Dec 7, 2017

सुप्रीम कोर्ट पर राज करते हैं कपिल सिब्बल, मोदी को झूठे ही तानाशाह बोलते हैं कांग्रेसी, पढ़ें


kapil-sibal-rule-on-supreme-court-but-congress-told-modi-tanashah

राम मंदिर केस की सुनवाई रुकवाकर कपिल सिब्बल ने इतना तो साबित कर दिया है कि सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ उनकी चलती है, वह जो चाहे वह कर सकते हैं, कोई भी जज उनके आगे कुछ भी नहीं है, यहाँ तक कि चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा भी उनके सामने कुछ नहीं हैं.

यही नहीं कल कपिल सिब्बल ने अपनी पॉवर दिखाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी चैलेंज कर दिया कि तुम कुछ भी कर लो लेकिन अयोध्या में राम मंदिर नहीं बना पाओगे, राम मंदिर तभी बनेगा जब कोर्ट आदेश देगा और जब तक वह रहेंगे सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो नहीं पाएगी.

आपको बता दें कि कपिल सिब्बल कांग्रेस सरकार में कानून मंत्री रह चुके हैं, इससे पहले वह सुप्रीम कोर्ट में वकालत करते रहे हैं, हर जज से उनकी पहचान है, सभी जजों पर उनकी धाक है, जब वह कानून मंत्री बने तो सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस समर्थक जजों को बिठा दिया, कांग्रेस ने ही अधिकतर जजों की नियुक्ति की है, यहाँ तक कि पूर्व चीज जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर और जगदीश सिंह खेहर की नियुक्ति भी कांग्रेस की मर्जी से हुई थी और इसी वजह से राम मंदिर का केस लटकाया जाता रहा.

ऐसा लगता है कि सुप्रीम कोर्ट में अभी भी कपिल सिब्बल और कांग्रेस का राज है, जब सभी जज इनके हैं तो वह राम मंदिर पर फैसला कैसे सुनायेंगे. कपिल सिब्बल से 5 दिसम्बर को दस्तावेज अधूरे होने का हवाला दिया और सुप्रीम कोर्ट ने झट से केस दो महीनें के लिए लटका दिया, पहले से ही यही होता आ रहा है, सुप्रीम कोर्ट ने यह भी नहीं पूछा कि 20 साल में आपने दस्तवेज इकठ्ठे क्यों नहीं किये.

ऐसा लग रहा है कि सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ फिक्स है, अब तो कपिल सिब्बल यह भी कह रहे हैं कि मैं सुन्नी वक्फ बोर्ड का वकील हूँ ही नहीं, इसका मतलब है कि कपिल सिब्बल ने अपनी पॉवर का इस्तेमाल करके केस को लटकवा दिया. इससे साफ़ साबित हो रहा है कि सुप्रीम कोर्ट में अभी भी सिर्फ उनकी चलती है.

आपको बता दें कि कांग्रेसी नेता प्रधानमंत्री मोदी को हिटलर, तानाशाह कहते रहते हैं लेकिन असली तानाशाह तो कपिल सिब्बल हैं जो सुप्रीम कोर्ट में कुछ भी कर सकते हैं, वह साफ़ साफ मोदी को चैलेंज कर रहे हैं कि मोदीजी आप कुछ नहीं कर पाओगे, वही होगा तो हम चाहेंगे तो इसका मतलब है कि देश के तानाशाह तो कपिल सिब्बल हैं. सुप्रीम कोर्ट पर सिर्फ कपिल सिब्बल का राज चल रहा है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: