Oct 9, 2017

बहुत चालाक निकले मी-लार्ड लेकिन लोग रिश्वत देकर बेचेंगे पटाखे, पुलिस वालों का बढ़ा काम


supreme-court-ban-sell-of-fire-crackers-on-diwali-in-delhi-ncr

सुप्रीम कोर्ट ने आज पटाखों पर महत्वपूर्ण फैसला सुनाया है जिसके अनुसार दिवाली पर दिल्ली और NCR में पटाखों की विक्री पर बैन रहेगा. इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने चालाकी दिखाते हुए पटाखे जलाने को मंजूरी दी है ताकि लोग ये ना कह सकें कि सुप्रीम कोर्ट ने हिन्दुओं के साथ अन्याय किया है. लेकिन हर आदमी समझ सकता है कि जब पटाखे बिकेंगे ही नहीं तो लोग जलाएंगे कहाँ से.

आपको बता दें कि दीवाली का त्यौहार 19 अक्टूबर को है, पटाखों की विक्री पर 30 नवंबर तक के लिए रोक लगा दी गयी है. 1 नवंबर को पटाखों की विक्री दोबारा शुरू हो जाएगी. अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पटाखों की वजह से दिल्ली का प्रदुषण बढ़ जाता है, इस बार यह देखा जाएगा कि पटाखों पर बैन से प्रदुषण पर क्या प्रभाव पड़ता है.

बढेगा भ्रष्टाचार, बढ़ेगी रिश्वतखोरी 

आपको बता दें कि हर दीवाली पर दिल्ली NCR में करीब 50 हजार करोड़ रुपये के पटाखे फोड़ दिए जाते हैं जिसके बाद प्रदुषण बहुत बढ़ जाता है, लोगों को भी यह मालूम ही लेकिन लोग पटाखे जरूर फोड़ते हैं. इस बार भी लोग पटाखे फोड़ेंगे, लगभग सभी दुकानदारों ने पटाखे खरीदकर रख लिए हैं, अगर उन्होंने पटाखों की विक्री नहीं की तो उन्हें बहुत नुकसान होगा इसलिए लोग चोरी छुपे पटाखे जरूर फोड़ेंगे.

सुप्रीम कोर्ट को दो-तीन महीनें पहले ही ऐसा आदेश देना था ताकि दुकानदार पटाखे ही ना खरीद पाते, अब खरीदकर रख लिए हैं तो पुलिस वालों को या तो घूस देंगे, या चोरी छिपे अपने घर में पटाखे बेचेंगे या कोई अन्य जुगाड़ ढूंढेंगे. मतलब भ्रष्ट पुलिस अफसरों की मौज आ गयी है जबकि इमानदारों पुलिस अफसरों का भागते भागते बुरा हाल हो जाएगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: