Oct 3, 2017

अब आजतक राम रहीम को नहीं बोलेगा 'बलात्कारी बाबा' सिर्फ दिखाएगा हनीप्रीत के आंसू, पढ़ें क्यों


aaj-tak-honeypreet-deal-fix-now-no-balatkari-baba-ram-rahim

जिस दिन राम रहीम को रेप मामले में दोषी ठहराया गया था उसी दिन से आजतक न्यूज़ चैनल ने राम रहीम को बलात्कारी बाबा बताना शुरू किया था, उसके बाद राम रहीम का जहाँ भी नाम लिखना होता था या बोलना होता था आजतक सिर्फ 'बलात्कारी बाबा राम रहीम' लिखता था. लेकिन अब से आज तक राम रहीम को बलात्कारी बाबा नहीं बोलेगा, अब यह चैनल सिर्फ हनीप्रीत के आंसू दिखाएगा, उसका वह बयान बार बार रिपीट करके दिखाएगा जिसमें वह कह रही है कि मेरे पापा निर्दोष हैं, हम दोनों में कोई गलत संबंध नहीं है, हमने हिंसा नहीं करवाया, कुछ शरारती लोगों ने हिंसा की, मैं तो अपना पापा के साथ गयी थी, वे बेगुनाह हैं, हमें न्याय पर पूरा भरोसा है, मेरे पापा बेगुनाह साबित होंगे, क्योंकि उन्हें सिर्फ दो महिलाओं की चिट्ठी के आधार पर सजा दी गयी है.

मैं गलत नहीं कह रहा हूँ, आज आजतक न्यूज़ चैनल ने सिर्फ यही खबर दिखाई है, एक बार भी राम रहीम के नाम में बलात्कारी बाबा नहीं लिखा, सिर्फ बाबा, या बाबा राम रहीम बोला. अब आज तक के लिए राम रहीम बलात्कारी बाबा नहीं हैं.

ऐसा लगता है कि आज तक और हनीप्रीत के बीच कोई डील हो गयी. आज तक ने चुपचाप हनीप्रीत का इंटरव्यू ले लिया और बलात्कारी बाबा से बलात्कारी हटाकर सिर्फ बाबा राम रहीम और उनकी लाडली बेटी हनीप्रीत का रट लगा रखा है.

हनीप्रीत ने आजतक को ढूँढा, हुई डील

हनीप्रीत का इंटरव्यू लेकर आजतक न्यूज़ चैनल वाले खुद को तीस मार खान समझ रहे हैं, ये कह रहे हैं कि जिसे 7 राज्यों की पुलिस नहीं ढूंढ पायी पायी उसे हमने ढूंढ लिया जबकि सच ये है कि आज तक वालों ने हनीप्रीत को नहीं ढूँढा बल्कि हनीप्रीत और डेरा आश्रम वालों ने खुद आजतक को ढूँढा है और हो सकता है कि राम रहीम और हनीप्रीत को बचाने के लिए आजतक से बहुत बड़ी डील की गयी हो लेकिन यह सब जांच का विषय है.

हनीप्रीत जुटाना चाहती है सहानुभूति

आपको बता दें कि हनीप्रीत खुद ही गिरफ्तार होने से पहले वीडियो के जरिये सहानुभूति जुटाना चाहती थी, कैमरे के सामने आकर रोना चाहती थी, आंसू बहाना चाहती थी ताकि लोग उसे निर्दोष मानें, उसनें राम रहीम को भी निर्दोष बताया. उसे एक मीडिया चैनल चाहिए था जो उसके आंसू पूरे देश वालों को दिखा सके, उसे सबसे आगे आजतक नजर आया और उन्होने आज तक से संपर्क कर लिया, हो सकता है कि आजतक वालों से बहुत बड़ी डील की गयी हो क्योंकि राम रहीम के पास अरबों रुपये हैं.

आज तक के पत्रकार सुरेन्द्र चौहान ने खुद बताया कि हमसे संपर्क करके चंडीगढ़ में एक जगह पर बुलाया गया, उसके बाद हमारे मोबाइल स्विच ऑफ कर दिए गए, हमें लगा कि आज हम किसी बड़े आतंकवादी का इंटरव्यू लेने जा रहे हैं, हमें गाडी में बैठाकर हमारे सर पर कपड़ा डाल दिया गया. उसके बाद हमें एक सूनसान जगह पर ले जाया गया जहाँ पर एक गाडी में हमने हनीप्रीत का इंटरव्यू लिया.

हनीप्रीत और आजतक दोनों का फायदा 

अब आप बताइये, जब हनीप्रीत की तरफ से खुद ही आजतक वालों से संपर्क किया गया, इनके पत्रकारों को वे लोग खुद ही अपनी गाड़ी से हनीप्रीत के पास ले गए, इनके सर ढक दिए गए, इन्हें वापस भी लाकर छोड़ा गया. तो आज तक ने कैसे हनीप्रीत को ढूंढ लिया. असल बात यह है कि हनीप्रीत ने आज तक को ढूँढा है ताकि रो रो कर अपनी कहानी बता सके और आज तक वाले उसे ब्रेकिंग न्यूज़ बनाकर TRP बढ़ा सकें, इससे दोनों का फायदा होगा, आजतक वालों की TRP बढ़ेगी और इनकी जमकर कमाई होगी, मंहगे मंहगे विज्ञापन मिलेंगे दूसरी तरफ हनीप्रीत को भी रोने धोने और सहानुभूति हासिल करने का एक प्लेटफॉर्म मिल गया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: