Nov 11, 2017

ऐसा क्या है मुज़फ्फरनगर फिल्म में जो जो रिलीज करने में DM साहब की फूल रही हैं साँसें, पढ़ें


why-muzaffarnagar-the-burning-love-movie-release-obstructed

निर्माता मनोज कुमार मंडी की चर्चित फिल्म मुजफ्फरनगर द बर्निंग लव 17 नवम्बर को रिलीज होने वाली है लेकिन फिल्म के निर्माता हरीश कुमार के अनुसार उनकी फिल्म को मुजफ्फरनगर में रिलीज से रोका जा रहा है, पिछले दो दिनों से शहर में लगे बैनर पोस्टर, हटाये जा रहे हैं और मुजफ्फरनगर के थियेटर वालों को धमकी दी जा रही है. इस फिल्म में देव शर्मा नायक बने हैं जबकि ऐश्वर्या देवान नायिका बनी हैं.

सेंसर बोर्ड ने पास की है फिल्म

निर्देशक ने कहा कि कहा कि सेंसर बोर्ड ने कुछ कट लगाने के बाद फिल्म को UA प्रमाणपत्र के साथ पास किया है और  फिल्म की तारीफ भी की है, जब सेंसर बोर्ड ने पास कर दिया तो मुजफ्फरनगर के DM को फिल्म को रोकने और बैनर पोस्टर हटाने का कोई अधिकार नहीं है, उनकी मेहनत और पैसे खर्च करके बनायी फिल्म को रोकने की कोशिश की जा रही है जो सही नहीं है. अगर कानून व्यवस्था खराब होगी तो वे कुर्सी पर क्यों बैठे हैं, कानून व्यवस्था संभालने की उनके जिम्मेदारी है.

क्या है इस फिल्म में, क्या डर रहे हैं DM

दरअसल यह 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगे पर बनी फिल्म है. निर्माता का कहना है कि दंगों के बारे में सभी लोगों ने सुना लेकिन यह किसी को नहीं पता कि दंगे क्यों हुए, दंगों को किसनें भड़काया, फिल्म की रिलीज के बाद दंगे भड़काने वाले एक्सपोज होंगे इसलिए अब सिस्टम का इस्तेमाल करके फिल्म की रिलीज में रोड़े डाल रहे हैं.

हिन्दू लड़का मुस्लिम लड़की

दरअसल दंगे की वजह यह थी कि एक हिन्दू लड़के देव मालिक को मुस्लिम लड़की सारा से प्यार हो जाता है. इस फिल्म में हीरो देव शर्मा का नाम देव मलिक है, देव मालिक दिल्ली में शूटिंग की ट्रेनिंग ले रहा होता है, उसका मकसद नेशनल शूटिंग चैम्पियनशिप जीतना है. छुट्टियों में वह अपने घर मुजफ्फरनगर आता है.

मुजफ्फरनगर आने पर उसे सारा नाम की मुस्लिम लड़की से प्यार हो जाता है, दोनों का मजहब अलग होता है इसलिए विवाद शुरू हो जाता है, विवाद इतना बढ़ जाता है साम्प्रदाईक दंगे का रूप ले लेता है, कुछ लोग वोट बैंक के लिए दंगों को बढाने का काम करते हैं, ऐसे लोग इस फिल्म में एक्सपोज होंगे।

देव शर्मा ने बताया अब तक देशवासियों के पास मुजफ्फरनगर दंगों की अधूरी सच्चाई पहुंची है लेकिन फिल्म देखने के बाद उन्हें पता चल जाएगा कि वास्तव में क्या हुआ था और किन लोगों की वजह से दंगे हुए थे. उन्होंने यह भी बताया कि फिल्म देखने के बाद लोग दंगों से और दंगा कराने वालों से दूर हटने लगेंगे क्योंकि उन्हें पता चल जाएगा कि दंगे क्यों और कैसे कराये जाते हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: