Oct 15, 2017

पटाखों के लिए अबकी बार दिल्ली-एनसीआर के बॉर्डर पर लगेगा मेला, चारों तरफ सजेंगी दुकानें


this-diwali-patakha-traders-will-sale-patakha-on-border-of-delhi-ncr

सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर दिल्ली और एनसीआर में पटाखा विक्री पर रोक लगा दी है लेकिन ना तो पटाखा जलाने पर रोक है और ना ही दूसरे जिलों से पटाखा खरीदकर लाने पर रोक है, जानकारी के मुताबिक बैन के बाद भी ना तो पटाखा व्यापारी मानने को तैयार हैं और ना ही पटाखा जलाने वाले सुप्रीम कोर्ट का निर्णय मानने को तैयार हैं क्योंकि हर इंसान को पता है कि पटाखा जलाना खतरनाक है, पटाखों से धुंवा होता है, शरीर जलने का खतरा रहता है इसके बावजूद भी लोग पटाखे जलाते हैं.

इस बार भी लोग पटाखे जलाएंगे लेकिन पटाखा खरीदने के लिए उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ेगी, दिल्ली वालों को पटाखा लाने के लिए बॉर्डर पर जाना पड़ेगा, इस बार दिल्ली के सभी पटाखा व्यापारी अपने पटाखे बॉर्डर पर ले जाएंगे वहीँ पर दुकानें लगाकर बेचेंगें. पटाखा खरीदने वाले भी बॉर्डर पर जाएंगे, ऐसा लग रहा है कि इस बार बॉर्डर पर पटाखों का मेला लगेगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिन्दू लोग पटाखा बैन से नाराज हो रहे हैं जबकि मुस्लिम लोग खुश हो रहे हैं, सभी टीवी चैनल वाले डिबेट में हिन्दू और मुस्लिम प्रवक्ताओं को जरूर बुलाते हैं, सभी टीवी डिबेट में मुस्लिम प्रवक्ता हमेशा पटाखों का विरोध करता है, पर्यावरण की बात करता है जबकि बकरा-ईद की बात आते ही उसे सांप सूंघ जाता है. टीवी डिबेट सुनकर हिन्दू लोग और नाराज हो जाते हैं इसलिए अबकी बार सुप्रीम कोर्ट के आदेश को दरनिकार करते हुए सभी ने पटाखा जलाने का निर्णय लिया है.

यह भी हो सकता है कि अबकी बार पहले से भी अधिक पटाखे जलाएं जाँय क्योंकि अबकी लोग सुप्रीम कोर्ट पर गुस्सा निकालने के लिए पहले से अधिक पटाखे जलाएंगे भले ही उन्हें पटाखे लाने के लिए पथुरा या पानीपत जाना पड़े. अगर ऐसा हुआ तो सुप्रीम कोर्ट को धर्म पर चोट करने के लिए बड़ा सबक मिलेगा और बैन लगाने की आदत छोड़ देगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: