Jan 9, 2018

फंस गए केजरीवाल, CBDT ने AAP के चंदे में पकड़ी गड़बड़ी


cbdt-flagged-mismatch-in-aap-donation-wrote-to-election-commission

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के बुरे दिन ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं, हाल ही में उनपर राज्य सभा की टिकटें बेचने का आरोप लगा है. आज CBDT (सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्सेज) ने भी आम आदमी पार्टी के चंदे में गड़बड़ी पकड़ ली है और इस बारे में चुनाव आयोग को सूचित कर दिया है. इनकम टैक्स ने पहले ही केजरीवाल के ऊपर 30 करोड़ रुपये का नोटिस ठोंक रखा है.

CBDT के अनुसार आम आदमी पार्टी ने चंदे में गड़बड़ी करके रिप्रजेंटेशन ऑफ़ पीपल एक्ट का उल्लंघन किया है और ऐसा करने वाली पार्टियों को टैक्स रिलीफ देने पर बैन लगाया जा सकता है.

सूत्रों से जानकारी मिली है कि इस मामले में सुशील चंद्रा ने चुनाव आयोग के आयुक्त ऐके ज्योति को 3 जनवरी को ही पत्र लिखा था, बता दें कि आप पार्टी के 2014-15 के चंदे में गड़बड़ियाँ पायी गयी हैं.

आपको बता दें कि कानून के अनुसार 20000 से ऊपर चंदा देने वाले सभी देनदारों का रिकॉर्ड रखना जरूरी है लेकिन आप पार्टी ने करीब 450 देनदारों का रिकॉर्ड ही नहीं रखा. यह सरासर कानून का उल्लंघन है. इन 450 लोगों ने आप को 6.26 करोड़ रुपये का चंदा दिया था.

इसके अलावा 36.95 करोड़ रुपये की जानकारी चुनाव आयोग और आईटी डिपार्टमेंट से छुपाई जिसमें 2 करोड़ रुपये हवाला के जरिये प्राप्त किये गए.

इसके अलावा 20000 से अधिक चंदा देने वालों के 29.13 करोड़ रुपये की जानकारी भी छुपा ली गयी.

देखने पर ऐसा लगता है कि आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग, इनकम टैक्स के साथ साथ चंदा देने वालों का रिकॉर्ड ना रखकर उनको भी चीट किया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: