Nov 28, 2017

आँख मूंदकर अधिकारियों पर भरोसा करना पड़ा मंहगा, मोदी की PM आवास योजना में भी लूट शुरू, पढ़ें


scam-started-in-pm-awas-yojna-in-madhya-pradesh-by-officers

नई दिल्ली: भारत में भ्रष्टाचार का जहर इतना अंदर तक घुस चुका है कि लोग सुधरने का नाम ही नहीं ले रहे हैं, नौकरशाही पूरी तरह से भ्रष्ट हो चुकी है, मोदी सरकार ने ना खाऊंगा और ना खाने दूंगा का नारा दिया था लेकिन अब मोदी की योजनाओं में भी अधिकारियों ने खाना शुरू कर दिया है. मोदी सरकार ने इन अधिकारियों पर आँख मूंदकर भरोसा किया था लेकिन अब ऐसा करना मंहगा पड़ रहा है.

आपको बता दें की केंद्र सरकार की कई बड़ी योजनाओं में अरबों खर्च होते हैं लेकिन अब अधिकतर योजनाओं में अधिकारी फर्जीवाड़े कर रहे हैं। प्रधानमंत्री आवाज योजना में भी ऐसा ही फर्जीवाड़ा हो रहा है।

एक जानकारी के मुताबिक़ कुछ लोग इस योजना के तहत पैसे लेकर मकान के सामने वाले हिस्से को बनवा कर उसपर रंगाई पोताई करवा उसकी तस्वीर अधिकारियों को भेज देते हैं और अधिकारी पैसे पास कर देते हैं जबकि मकान का पिछला हिस्सा बना ही नहीं है और इस तरह सरकारी पैसे ले लिए जा रहे हैं। 

मध्य प्रदेश से कई ऐसे मामले आये हैं जहाँ मकान के अगले हिस्से की फोटो वेबसाइट पर लोड कर पैसे ले लिए गए हैं जबकि मकान अब तक बने ही नहीं हैं और यहाँ तक कि कागजों पर कई घर बनाकर उसके गृह प्रवेश भी करवा दिए गए हैं। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले के बैहर जनपद पंचायत के गढ़ी क्षेत्र में सैकड़ों आवास बगैर छत के ही शासकीय रिकॉर्ड में पूर्ण हो गए हैं। 

कुछ ऐसे आवास भी शासन के दस्तावेजों में पूर्ण दर्ज हो चुके हैं, जिनकी अभी नींव तक नहीं खुदी है। उकवा पौण्डी और पाण्डूतला ग्राम पंचायत तक अमूमन सभी पंचायतों में ऐसे प्रधानमंत्री आवास बनाए जा रहे हैं। जिनमें सिर्फ रंग-बिरंगी दीवारें खड़ी हैं। जनपद पंचायत के आला अधिकारियों ने आवास को स्वयं के द्वारा निरीक्षण किया जाना बताया है। कई घर बन भी गए हैं तो उनमे जानवर बंधे हैं। ऐसे कई अन्य राज्यों में भी गड़बड़झाले हो रहे हैं।
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: