Oct 4, 2017

PM MODI ने ताकतवर पंच से सबको धो डाला, विरोधियों-आलोचकों को बता दिया महाभारत का शल्य, पढ़ें


pm-narendra-modi-told-opposition-leader-critics-mahabharat-shalya

पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी के नेता अर्थव्यवस्था पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साध रहे थे, आश्चर्य तो तब हुआ जब बीजेपी के भी दो नेता कांग्रेस के सुर में सुर मिलाने लगे और मीडिया में मोदी सरकार के खिलाफ बयान देने लगे. बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार पर देश की अर्थव्यवस्था तबाह करने और सबको गरीब बनाने का आरोप लगाया तो अरुण शौरी ने नोटबंदी को सबसे बड़ी मनी लौन्डरिंग स्कीम बता दिया और GST को फेल बता दिया.

आज प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ताकतवर पंच से विरोधियों और आलोचकों को करारा जवाब दिया और उन्हें महाभारत का शल्य बता दिया.

मोदी ने कहा कि महाभारत में ही एक और किरदार थे, शल्य का नाम सबने सुना होगा, ये कर्ण के सारथी थे, जिस प्रकार अर्जुन के सारथि कृष्ण थे, उसी प्रकार से कर्ण के शारथी शल्य थे लेकिन ये शल्य युद्ध में दूसरों को हतोत्साहित करने का काम करते थे, वे कहते थे, इससे क्या लड़ोगे, तुम्हारे पास तो कोई दम नहीं है, तुम्हारे घोड़े में दम नहीं है, तुम्हारे रथ में दम नहीं है, उनका बस यही काम था.

मोदी ने कहा कि ऐसा नहीं है कि शल्य सिर्फ एक इंसान है, शल्य एक प्रवित्ति है, ऐसा नहीं है कि यह प्रवित्ति सिर्फ महाभारत में ही नहीं थी, यह प्रवित्ति आज भी है. आज भी कुछ लोग कह रहे हैं - कुछ नहीं होगा, कैसे करोगे, हमारे अन्दर दम नहीं है, जब ये डोकलाम हुआ तो घबरा गए.

ये लोग इतने निराश हैं कि कहते हैं - कुछ नहीं कर सकते, हमारा कुछ नहीं हो सकता. कुछ लोगों को निराशा फैलाने में बड़ा आनंद आता है. ऐसा करने से उनको बहुत अच्छी नींद आती है, ऐसे लोगों के लिए आजकल एक क्वार्टर की ग्रोथ कम होना जैसे सबसे बड़ा खुराक मिल गया है.

मोदी बोले कि ऐसे लोगों को पहचानने की आवश्यकता है, ऐसे लोगों को जब डाटा अनुकूल होते हैं तो इन्हें संस्था भी सही लगती है और प्रोसेस भी सही लगता है लेकिन जैसे ही डाटा इनकी सोच के विपरीत होता है इन्हें संस्था भी बुरी लगती है और प्रोसेस भी बुरा लगता है, ये भाँती भाँती के आरोप लगाते हैं, संस्था को ही गलत बताने लगते हैं. इसलिए किसी भी नतीजे पर पहुँचने से पहले इन लोगों को पहचानना बहुत जरूरी है. जब तक हम शल्य की प्रवित्त को नहीं जानेंगे हम सत्य नहीं जानेंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: