Oct 30, 2017

घर वाले बोले हासिम और साथियों ने किया गैंगरेप, डॉक्टर बता रहे एक्सीडेंट, अभी भी UP में गुंडाराज


radha-gangrape-in-agra-up-medical-report-claimed-accident-news

उत्तर प्रदेश पूर्व में गुंडा-राज के नाम से जाना जाता रहा है, बीजेपी वाले खुद दावा करते थे कि पुलिस सिर्फ गुंडों के इशारे पर काम करती है, गुंडों ने पुलिस थानों को अपना अड्डा बना लिया है, गुंडे बोलते हैं तभी FIR दर्ज होती है, अगर गुंडे मना करते हैं तो पुलिस भी FIR दर्ज नहीं करती.

BJP की बात को सच मानकर यूपी के लोगों ने सपा को हटाकर बीजेपी की सरकार बना दी, योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बन गए, उसके बाद लोगों ने सोचा कि पुलिस सुधर जाएगी, गुंडे बदमाश डरने लगेंगे लेकिन अभी ऐसा होता नहीं दिख रहा है क्योंकि उत्तर प्रदेश में अभी भी गुंडाराज चल रहा है.

आगरा में एक युवती राधा का कॉलेज से बाहर अपरहरण कर लिया जाता है, घायल अवस्था में उसे फेंक दिया जाता है, परिवार वाले बता रहे हैं कि उसके साथ गैंगरेप हुआ है लेकिन मीडिया रिपोर्ट में डॉक्टरों ने इसे एक्सीडेंट बताया है.

पिता के मुंह से सुने पूरी घटना

23 अक्टूबर को मेरी बेटी राधा कॉलेज गयी थी, उसके बाद हमें 2-3 बजे पता चला कि वह जीवन रेखा अस्पताल में गंभीर रूप से घायल है, हमने पुलिस में FIR की, पुलिस ने एक लड़के (हासिम) को अरेस्ट किया, लड़की की हालत बहुत गंभीर है. इतने दिनों से वह बहुत परेशान है, तड़प रही है, हम उसे सरकारी मेडिकल कॉलेज में ले गए, वहां पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई, ना उसका ढंग से इलाज हुआ, अब हम प्राइवेट अस्पताल में उसका इलाज करवा रहे हैं. बच्ची की उम्र 21 साल है.

अगर एक्सीडेंट हुआ है तो कपडे कैसे बदल गए


सरकारी अस्पताल ने मेडिकल कॉलेज में एक्सीडेंट की बात कही है लेकिन परिजनों का कहना है कि मेरी बेटी जो ड्रेस पहनकर गयी थी वह उसके शरीर पर नहीं है, अगर एक्सीडेंट हुआ है तो उसके कपडे कैसे बदल गए, उन्होंने सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों पर मिलीभगत का आरोप लगाया है, पुलिस पर भी मामले को दबाने का आरोप लगाया जा रहा है.

3 अंजान लोग अस्पताल में घुसे आधी रात

परिजनों के बताया है कि आज रात में 3 अनजान लड़के अस्पताल में घुसे थे और राधा का पता लगाने की कोशिश कर रहे थे, वे लगो राधा की हत्या के इरादे से आये थे, पुलिस ने राधा को कोई सुरक्षा नहीं दी है, उसके साथ कुछ भी हो सकता है.

क्या महिला सुरक्षा का दिखावा कर रही है योगी सरकार

इस मामले पर परिजनों ने योगी सरकार पर महिला सुरक्षा के नाम पर दिखावा करने का आरोप लगाया है, परिजनों का कहना है कि उसके साथ गैंगरेप हुआ है लेकिन सरकारी अस्पताल उसे एक्सीडेंट बता रही है, उसके शरीर पर खंरोच के निशान हैं, ऐसा लग रहा है कि पुलिस, प्रशासन और अस्पताल अभी भी गुंडों के कब्जे में हैं जो उनसे मनमानी काम करवा रहे हैं.

कहाँ की है ये घटना

यह घटना आगरा के बैकुंडी देवी महा विद्यालय की छात्रा राधा के साथ हुई है, स्कूल जा रही छात्रा राधा का  23 अक्टूबर को कुछ लोगों ने अपहरण कर लिया और अपने साथ ले गए. समय से घर ना आने पर घर वालों ने उसे तलाशना शुरू कर दिया, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला, उसी दिन करीब 3 बजे पड़ोसी के पास फोन आया कि राधा नाम की लड़की भर्ती है जब परिजन वहाँ पहुंचे तो लड़की के शारीर पर चोटों के निशान थे.

परिजनों का कहना है कि राधा के पास अस्पताल में हासिम पुत्र रमजानी निवासी ख्वाजा सारे मौके पर मौजूद था परिजनों ने इसकी सूचना शाहगंज पुलिस को दी, पुलिस को मौके पर पहुँचते देखकर हासिम के परिजन फरार हो गए, पुलिस ने हासिम को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया लेकिन उसके खिलाफ कोई ठोस मामला दर्ज नहीं किय़ा है. 

पुलिस कर रही है गुमराह

पीडिता के परिजनों ने आरोप लगाया है कि शाहगंज-आगरा की पुलिस उन्हें गुमराह कर रही है और मामले को दबाना चाहती है लेकिन पीडिता के पिता का कहना है कि उन्हें शक है कि उनकी बेटी के साथ गैंग रेप हुआ है और उसे मारने की कोशिश की गई है लेकिन पुलिस इसे एक एक्सीडेंट बता रही है इसी के चलते आज पीड़ित परिवार ने एसएसपी से मुलाकात कर ज्ञापन सोंपा है वंही एसएसपी ने जाँच कर कार्यवाही करने की बात कही है अब देखना है कि  पुलिस कब तक इस मामले की जाँच कर पाती है और छात्रा न्याय मिलेगा या नहीं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: