Dec 6, 2017

कांग्रेसी कपिल सिब्बल ने किया इशारा, हिन्दू जीत चुके हैं केस, अयोध्या में बनेगा सिर्फ राम मंदिर


kapil-sibal-dont-want-ram-mandir-till-2019-he-hinted-hindu-win-case

कल पूरे देश की नजरें सुप्रीम कोर्ट पर टिकी थीं, हर कोई राम मंदिर और बाबरी मस्जिद मामले पर फैसले का इन्तजार कर रहा था लेकिन इतने में खबर आयी कि मामले पर सुनवाई की तारीख आगे बढ़ा दी गयी है, यह भी खबर आयी कि कांग्रेस नेता और मुस्लिम पक्ष के वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट में दलील दी कि इस मामले की सुनवायी 2019 आम चुनाव तक टाल देनी चाहिए क्योंकि इससे भारतीय जनता पार्टी को फायदा होगा.

आपको बता दें कि कपिल सिब्बल आल इंडिया सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील है और बाबरी मस्जिद की पैरवी कर रहे हैं, उन्होंने सुनवाई की तारीख 2019 के बाद करने की मांग करके साबित कर दिया कि यह केस हिन्दू ही जीतने वाले हैं और सुप्रीम कोर्ट हिन्दुओं के पक्ष में ही फैसला देने वाला है.

कपिल सिब्बल को भी पता है कि इस केस का फैसला राम मंदिर के पक्ष में आने वाला है इसलिए उन्होंने कहा कि अगर आप अभी निर्णय देंगे और अयोध्या में राम मंदिर बन जाएगा तो बीजेपी को 2019 के आम चुनाव में इसका लाभ मिलेगा इसलिए आप इस मामले की सुनवायी 2019 आम चुनाव तक टाल दें ताकि राम मंदिर के समर्थन में फैसला आने पर बीजेपी को राजनीतिक लाभ ना हो.

कपिल सिब्बल से साफ़ इशारा कर दिया है कि भले ही इस मामले का फैसला 6 महीनें बाद आये या 2019 चुनाव के बाद, लेकिन अयोध्या में सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा लेकिन कांग्रेस किसी भी कीमत पर बीजेपी को राम मंदिर बनाने का क्रेडिट नहीं लेने देगी, इसलिए सुनवाई की तारीख 2019 के बाद करने की मांग की गयी है. 

कपिल सिब्बल के साथ साथ सुन्नी वक्फ बोर्ड भी यह बात जानता है कि फैसला राम मंदिर के समर्थन में आएगा इसलिए उन्होंने कल कागजात अधूरे होने का हवाला देते हुए केस को आगे बढाने की मांग की लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ साफ़ कह दिया कि अब इस मामले की सुनवायी 8 फ़रवरी को होकर रहेगी, दोनों पक्ष के लोग अपने अपने दस्तावेज तैयार कर लो, अब इसके आगे तारीख नहीं बढ़ाई जाएगी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: