Dec 9, 2017

जिस मोदी को 14 साल कांग्रेस नहीं हरा पाई, उस मोदी को करारी शिकस्त देना चाहते हैं PM MODI


pm-narendra-modi-want-to-defeat-cm-modi-of-gujarat-election-2017

जब नरेन्द्र मोदी 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उसके कुछ ही दिन बाद गुजरात में दंगे हो गए, उस वक्त वह गुजरात को इतना समझ भी नहीं पाए थे कि पूरा गुजरात दंगों की आग में झुलस गया लेकिन उन्होंने किसी तरह से हालात पर नियंत्रण कर ही लिया. उसके बाद 2002 में विधानसभा चुनाव हुए, कांग्रेस ने मोदी पर गुजरात दंगों का आरोप लगाते हुए उन्हें हराने की हर संभव कोशिश की लेकिन बीजेपी की बहुमत के साथ जीत हुई और मोदी एक बार फिर से गुजरात के मुख्यमंत्री बने.

उसके बाद मोदी के पीछे पूरा मीडिया पड़ गया, दंगों को लेकर तरह तरह के लेख लिखे जाने लगे, तरह तरह की बातें बोली जाने लगीं, मोदी से तीखे सवाल पूछे जाने की कोशिश होने लगी लेकिन मोदी का हौसला कभी नहीं  डगमगाया, उसके बाद 2007 में फिर से चुनाव हुए, उस चुनाव में भी कांग्रेस ने केंद्रीय पॉवर की अपनी पूरी ताकत लगा दी लेकिन मोदी को हरा नहीं पाए, एक बार फिर से मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बन गए.

उसके बाद 2012 में फिर से गुजरात में चुनाव हुए, कांग्रेस केंद्र में पॉवर में थी, कांग्रेस ने फिर से उन्हें हराने की कोशिश की लेकिन 120 सीटें जीतकर मोदी फिर से मुख्यमंत्री बन गए. दो साल काम करने के बाद मोदी का प्रधानमंत्री बनने के नंबर आ गया, वह प्रधानमंत्री बनकर दिल्ली आ गए.

मोदी 14 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे, उन्हें कांग्रेस 14 साल में एक बार भी नहीं हरा पायी, अब उसी मोदी को प्रधानमंत्री मोदी हराना चाहते हैं.

आज प्रधानमंत्री मोदी ने कलोल में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि इस बार आप मोदी को करा दो, जब मोदी यहाँ का मुख्यमंत्री था तो आपने उसे 120 सीटें दी थीं लेकिन अब आप उसे हराकर बीजेपी को कम से कम 150 सीटें दो.

मोदी की अपील गुजरात के लोगों ने मान ली है लेकिन 18 तारीख को नतीजे आने के बाद ही पता कल सकेगा कि पुराना मोदी हार पाता है नहीं, गुजरात की जनता इस बार प्रधानमंत्री मोदी के कहने से बीजेपी को 150 सीटें देती है या नहीं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: