Dec 9, 2017

गुजरात में कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गाँधी को नहीं EVM और ब्लूटूथ को दिया जाएगा दोष


if-congress-party-lost-gujarat-election-evm-tempering-using-bluetooth

18 दिसम्बर की पटकथा तैयार हो चुकी है, 18 दिसम्बर को गुजरात चुनाव के नतीजे आयेंगे, कांग्रेस की करारी हार होगी लेकिन इस हार का ठीकरा नए नवेले अध्यक्ष राहुल गाँधी पर नहीं बल्कि EVM और ब्लूटूथ पर फोड़ा जाएगा और भारतीय जनता पार्टी पर इन्हें मैनेज करने का आरोप लगाया जाएगा.

आज गुजरात चुनाव के पहले चरण की वोटिंग हुई जिसमें गुजरात की जनता ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया, करीब 70 फ़ीसदी वोटिंग हुई, अधिकतर लोगों ने विकास के नाम पर सिर्फ बीजेपी को वोट दिया, कांग्रेस को भी इसका अंदेशा हो गया इसलिए आधे दिन के बाद ही EVM टेम्परिंग का आरोप लगाया जाने लगा, कुछ कांग्रेसी नेताओं ने आरोप लगाया कि EVM को मैनेज करने के लिए ब्लूटूथ का इस्तेमाल किया जा रहा है जबकि ये असंभव है क्योंकि EVM में ऐसा कोई सॉफ्टवेर ही नहीं है जिसे ब्लूटूथ से मैनेज किया जा सके लेकिन कांग्रेस पूरे देश में यह मैसेज फैलाने में जरूर कामयाब रही कि EVM में गड़बड़ी की जा रही है.

इन आरोपों को लेकर ट्विटर पर बाकायदा ट्रेंड चलाया गया, स्वयं कांग्रेसी नेता अहमद पटेल ने कहा कि हम गुजरात में जीत रहे हैं लेकिन अगर हारे तो इसका कारण EVM में गड़बड़ी होगी.

अहमद पटेल के इतना कहते ही समस्त कांग्रेसियों ने EVM में गड़बड़ी का कुप्रचार शुरू कर दिया लेकिन यह भी इशारा कर दिया कि 18 दिसम्बर को क्या नतीजे आने वाले हैं लेकिन अबकी बार चुनाव आयोग ने EVM के साथ VVPAD की भी व्यवस्था की है इसलिए कांग्रेस ने ब्लूटूथ से ऑपरेटर होने की बात फैला दी.

कुल मिलाकर इतना साफ़ हो गया है कि चुनाव में कांग्रेस की करारी हार होने वाली है, लेकिन इस हार का दोष राहुल गाँधी और उनके निगेटिव प्रचार को नहीं बल्कि EVM को दिया जाएगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: