Oct 17, 2017

ताजमहल को मनाने के लिए 25 अक्टूबर को योगी आदित्यनाथ जाएंगे आगरा, पोछेंगे आंसू


cm-yogi-adityanath-will-visit-agra-taj-mahal-on-25-october-2017

ताजमहल बहुत दुखी है, फफक फफक का रो रहा है, इस महीनें दो दो बार उसका अपमान हुआ है, पहले तो योगी सरकार ने उसे ऐतिहासिक धरोहरों की लिस्ट से बाहर निकाल दिया और उसके बाद बीजेपी विधायक संगीत सोम ने उसे गद्दारों द्वारा बनायी निशानी बताते हुए कहा कि ताज महल को ऐतिहासिक धरोहरों की लिस्ट से बाहर करके मुगलों की कलंक कथा को मिटाने का काम किया जा रहा है.

अब आप खुद सोचिये, ताज महल को किसी ने भी बनाया हो लेकिन वह वर्तमान में भारत का सबसे बड़ा पर्यटन स्थल है और उसकी वजह से उत्तर प्रदेश को रोजाना करोड़ों रुपये की कमाई होती है, लाखों लोगों को रोजगार मिलता है, योगी सरकार को इतना पैसा कमवाने के बाद भी ताज महल को लिस्ट से बाहर कर दिया है तो उसे दुःख तो होगा ही.

खैर कोई बात नहीं, योगी को भी ताज महल की नाराजगी का अहसास हो गया है इसलिए वे 25 अक्टूबर को ताज महल को मनाने के लिए आगरा जाने वाले हैं, यही नहीं योगी ने संगीत सोम से भी उनके बयान पर सफाई देने को कहा है.

योगी ने न्यूज़ एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा कि ताज महल को भले ही मुगलों ने बनाया लेकिन उसमें पसीना भारतीय मजदूरों और कारीगरों का लगा है, इस बात में कोई शक नहीं है कि ताज महल भारत का सबसे बड़ा पर्यटन स्थल है और पर्यटकों को सुरक्षा उपलब्ध कराना हमारी सरकार की सबसे बड़ी जिम्मेदारी है.

योगी के इस दौरे से शायद ताज महल मान जाय, ताज महल के लिए सुकून की बात यह है कि योगी ने उसे पर्यटन स्थल मान लिया है वरना ताज महल को डर था कि कहीं उसे पर्यटन स्थल की सूची से भी बाहर ना निकाल दिया जाए, वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज सपा नेता आजम खान ने ताज महल को मिटाने की सलाह दी थी, उन्होंने कहा था कि अगर ताज महल गुलामी की निशानी है तो उसे ख़त्म कर देना चाहिए और साथ ही पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, लाल किला और क़ुतुब मीनार को भी ख़त्म कर देना चाहिये.

ताज महल पर हो रही राजनीति की वजह से ही योगी ने 25 अक्टूबर को ताज महल का दौरा करके उसे मनाने की पहल की है. वे आगरा में ताज महल के अलावा अन्य धरोहरों के भी दर्शन करेंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: