Dec 25, 2017

बॉबी कटारिया के फेसबुक पर लाखों फॉलोवर, घरवाली ने रोरोकर की मदद की गुहार लेकिन कोई नहीं पहुंचा


bobby-kataria-sent-4-days-police-remand-no-one-help-social-media

गुरुग्राम: कुछ लोग फेसबुक के फॉलोवर को असली मानने लगते हैं, उन्हें लगता है कि उनके पेज को लाखों लोगों ने लाइक किया है इसलिए मुसीबत पड़ने पर लाखों लोग उनका साथ देने आ जाएंगे, युवक एकता फाउंडेशन के चीफ बॉबी कटारिया को भी ऐसा ही लगता था लेकिन यह उनकी बड़ी भूल साबित हुई क्योंकि मुसीबत में उनका साथ देने कोई आया ही नहीं.

कल बॉबी कटारिया ने गुरुग्राम के सेक्टर 10A और सेक्टर 9 के चौकी प्रभारियों को फेसबुक लाइव वीडियो में जमकर गालियाँ दीं जिसके बाद पुलिस वालों ने उन्हें रात में गिरफ्तार कर लिया. बॉबी कटारिया ने सोचा था कि मुसीबत में उन्हें लाखों लोग बचाने आ जाएंगे, यही सोचकर उन्होंने पुलिस वालों को लाइव वीडियो में खूब गालियाँ दीं.

बॉबी कटारिया को अपने फॉलोवर पर इतना विश्वास बहुत मंहगा पड़ा क्योंकि जब उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया तो उनके घरवालों को फेसबुक पर लाइव आना पड़ा और रो रो कर बॉबी को बचाने की गुहार करनी पड़ी, इसके बाद फिर से फेसबुक पेज पर कहा गया कि कोई एक आरसी और आईडी प्रूफ के साथ आ जाओ बॉबी कटारिया की जमानत करवाने के लिए.

पुलिसवाले भी बॉबी के पेज को देख रहे थे, उन्हें भी पता चल गया कि दरअसल युवा एकता नाम का संगठन अस्तित्व में है ही नहीं, यह सिर्फ फेसबुक पर है, पहले ऐसा लगता था कि हजारों लोग सेक्टर 9 थाने पर बॉबी को बचाने के लिए आ जाएंगे लेकिन ऐसा हुआ ही नहीं, वहां कोई नहीं पहुंचा, पुलिस वाले भी सोच रहे थे कि बॉबी के पीछे हजारों लोग होंगे लेकिन ऐसा नहीं था, सेक्टर 9 थाने पर दो चार लोगों के अलावा कोई आया ही नहीं, उनकी जमानत भी नहीं हो गयी और उन्हें चार दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

बॉबी कटारिया के बारे में पता चला है कि वह अपनी छबि चमकाने और सोशल मीडिया के माध्यम से पैसे कमाने के लिए वीडियो बनाते हैं। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक बॉबी अपनी छबि चमकाने के लिए पुलिस को निशाना बनाता था और बड़े बड़े पुलिस अधिकारीयों को गाली देता था। पुलिस के मुताबिक समाज में हर घर में, हर विभाग में अच्छे और बुरे लोग रहते हैं लेकिन पूरे परिवार और पूरे समाज को बदनाम करना अच्छी बात नहीं है। बॉबी पूरे डिपार्टमेंट को गाली ही नहीं धमकी भी देता था जिस कारण कई पुलिस अधिकारीयों का परिवार परेशान था।

अब पुलिस रिमांड के दौरान बॉबी से पुलिस क्या उगलवातीं है ये एक दो दिन में बता चलेगा लेकिन बॉबी ने जल्द चमकने के चक्कर में कुछ गड़बड़ कर दिया है और इसी बात की उन्हें सजा मिल रही है, लाखों समर्थक का दावा करने वाले बॉबी को आज जमानत करवाने वालों को ढूंढना पड़ रहा था। इस घटना से यह भी शिक्षा मिलती है कि सोशल मीडिया पर सपोर्ट करने वाले, पेज लाइक वालों पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं करना चाहिए।
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: