

संगीता दहिया ने कहा कि पहले मैंने बॉबी कटारिया के मामले अपर ध्यान नहीं दिया लेकिन पिछले दी तीन दिनों में मैंने उसकी कई वीडियो देखीं, जिसके बाद मुझे लगा कि मुझे बॉबी कटारिया का समर्थन करना चाहिए. इससे पहले मैंने उसके घर वालों से बात की, उसके गाँव बसई गयी, बॉबी के बारे में लोगों से पूछा तो सबसे यही कहा कि वो दिल का अच्छा आदमी है.

संगीता दहिया ने कहा कि बॉबी कटारिया ही वह आदमी था जिसने मैक्स हॉस्पिटल को सीज कराया, उसनें सड़क पर एक्सीडेंट से तड़प रहे एक आदमी को खुद उठाकर अस्पाल ले जाकर उसकी जान बचाई, उसके बारे में लोग गलत अफवाह फैला रहे हैं. मैक्स हॉस्पिटल में जिस दिन बच्चे के मरने की घटना हुई थी तो 125 करोड़ लोगों में से सिर्फ बॉबी कटारिया वहां पहुंचा था और उसकी मेहनत की वजह से मैक्स हॉस्पिटल सीज हुआ था, यह गर्व की बात है. फरीदाबाद में एक मासूम लड़की का पैर कट जाता है, जिस स्कूल की बस से बच्ची का पैर कटा है वह गुर्जर है, इतने बड़े आदमी के खिलाफ बोलने की हिम्मत सिर्फ बॉबी कटारिया करता है. गुरुग्राम में एक लड़की के साथ बदतमीजी होती है तो बॉबी कटारिया उसकी मदद करता है. एक महिला ने वीडियो डाल रखी है उसकी भी जिन्दगी बॉबी कटारिया ने बचाई.

संगीता दहिया ने कहा कि एक आदमी ने 10 अच्छे काम किये, और एक गलती कर दी, मैं भी मानती हूँ कि पुलिस को गालियाँ नहीं देनी थी, उसे कानून को हाथ में नहीं लेना चाहिए, लेकिन ये सोचो कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि प्रशासन को गालियाँ देनी पड़ी, जो काम पुलिस नहीं कर रही है वह युवा एकता फाउंडेशन और बॉबी कटारिया कर रहा है.

लड़की की जान पुलिस को बचानी चाहिए थी, मैक्स हॉस्पिटल की जांच पुलिस को करनी चाहिए थी, पुलिस को देखना चाहिए कि हॉस्पिटल  में कैसी गुंडागर्दी हो रही है, किस तरीके से मरीज के साथ गुंडागर्दी हो रही है, किस तरीके से मरीजों से पैसे लिए जा रहे हैं. अगर किसी की बहू बेटी की इज्जत पर बात आती है तो उसे पुलिस को देखनी चाहिए, समाज सेवा की जरूरत ही क्या है.

उन्होंने कहा कि अगर इस देश में कानून ठीक हो, पुलिस अपना काम अच्छे से करे तो हम जैसे लोगों को समाज के बारे में सोचने की क्या जरूरत है, किसके पास इतना समय है कि समाज के बारे में जाकर सोचे. जब पुलिस नाकाम होती है तभी तो हम समाज के बारे में सोचते हैं.

उन्होंने कहा कि ऐसा क्या हुआ कि बॉबी कटारिया ने पुलिस को गाली दी, ये सोचने की बात थी ना, चलो बॉबी से हो गयी गलती, पुलिस ने अपनी पूरी कसर निकाल ली, पुलिस और बॉबी कटारिया की तीन चार महीनों से छीना झपटी चल रही है, अब बॉबी कटारिया को अरेस्ट कर लिया, उसनें फेसबुक लाइव पर IT सेक्शन के अकोर्डिंग गालियाँ दी थी तो उसपर IT सेक्शन के अंतर्गत ही धाराएं लगानी चाहिए थीं लेकिन उसके ऊपर अभद्र भाषा का प्रयोग करने की कोई धारा नहीं लगाईं गयीं.

बॉबी कटारिया के ऊपर धारा लगाई है - 323, 504 और 386. उन्होंने बताया कि 323, 504 बहुत छोटी धाराएं हैं और उसके लिए हैण्ड तो हैण्ड जमानत मिल जाती है, 386 की धारा जबरन वसूली की धारा है, उसके बारे में पुलिस ने कहा है कि उसनें फेसबुक पर अपने NGO का अकाउंट नंबर और पे-टीएम नंबर दिया है. ये तो सभी NGO करते हैं, सभी NGO ऑनलाइन चंदा मांगते हैं लेकिन बॉबी कटारिया ने चंदा माँगा तो उसे जबरन वसूली बता दिया.

उसके बाद गुरुग्राम पुलिस ने एक चार्ज और लगाया कि बॉबी कटारिया ने किसी का पर्स चोरी किया है, गुरुग्राम पुलिस के लिए इससे बड़ी शर्म की बात हो ही नहीं सकती, गुरुग्राम पुलिस ने प्रद्युमन केस में जो किया था वह बात पूरे देश और दुनिया को पता है, किस तरह से इन्होने डमी विक्टिम बना दिया था, अगर उस समय हम जैसे लोग धरने पर नहीं बैठते और CBI जाँच की डिमांड नहीं करते तो आज बस कन्डक्टर अशोक को बलि का बकरा बना दिया जाता.

उन्होंने कहा कि बॉबी कटारिया जैसे लड़के के लाखों फॉलोवर हैं, उसके 5-7 लाख फॉलोवर हैं, वह 3000 रुपये का पर्स चोरी करेगा, गुरुग्राम पुलिस वालों, कहीं डूब कर मर जाओ, जिस पुलिस वाले ने बॉबी कटारिया पर पर्स चोरी की धारा लगाई है, मैं ऐसे पुलिस वाले पर थू-क-ती हूँ. अगर कोई केस लगाना था तो ढंग का लगा देते, ये सरेआम लोगों को दिखाई दे रहा है. वो लड़का 3000 रुपये चोरी करेगा. इतने बुरे दिन आ गए.

वह लड़का कुछ कर रहा है तो उसे करने नहीं दोगे, अगर उसनें गालियाँ दी हैं तो गालियों की धारा लगाओ, आप उसके ऊपर 386 नहीं लगा सकते, उसपर जबरन वसूली का केस नहीं डाल सकते.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: