Oct 14, 2017

गौ-मांस के साथ बिट्टू बजरंगी ने 5 को पकड़ा, मीडिया इन्हें बता रही गुंडा लेकिन ये है असलियत


faridabad-gau-rakshak-news-bittu-bajrangi-cought-5-gau-taskar

फरीदाबाद: फरीदाबाद के गौरक्षक बिट्टू बजरंगी गौमाता की रक्षा के लिए हमेशा जान देने को तैयार रहते हैं, कल इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि फरीदाबाद में गौ-हत्या और गौ-तस्करी रुकने का नाम ही नहीं ले रही है, उन्होंने अब तक कई गौ-हत्यारों को गौ-मांस के साथ पकड़ा है. उन्होंने बताया कि अब तक जितने भी लोगों को पकड़ा है वे सभी के सभी मुसलमान थे.

उन्होंने कहा कि हम गौ-माँ की पूजा करते हैं, लेकिन मुसलमान उन्हें मारकर खा रहे हैं, हम चाहते हैं कि भाई चारा बना रहे लेकिन वे हमारी गौ-माँ को ही मारकर खा रहे हैं तो भाई चारा कैसे बनेगा. उन्होंने कल पाली के नजदीक बाजड़ी के पास पांच मुसलमान लड़कों को संदिग्ध गौ-मांस के साथ पकड़ा और दो चार हाथ लगाकर पुलिस को दे दिया. उन्होंने बताया कि तस्कर लड़के सुबह 5 बजे ऑटो में भरकर गौ-मांस ले जा रहे थे लेकिन उन्होंने पहरा देते समय उन्हें पकड़ लिया. बिट्टू और उनकी टीम ने गौ-तस्करों को जल्द ही काबू में कर लिया हालाँकि दो लोग भागने में कामयाब रहे.

पकड़े गए गौ-तस्करों के नाम और पता

अहसान पुत्र जान मुहम्मद (3 नंबर फरीदाबाद)
शहजाद पुत्र जान मुहम्मद  (3 नंबर फरीदाबाद)
आजाद  (3 नंबर फरीदाबाद)
शकील पुत्र पप्पू (पिंजोर फरीदाबाद)
सोनू पुत्र शरीफ (फतेहपुर फरीदाबाद)

बिट्टू बजरंगी को मीडिया बता रही गुंडा लेकिन ये हैं हीरो

पहलवान बिट्टू बजरंगी जिन्होंने गौ-रक्षा के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर रखा है, उन्होंने शादी भी नहीं की, परिवार भी नहीं बसाया, वे पहलवानी में कई राष्ट्रीय और राज्य स्तर के अवार्ड भी जीत चुकेहैं, वे चाहते तो परिवार बसा सकते थे लेकिन उन्होंने आजीवन अविवाहित रहकर गौ-रक्षा का प्रण लिया है और रात रात भर जागकर वे गौ-रक्षा करते हैं.

कल उनकी गौ-तस्करों के साथ हाथापाई हुई लेकिन मीडिया ने बिना सच्चाई जाने उन्हें गुंडा बताना शुरू कर दिया है, टीवी चैनल वाले यह सब अपनी TRP के लिए कर रहे हैं लेकिन मीडिया की ख़बरों से बिट्टू बजरंगी दुखी हैं. उन्होंने कहा कि हम लोग रात रात भर जागकर गौ-माता की रक्षा करते हैं, गौ-तस्करों सी लोहा लेते हैं लेकिन मीडिया वाले हमें गुंडा बता रहे हैं. बिट्टू बजरंगी ने बताया कि कुछ वर्ष पहले गौ-तस्करों ने उनपर गोली भी चलायी थी लेकिन वे बच गए थे. उसी समय उन्होंने प्रण ले लिया था कि अब जीना है तो सिर्फ गौ-रक्षा के लिए.

देखें बिट्टू बजरंगी का पूरा इंटरव्यू

नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: