Nov 29, 2017

राहुल गाँधी का खुला धर्म-भेद तो खुश हो गए सुब्रमनियम स्वामी, बोले, सच हो गयी मेरी बात, पढ़ें


subramanian-swamy-told-rahul-gandhi-whole-family-is-christian

नई दिल्ली: लगभग एक महीने से गुजरात के कई मंदिरों में हिन्दू के भेष में पूजा पाठ करने वाले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की पूरी मेहनत आज सोमनाथ मंदिर में जाकर बेकार हो गयी जब उन्होंने गैर-हिन्दुओं के रजिस्टर में अपना नाम लिखवा दिया। जैसे ही मामले ने तूल पकड़ा, उनके बचाव में बड़े बड़े कांग्रेसी नेता उतर आये लेकिन बीजेपी नेता सुब्रमनियम स्वामी में सबका मुंह बंद कर दिया.

सुब्रमनियम स्वामी ने कहा कि - मैंने तो पहले ही बताया था कि यह पूरा परिवार ही इसाई है, दस जनपथ में इन्होने एक चर्च बनायी है, हर सन्डे को वहां पर प्रवचन होता है, राहुल गाँधी वहां पर जाता है, मुझे समझ में नहीं आता जब ये पूरा परिवार ही इसाई है, रॉबर्ट वाड्रा भी इसाई है, तो राहुल गाँधी खुद को इसाई बताने से डरता क्यों है.

सुब्रमनियम स्वामी ने कहा कि हमारे संविधान में तो सभी को चुनाव लड़ने का हक है, ये इसाई है तो भी इसे चुनाव लड़ने का हक है लेकिन इस परिवार में धोखेबाजी है, सोनिया गाँधी पढ़ी लिखी ही नहीं है लेकिन खुद को कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी का बताती है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज राहुल गाँधी गुजरात के सोमनाथ मंदिर गए थे, वहां का नियम है कि हिन्दुओं से बिना कोई सवाल पूछे प्रवेश दिया जाता है लेकिन गैर-हिन्दुओं को सुरक्षा डायरी में एंट्री करके और परमिशन के बाद ही मंदिर में आने की इजाजत है.

राहुल गाँधी अगर हिन्दू होते तो वह बिना गैर-हिन्दू रजिस्टर में एंट्री किये मंदिर के अन्दर जा सकते थे लेकिन वहां पर उन्हें अपना गोत्र बताना पड़ता, गैर-हिन्दुओं से कोई सवाल नहीं पूछा जाता, राहुल गाँधी हिन्दू होते तो वैसे ही अन्दर चले जाते और पूजा के समय अपना गोत्र बता देते लेकिन उन्होने गैर हिन्दू रजिस्टर में एंट्री करना अधिक उचित समझा जिसके बाद खबर फ़ैल गयी कि राहुल गाँधी हिन्दू नहीं है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. नहुत बढ़िया जानकारी धर्मेन्द्र प्रताप सिंह जी !

    ReplyDelete