Dec 7, 2017

कांग्रेस को चाहिए, ऊंच, नीच, दलित, मुस्लिम, पटेल, ब्राह्मण, OBC, आदिवासी, जिहादी के वोट, वाह


congress-divide-and-rule-politics-exposed-in-gujarat-hindi-news

कांग्रेस का चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस पार्टी ने जबरजस्त चाल चली है, कांग्रेस पार्टी गुजरात के लोगों को आपस में बांटकर और एक दूसरे को लड़ाकर सबके वोट लेना चाहती है. कांग्रेस ने पहले तीन जातियों पर निशाना साधा - दलित, OBC और पटेल. उसके बाद कांग्रेस ने राहुल गाँधी को जनेऊधारी ब्राह्मण बताकर पंडितों और ब्राह्मणों पर निशाना साधा.

उसके बाद कांग्रेस ने मुस्लिमों ने उनकी दादागिरी चलने का वादा करके उनके वोट पर निशाना साधा, इसके अलावा कांग्रेस ने मुस्लिम इलाकों में अहमद पटेल को वजीरे आजम बनाने का वादा करके मुस्लिम वोटों पर निशाना साधा.

इसके बाद जिहादियों, आतंकियों और पाकिस्तान-परस्तों के वोट लेने के लिए पाकिस्तान के पूर्व रक्षा मंत्री सरदार अरशद राफिक ने अहमद पटेल को अपना गुरु बताया ताकि ये लोग भी कांग्रेस को वोट दें.

इसके बाद बचे थे सामान्य जाती के लोग, यानी ऊंची जाती के लोग, आज उनके भी वोट लेने के लिए कांग्रेस पार्टी ने मणिशंकर अय्यर के जरिये मोदी को नीच बता दिया ताकि ऊंची जाति के लोग खुश हो जाएं.

पढ़ें कांग्रेस की प्लानिंग

गुजरात चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस पार्टी ने बहुत बड़ी प्लानिंग की है और मोदी को नीच बाताना इसी प्लानिंग का हिस्सा है. पहले ऐसा लगता था कि मणिशंकर अय्यर ने शायद गुस्से में मोदी को नीच और असभ्य बताया है लेकिन गहराई से सोचने पर ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने जान बूझकर मणिशंकर अय्यर से ऐसा बयान दिलवाया है, इसका सबूत इसी बात से मिल जाता है कि मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मुझे हिंदी भाषा आती ही नहीं है, अंगरेजी से ट्रांसलेट करने की वजह से Low का नीच हो गया.

आपको बता दें कि मणिशंकर अय्यर को अच्छी तरह से हिंदी आती है, वह इससे पहले भी मोदी को चायवाला, गंदी नाली का कीड़ा आदि बोल चुके हैं, हमेशा हिंदी में बातें करते हैं, अच्छी तरह हिंदी समझते हैं, मनमोहन सरकार में मंत्री रह चुके हैं, कई वर्षों तक राजदूत रह चुके हैं. 60 साल से ऊपर के हो चुके हैं, ऐसे में ये कहना कि मुझे नीच शब्द का मतलब नहीं पता, यह सरासर झूठ है.

क्यों बोला मोदी को नीच

मोदी को नीच बताने के पीछे कांग्रेस की बहुत बड़ी प्लानिंग है, दरअसल कांग्रेस पार्टी ने इससे पहले राहुल गाँधी को जनेऊधारी ब्राह्मण बताया है ताकि उन्हें ऊंची जातियों का वोट मिल जाए, अब उन्होंने मोदी को नीच बताकर ऊंची जाती के बचे खुचे वोटों को भी लेने का प्लान बनाया है.

पटेलों, OBC, दलितों और पंडितों के वोट पर नजर

आपको बता दें कि कांग्रेस इससे पहले अन्य जातियों के वोट लेने के लिए गोटी बिछा चकी है, हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मेवानी से गठबंधन करके पटेलों, OBC और दलितों के वोट फिक्स कर चुकी है, अब उसका मानना है कि अगर ऊंची जातियों के भी वोट मिल जाएंगे तो उसकी जीत निश्चित है, इसीलिए मोदी को जान बूझकर नीच बोला गया है.

इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि पटेलों को आरक्षण का वादा करने की वजह से सामान्य यानी अगड़े वर्ग के लोग बीजेपी के साथ थे लेकिन कांग्रेस सोच रही है कि अगर अगड़े भी बीजेपी से दूर हो जाएंगे तो बीजेपी को हरा दिया जाएगा, इसलिए मोदी को जान बूझकर नीच बोला गया है.

मुस्लिम वोटों पर भी नजर

मुस्लिम इलाकों में कांग्रेस पार्टी वाले एक पोस्टर शेयर कर रहे हैं जिसमें कांग्रेस को वोट देने पर अहमद पटेल को वजीरे आजम बनाने का वादा किया गया है, कांग्रेस ने ऐसा करके मुस्लिम वोट लेने की प्लानिंग की हुई है.

पाकिस्तान परस्तों-जिहादियों के वोटों पर भी नजर

आज पाकिस्तान के पूर्व आर्मी चीफ सरदार अरशद राफिक ने भी कांग्रेस को वोट करने की अपील की है, कांग्रेस ने ऐसा करके गुजरात में रह रहे पाकिस्तान परस्तों, जिहादियों और स्लीपर सेल के लोगों के वोट पर हाथ मारा है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: