Nov 17, 2017

केक के जरिये उदाहरण देकर ठेले वाले ने बताया, गुजरात में कांग्रेस को वोट देना क्यों सही है, पढ़ें


why-congress-should-be-voted-in-gujarat-election-2017-in-video

गुजरात में इस बार मुख्य तौर पर सिर्फ दो राजनीतिक पार्टियाँ चुनावी मैदान में हैं - भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस. कांग्रेस ने हार्दिक, अल्पेश और जिग्नेश के सहारे चुनाव में पूरी ताकत लगा दी है, ऐसे में एक वीडियो जारी हुआ है जिसमें एक ठेले वाले ताऊ जी बता रहे हैं कि गुजरात में कांग्रेस को वोट देना क्यों सही होगा और कांग्रेस की सरकार बनने के बाद गुजरातियों को क्या क्या फायदे होंगे.

वीडियो में कुछ युवक कांग्रेस की बुराई कर रहे होते हैं तो ताउजी कहते हैं खबरदार कांग्रेस के बारे में कुछ कहा तो, दिया लेकर ऐसी ढूंढोगे तो भी ऐसी पार्टी नहीं मिलेगी जिसनें करोड़ों के घोटाले किये, खुद भी खाती है और दूसरों को भी खाने देती है, 84 के दंगे, गुजरात की माफियागिरी, कांग्रेस को वोटबैंक की राजनीति करने की थोड़ी बुरी आदत है, लेकिन पार्टी शत प्रतिशत सेक्युलर है.

ताउजी कहते हैं - पार्टी के जो युवराज हैं ना सॉलिड कॉमेडियन, बड़े बड़े कॉमेडियन भी उनके आगे पानी कम चाय हैं, लोगों को सवालों के जवाब चाहिए उन्हें जवाबों के सवाल चाहिए, उनके खिलाफ एक शब्द भी मत बोलना. ताउजी कहते हैं - कांग्रेस ने जातिवाद की राजनीति से सत्ता पाने की कला तो अंग्रेजों से सीखी है.

उन्होंने कहा - माधवसिंह सोलंकी की खाऊ नीति है ना उसका उत्तम उदाहरण खाम नीति, मतलब क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासी और मुस्लिम. इन चरों को समाज से अलग कर दो, डिवाइड एंड रूल, बाटों राज करो, 1985 में इसी नीति से गुजरात की एकता भले ही हार गयी लेकिन कांग्रेस पार्टी तो जीत गयी, ये तो मोदी आया उसके बाद एकता आयी गुजरात में वरना आती क्या.

उन्होंने कहा - मोदी ने अब सभी गुजरातियों को परेशान किया है, सरदार बल्लभभाई पटेल हों, मोरार जी देसाई हों या नरेन्द्र मोदी जी हों लेकिन दिल के सभी बहुत अच्छे हैं लेकिन कांग्रेस के बारे में एक शब्द मत बोलना.

उन्होंने कांग्रेस की खूबियों को गिनाते हुए कहा - पार्टी का सिर्फ नाम ही अंग्रेजी नहीं है बल्कि गुण भी अंग्रेजी हैं, फैमिली का ख़ास उसी का विकास, खुद भी खाओ और दूसरों को भी खाने दो, लेकिन मोदी जी ने क्या लगा रखा है सबका साथ सबका विकास, क्या ऐसा कहने से सरदार सरोवर डैम बन जाएगा, नर्मदा का पानी सौराष्ट्र कक्ष तक पहुंचेगा, बुलेट ट्रेन दौड़ने लगेगी, ठेंगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: