Jan 3, 2018

कुमार विश्वास बोले, केजरीवाल ने निभाया अपना वादा, मुझे मार दिया लेकिन शहीद नहीं होने दिया



नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने आज अपने राज्य सभा के सदस्यों का नाम फाइनल कर दिया. इस लिस्ट में कुमार विश्वास को जगह नहीं मिल सकी, मतलब कुमार विश्वास को आम आदमी पार्टी राज्य सभा नहीं भेज रही है. इस लिस्ट में - संजय सिंह, सुशील कुमार गुप्ता और एनडी गुप्ता को जगह मिली है. आशुतोष कुमार का भी नाम काट दिया गया है.

कुमार विश्वास ने इस पर प्रातक्रिया देते हुए कहा कि - केजरीवाल ने कुछ समय पहले 20 लोगों के सामने हँसते हुए मुझसे वादा किया था कि - मैं आपको मारूंगा लेकिन शहीद नहीं होने दूंगा, आज उन्होंने अपना वादा निभा दिया है, उन्होंने मुझे मार दिया है लेकिन शहीद नहीं किया है, मैं उनसे एक और गुजारिश करना चाहता हूँ कि मेरी लाश से खिलवाड़ ना करें क्योंकि युद्ध का भी एक नियम है जिसमें लाश के साथ छेड़छाड़ नहीं की जाती.

कुमार विश्वास ने कहा कि - मैं केजरीवाल को बधाई देता हूँ और अपनी शहादत स्वीकार करता हूँ, मुझे पता है कि आपकी मर्जी के बिना हमारे दल में कुछ होता नहीं है, आप से असहमत होकर वहां पर रहना मुश्किल है, मैं अभी भी आन्दोलन का हिस्सा हूँ, पार्टी का हिस्सा हूँ.

उन्होंने कहा कि मैं आपसे सिर्फ यही अनुरोध करता हूँ कि अपने ट्विटर के वारियर को, आम आदमियों को, मंत्रियों को और अन्य लोगों को ये कह दें कि शहीद तो कर दिया कोई बात नहीं लेकिन शव के साथ छेड़छाड़ ना करें ताकि आगे से कोई दुर्गन्ध ना फैले.

मुझे सच बोलने की मिली सजा: कुमार विश्वास

कुमार विश्वास ने कहा कि हमारे मित्र अरविन्द केजरीवाल के कई निर्णय चाहे वो सर्जिकल स्ट्राइक, चाहे आतंरिक भ्रष्टाचार से ऑंखें फेरना हो, चाहे पंजाब में अतिवादियों के लिए सॉफ्ट रहना हो, चाहे टिकट वितरण में जो गड़बड़ियाँ मिली उसकी शिकायत हो, चाहे कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करना हो, चाहे सैनिक का विषय हो, चाहे JNU का विषय हो, मैंने जो जो सच बोला, आज उसका पुरष्कार दंडस्वरुप दिया गया, जिसके लिए मैं स्वयं का आभार व्यक्त करता हूँ और मानता हूँ कि यह नैतिक रूप से एक कवि की और सच्चे आन्दोलनकारी की जीत है.

दोनों महान क्रांतिकारियों को राज्य सभा भेजने पर बधाई

कुमार विश्वास ने यह भी कहा कि देश भर में जो करोड़ों शुभचिंतक हैं, लाखों कार्यकर्ता है जो मेरे प्रति बहुत स्नेह से भरे हुए हैं, मैं उनका आभार व्यक्त करता हूँ, सभी लोगों को अपने अपने लड़ाई लड़नी है, मैं बहुत बहुत बधाई देता हूँ दोनों महान क्रांतिकारियों को जिनको चुनकर रामलीला मैदान की लड़ाई का प्रतिपल और नवनीत बनाकर राज्य सभा में भेजा गया है. जहाँ पर अटल जी जैसे, इंदिराजी जैसे लोगों की आवाज गूंजी है. मैं अरविन्द को और पार्टी के उन लोगों को, जिन्होंने इनका नाम तय किया है उन्हें बहुत बहुत बधाई देता हूँ.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: