Oct 3, 2017

अरुण शौरी चाहते हैं मोदी सरकार भ्रष्टाचार से समझौता कर ले, टैक्स-चोरों को खुली छूट दे दे


arun-shourie-open-fire-against-modi-sarkar-notbandi-gst-news-hindi

जब भी शरीर को दवा का कड़वा डोज दिया जाता है, शरीर को सुस्ती आ जाती है क्योंकि शरीर इतना तकतवर डोज सह नहीं पाता, अपनी ऑंखें बंद करके कुछ समय के लिए सो जाता है, जब शरीर सो जाता है तो काम रुक जाता है इसलिए जब तक शरीर सोता है तब तक कमाई रुक जाती है, आर्थिक नुकसान होता है. लेकिन जब शरीर आराम करके उठता है तो तेज गति से काम करना शुरू कर देता है और जल्द ही नुकसान की भरपाई कर लेता है.

मोदी सरकार ने भी देश की अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने और कालाधन ख़त्म करने के लिए नोटबंदी का कड़वा डोज दे दिया, तिजोरी में छुपा धन बाहर निकलकर बैंकों में जमा हो गया, विदेश से पैसा आकर बैंकों में जमा हो गया, आज वही पैसा देश के काम आ रहा है लेकिन जब पुरानी नोटों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया तो थोडा नुकसान भी हुआ लेकिन जैसे जैसे नोट बाजार में फिर से आते गए, माहौल सही होता गया और अब नोटबंदी का कोई दुष्प्रभाव नहीं है, सभी को करेंसी मिल रही है.

इसी तरह से मोदी सरकार ने GST लागू करके सभी टैक्स चोर व्यापारियों से कहा कि आपको टैक्स जमा करना ही पड़ेगा, अर्थ तंत्र से जुड़ना ही पड़ेगा. अब टैक्स चोरी माफ़ नहीं की जाएगी. सबको अपने काम और कमाई का हिसाब देना ही होगा.

कालाधन जब्त करना, चोरों को पकड़ना, घोटालेबाजों को पकड़ना, टैक्स चोरी ख़त्म करना तो अच्छा काम है जो मोदी सरकार ने किया है लेकिन इस काम का कुछ नुकसान भी होना तय है क्योंकि कालाधन हमारी अर्थव्यवस्था में समा गया था. अर्थव्यवस्था से जितना कालाधन ख़त्म हुआ उतना आर्थिक नुकसान भी हुआ लेकिन जल्द ही इस नुकसान की भरपाई भी हो जाएगी.

दुर्भाग्य ये है कि विपक्षी नेता अच्छे काम को भी बुरा बता रहे हैं लेकिन इससे भी बड़ा दुर्भाग्य ये है कि बीजेपी के भी कुछ नेता विपक्ष के सुर में सुर मिला रहे हैं और नोटबंदी/GST को बुरा बता रहे हैं.

इससे भी दुर्भाग्यपूर्ण ये है कि बीजेपी नेता अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा GST को भी बुरा बता रहे हैं जो टैक्स व्यवस्था सुधारने, टैक्स चोरी ख़त्म करने का सबसे बढ़िया तरीका है. मतलब ये लोग चाहते हैं कि मोदी सरकार टैक्स चोरों पर सख्ती ना बरते, टैक्स चोरी को मान्यता दे दे. सभी टैक्स चोरों से बोले कि भैया लूट लो आप लोग, मैं आप लोगों को नहीं रोकूंगा क्योंकि इससे अर्थव्यवस्था रुक जाएगी, GDP गिर जाएगी.

आज अरुण शौरी जो अटल सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं और खुद को अर्थशास्त्री भी बताते हैं, उन्होंने नोटबंदी को सबसे बड़ी मनी लौन्डरिंग योजना बताया जिसके जरिये पूरा कालाधन सफ़ेद कर लिया गया. अगर कालाधन सफ़ेद होकर फिर से भारत में आ गया तो भी देश को फायदा है क्योंकि कम से कम कालाधन तो आया. देश तो यही चाहता है कि कालाधन विदेश से वापस भारत आ जाए और देश के काम आये.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: