Oct 23, 2017

जातिवाद की राजनीति करने वाले टुच्चे नेताओं को हाईलाइट करने से और बढेगा जातिवाद का जहर


nikhil-savani-caste-politics-media-high-light-could-be-dangerous

गुजरात में मीडिया जातिवाद की राजनीति करने वाले टुच्चे नेताओं को भी बहुत हाई लाइट कर रही है जिसकी वजह से हिन्दू समाज को आगे बहुत नुकसान होने वाला है, जातिवादी राजनीति करने वालों को बढ़ावा देने से आपसी भाईचारा कम होगा, कलह बढ़ेगी और देश को नुकसान होगा. मीडिया इस वक्त सिर्फ जातिवाद की राजनीति करने वाले नेताओं को जायदा से ज्यादा हाईलाइट कर रही है, ऐसा लग रहा है कि गुजरात में कोई अन्य नेता है ही नहीं.

उदाहरण के लिए अल्पेश काकोर OBC जाति के नाम पर राजनीति करते हैं जबकि निखिल सवानी पटेलों के नाम पर राजनीति करते हैं, मीडिया दोनों को ऐसे हाई लाइट कर रही है जैसे कि ये दोनों कोई भगवान या महापुरुष हैं.

TRP की खातिर मीडिया के इस कारनामे से जातिवाद की राजनीति करने वाले युवा नेताओं का उत्साह बढेगा, सभी अपनी अपनी जाति के लोगों को आरक्षण, नौकरी, विकास के नाम पर भड़काना शुरू कर देंगे, हिन्दुओं में OBC, दलित, पटेल, सामान्य, अगड़े-पिछड़ों में भेदभाव शुरू होगा जिसकी वजह से समाज को नुकसान होगा.

पटेल जाति के लोगों के नाम पर राजनीति करने वाले हार्दिक पटेल को मीडिया ने गुजरात का बड़ा नेता बना दिया, OBC के नाम पर राजनीति करने वाले अल्पेश काकोर को मीडिया ने बड़ा नेता बना दिया, दलितों के नाम पर राजनीति करने वाले जिग्नेश मेवानी को मीडिया ने बड़ा हीरो बना दिया और अब पटेलों के नाम पर ही राजनीति करने वाले निखिल सावनी को मीडिया अत्यधिक हाई लाइट कर रही है जबकि ये बिकने वाले लोग हैं, आज इस पार्टी के हाथों बिक जाते हैं, कल उस पार्टी के हाथों बिक जाते हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: