Oct 25, 2017

ताजमहल पहले शिव मंदिर था इसलिए वहां पर शिव चालीसा पढ़ना सही: विनय कटियार


vinay-katiyar-told-taj-mahal-shivmandir-shiv-chaleesa-padhna-sahi

ताज महल पर राजनीत ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही है, बीजेपी सांसद विनय कटियार ने कुछ दिनों पहले ताज महल को पुराना शिव मंदिर बताया था, उन्होंने कहा था कि पहले यहाँ पर विशाल शिव मंदिर था लेकिन शाहजहाँ से मंदिर को तोड़कर वहां पर मजार बनवा दी, हालाँकि शिवलिंग को वहां से हटाकर ऊपर रख दिया गया, आज भी शिवलिंग से बूँद बूँद परके पानी गिरता है जो इस बात का सबूत है कि ताज महल पहले शिव मंदिर था.

विनय कटियार की बात मानकर हिन्दू युवा वाहिनी और बजरंग दल के कुछ युवक कल ताज महल के बाहर शिव चालीसा पढने बैठ गए, ये लोग शिव चालीसा पढ़ ही रहे थे कि पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

विनय कटियार ने शिव चालीसा पढने वाले युवाओं का बचाव करते हुए कहा कि जब ताज महल पूर्व में शिव मंदिर था तो वहां पर शिव चालीसा पढ़ना गलत कैसे हो सकता है. इसकी निंदा करना गलत है.

विनय कटियार के बयान पर विपक्षी नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेसी नेता राज बब्बर ने कहा कि चाहे बजरंग दल हो, आरएसएस हो, ये लोग सुर्ख़ियों में रहने के लिए उलूल जुलूल काम करते रहते हैं, यह बहुत ही घटिया काम है, इन लोगों की हालत सही नहीं है, हम जय शाह की बात करते हैं तो ये शाह जहाँ की बात करते हैं. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल ताज महल का दौरा करने वाले हैं, वे ताज महल और आगरा की अन्य धरोहरों का दौरा करके टूरिज्म का विकास करने वाली कुछ योजनाओं की घोषणा करेंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: