Jan 6, 2018

बड़ा फैसला आ गया, अब लालू यादव साढ़े 3 साल जेल में ही रहेंगे, नहीं होगी जमानत, पढ़ें क्यों


lalu-yadav-sentenced-3-5-year-jail-5-lakh-fine-in-chara-ghotala

रांची: लालू यादव और उनके समर्थकों के लिए बुरी खबर है, उन्हें चारा घोटाले में साढ़े तीन साल की सजा दी गयी है, साथ ही 5 लाख जुर्माना भी लगाया गया है. अगर वे पांच लाख जुर्माना नहीं देंगे तो उनकी सजा 6 महीनें और बढ़ जाएगी. अन्य दो दोषियों को भी साढ़े तीन साल की सजा सुनायी गयी है. लालू यादव को जमानत भी मिलनी मुश्किल है क्योंकि उन्हें जमानत के लिए हाई कोर्ट में जाना पड़ेगा.

वकीलों से जिरह करते हुए फैसला सुनाने वाले जज ने कहा है कि लालू यादव के खिलाफ खुली जेल सही है क्योंकि इन लोगों को गौ-पालन का अनुभव है. ये जेल में भी गौ-पालन कर सकते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लालू यादव के खिलाफ जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये फैसला सुनाया जाएगा.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देवघर चारा घोटाले में लालू यादव के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 120 और पीसी एक्ट की धारा 13(2) के तहत फैसला सुनाया जाना है. उन्हें तीन साल से 10 साल तक की कैद हो सकती है. अगर उन्हें 3 साल से कम सजा सुनायी गयी तो उन्हें तुरंत जमानत मिल सकती है, अगर उससे ऊपर सजा हुई तो उन्हें जमानत के लिए हाईकोर्ट का रूख करना पड़ेगा.

लालू यादव के खिलाफ क्या है केस

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चारा घोटाले के दो मामले चल रहे हैं - पहले मामले में चाईबासा कोषागार से 37 करोड़ 70 लाख रुपये अवैध ढंग से निकालने के लिए इन सभी को सजा मिल चुकी है और लालू को जेल भी जाना पड़ा था, यही नहीं उनपर आजीवन चुनाव लड़ने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था.

कल दूसरे मामले में लालू यादव और 22 अन्य के खिलाफ फैसला सुनाया जाएगा जिसमें देवघर कोषागार से 89 लाख 27 हजार रुपये की अवैध निकासी की गयी थी।

चारा घोटाले 1100 करोड़ रुपये से भी अधिक की लूट का मामला था जिसको लेकर काफी लम्बे समय से जांच चल रही है.

लालू यादव को हिरासत में लेने के बाद उन्हें रांची की केंद्रीय जेल भेजा जा रहा है. लालू को सजा मिलने के बाद उनके घर में सन्नाटा छा गया है. उनके बड़े बेटे तेजस्वी यादव उनके साथ रांची कोर्ट में ही हैं. अगर लालू यादव को बड़ी सजा हुई तो उन्हें पार्टी का अध्यक्ष बनाया जा सकता है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: