Oct 19, 2017

अखिलेश ने रुकवा दी थी अयोध्या की 14 कोसी परिक्रमा, योगी ने श्री राम को अयोध्या में बुला लिया


akhilesh-yadav-stopped-14-kosi-ayodhya-parikrama-yogi-call-ram

उत्तर प्रदेश में इससे पहले पांच साल तक समाजवादी पार्टी की सरकार थी और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे, विश्व हिन्दू परिषद ने 25 अगस्त 2013 से अयोध्या की 14 कोसी परिक्रमा शुरू करने का ऐलान किया था लेकिन अखिलेश यादव की सरकार ने सुरक्षा और साम्प्रदाईक तनाव का हवाला देकर यह परिक्रमा रुकवा दी, अयोध्या में धारा 144 लगाकर विश्व हिन्दू परिषद् के 70 नेताओं को गिरफ्तार करवा दिया.

गिरफ्तार किये गए नेताओं में विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष अशोक सिंघल, राम विलास वेदांती और प्रवीण तोगड़िया भी थे . ये लोग अयोध्या में आ चुके थे इसलिए इनको गिरफ्तार कर लिया गया जबकि अन्य नेताओं की एंट्री को बैन कर दिया गया. ऐसा लग रहा था कि ये लोग भारतीय नहीं बल्कि आतंकवादी हों, सपा सरकार ने एक धर्म के तुस्टीकरण के लिए राज्य में साम्प्रदाईक तनाव का माहौल बना दिया था, उस वक्त शासन व्यवस्था इनके हाथ में ही नहीं थी.

लेकिन योगी सरकार की शासन व्यवस्था देखिये, कल उन्होने एक लाख से अधिक संतों को अयोध्या बुलाया, श्री राम, सीता और लक्ष्मण का स्वागत समारोह आयोजित किया, दीपोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया, लाखों लोग अयोध्या आये और श्री राम का दर्शन किया, दीपोत्सव में भाग लिया, सब कुछ एकदम शांति के साथ निपट गया. कभी से भी कोई गलत खबर नहीं आयी.

मतलब योगी ने अखिलेश यादव को दिखा दिया कि सरकार कैसे चलाते हैं, प्रशासन को कैसे हैंडल करते हैं, लोगों की आस्था का कैसे सम्मान करते हैं और सबको साथ लेकर कैसे चलते हैं. सपा ने एक धर्म के लोगों को खुश करने के लिए 14 कोसी परिक्रमा रुकवा दी थी लेकिन योगी तो स्वयं राम को लेकर ही अयोध्या आ गए.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: