Nov 26, 2017

गुजरात में गरीबों को दारू से खरीदना चाहती थीं पार्टियाँ लेकिन पुलिस ने पकड़ ली करोड़ों की शराब


gujarat-police-ceased-rs-22088000-foreign-made-wine-before-election
Photo Credit ANI
अहमदाबाद: चुनाव जीतने के लिए राजनीतिक पार्टियाँ कुछ भी करने को तैयार रहती हैं, जातिवाद का जहर बोती है, एक को दूसरे से अलग करती हैं, भाईचारा बिगाड़ने के काम करती हैं और कुछ नेता तो दारू से जनता को खरीदने की कोशिश करते हैं और गरीबों को खूब दारू बांटते हैं, ऐसे नेता और राजनीतिक पार्टियाँ जनता को दारू से खरीदने की कोशिश करती हैं.

गुजरात में दारू पर बैन है इसके बावजूद भी वहां पर करोड़ों रुपये की शराब पकड़ी गयी है, जानकारी के मुताबिक़ गुजरात पुलिस ने गांधी नगर में भारी मात्रा में शराब जब्त किया है। रिपोर्ट के अनुसार भारत में बनी विदेशी शराब जिसकी कीमत दो करोड़ 20 लाख 88 हजार है, 5 वाहनों से बरामद किया गया है। आशंका जताई जा रही है कि चुनावों के लिए ये शराब लाई गई थी। जांच जारी है।

आपको बता दें कि चुनाव कोई भी हो बिना शराब के संपन्न नहीं होते। नेता शराब बांटते हैं और जनता गटकती है और कुछ स्लम बस्तियों में तो चुनावों के समय कुछ लोग वोटों के ठेकेदार बन जाते हैं और सभी पार्टियों से दारू लेते हैं लेकिन वोट किसी एक पार्टी को ही दिलवाते हैं।
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: