Oct 27, 2017

15 दिन में जेल में डालने का वादा करके चुनाव जीता, अब बोले, हम नहीं कर सकते मजीठिया को अरेस्ट


panjab-cm-amarinder-singh-said-we-cant-arrest-vikram-singh-majithia

पंजाब चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने ड्रग समस्या को मुख्य मुद्दा बनाया था, कांग्रेस के लोग अकालियों पर नशे के व्यापार में शामिल होने का आरोप लगा रहे थे, कांग्रेस ने चुनावी वादे में कहा था कि सरकार बनाने के सिर्फ 15 दिनों के अन्दर सुखबीर सिंह बादल के साले विक्रम सिंह मजीठिया को गिरफ्तार करके जेल में डाल देंगे और और पंजाब में नशे की समस्या ख़त्म कर देंगे।

लेकिन सरकार बनाने के 6 महीनें के बाद भी कांग्रेस सरकार कुछ नहीं कर पायी है, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हम मानते हैं कि विक्रम सिंह मजीठिया दोषी हैं और कई अन्य अकाली भी इसमें शामिल हैं लेकिन हम उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकते, हम जाँच में जरूर सहयोग करेंगे। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की पंजाब में ड्रग का 6000 करोड़ का अवैध व्यापार है जिसकी जांच प्रवर्तन निदेशालय (ED) कर रहा है. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा हम ED की जांच में सहयोग करेंगे।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय इंटरनेशनल सिंथेटिक ड्रग केस में पहले विक्रम सिंह मजीठिया को पूछताछ के लिए समन कर चुका है.

विक्रम सिंह मजीठिया अकाली-बीजेपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं.

विक्रम सिंह मजीठिया का नाम इस मामले में तब आया था जब पंजाब पुलिस ने एक कनाडियन नागरिक को गिरफ्तार किया था. पूछताछ में उसनें खुलासा किया था कि मेडिकल सेक्टर से रसायनों को परिवर्तित किया जाता है जिसके बाद इसे ड्रग रैकेट के बाद भेजा जाता है.

कनाडा से केमिकल को तस्करी करके लाया जाता है जिसे चीन और वियतनाम के लोगों द्वारा सिंथेटिक ड्रग में परिवर्तित किया जाता है.

रैकेट का पर्दाफाश करने के बाद कुछ लोगों ने बताया था कि उनके गिरोह की मदद पंजाब के अकाली दल के युवा नेता ने की थी, कुछ अन्य अकाली नेता भी इसमें शामिल थे. बाद में पता चला कि युवा नेता कोई और नहीं बल्कि उप-मुख्यमंत्री सुखबीर बादल के साले विक्रम सिंह मजीठिया हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: