Oct 31, 2017

मोदी बोले, सरदार पटेल को इतिहास में मिटाने और भुलाने की कोशिश की गयी, लेकिन मैं हूँ ना


pm-narendra-modi-tribute-sardar-patel-on-birth-anniversary-news

आज राष्ट्रीय एकता दिवस है, आज के ही दिन भारत की सभी रियासतों को एक सूत्र में पिरोकर एक भारत बनाने वाले सरदार बल्लभभाई पटेल का जन्मदिन है, मोदी सरकार ने दिन को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाती है और रन फॉर यूनिटी का प्रोग्राम भी आयोजित किया जाता है.

मोदी ने आज सरदार बल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि पूर्व में सरदार पटेल को भुलाने की कोशिश की गयी, उन्हें इतिहास से मिटाने की कोशिश की गयी लेकिन वह देश के बेटे को भूलने नहीं देंगे.

मोदी ने एक वीडियो सन्देश में कहा - 31 अक्टूबर भारत के महापुरुष सरदार पटेल का जन्मदिन है, उन्होंने भारत की एकता को ही अपना मंत्र बनाया था, उन्होंने खुद को भारत के लिए जीकर दिखाया था. उन्होंने एक ही लक्ष्य निर्धारित कर लिया था और उसी लक्ष्य की तरफ निरंतर बढ़ते ही गए.

मोदी ने कहा कि देश को एक करने का कार्य सिर्फ वही कर सकते थे, उन्होंने एक ऐसे राष्ट्र की परिकल्पना की जिसमें सभी लोग समान हों, उन्होंने कहा था कि जाति और पंथ का कोई भेद हमें रोक ना सके, बेटे और बेटियों, सभी को अपने देश से प्यार करना चाहिए. आपस में प्रेम और भाईचारा बनाकर रहना चाहिए.

मोदी ने कहा कि सरदार पटेल जी का यह कथन आज भी हमारे न्यू इंडिया के लिए प्रेरक है और प्रासंगिक है, यही कारण है कि उनका जन्मदिन राष्ट्रीय एकता के रूप में मनाया जाता है, देश की अखंडता में योगदान देने में उनका योगदान अतुलनीय है. मोदी ने इस अवसर पर दिल्ली में रन-फॉर-यूनिटी को हरी झंडी दिखाई, इस अवसर आर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और खेल मंत्री राज्य वर्धन सिंह राठौर भी मौजूद थे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: