Jan 24, 2018

चारा घोटाले के तीसरे मामले में लालू यादव को हो गयी 5 साल सजा, बुरे फंसे, अब बुढ़ापा जेल में


lalu-yadav-convicted-5-year-jail-in-chaibasa-koshagar-chara-ghotala

नई दिल्ली: ऐसा लगता है कि लालू यादव का बुढ़ापा अब जेल में ही बीतने वाला है क्योंकि आज चारा घोटाले के तीसरे मामले में भी उन्हें तीन साल की जेल हो गयी है. आज रांची की विशेष CBI अदालत ने उन्हें चाईबासा कोषागार से 33 करोड़ रुपये लूटने के मामले में पांच साला की सजा और 10 लाख रुपये अक जुर्माना लगाया. उनके साथ साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा भी इस मामले में दोषी पाए गए हैं.

यह मामले भी रांची की विशेष CBI अदालत में चल रहा था जिसमें लालू यादव और जगन्नाथ मिश्रा के अलावा 50 लोगों को दोषी करार दिया गया है जबकि 6 को बाइज्जत बरी कर दिया गया है.

बता दें, लालू यादव इस वक्त रांची की बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में साढ़े तीन साल की सजा काट रहे हैं, चारा घोटाले के दो मामले में लालू यादव को सजा मिले चुकी थी, यह तीसरा मामला था, अभी तीन मामले और हैं जिसमें इसी प्रकार के फैसले आ सकते हैं. अगर लालू यादव सभी मामलों में ऐसे ही दोषी पाए गए हैं तो उन्हें लम्बे समय तक जेल में रहना पड़ सकता है, अब उन्हें जमानत भी नहीं मिलेगी.

क्या है चाईबासा कोषागार का मामला

चाईबासा कोषागार से 1992-93 में 67 फर्जी आवंटन पत्र के आधार पर 33.67 करोड़ रुपए की अवैध निकासी की गई थी. इसमें साल 1996 में केस दर्ज हुआ था. इस मामले में कुल 76 आरोपी थे, जिनमें लालू प्रसाद और डॉ. जगन्नाथ मिश्रा के नाम भी शामिल हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: