Sep 14, 2017

कश्मीर पंडित भगाये गए तो किसी ने आवाज नहीं उठायी, रोहिंग्या भगाए गए तो बवाल: सुभाष चंद्रा


subhash-chandra-debate-not-done-for-kashmiri-pandit-like-rohingyas

राज्य सभा सदस्य और एस्सेल ग्रुप के मालिक सुभाष चंद्रा ने आज रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थियों पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि जब कश्मीर से कश्मीरी पंडित भगाए जा रहे थे तो किसी ने भी इनके समर्थन में आवाज नहीं उठाई, ना तो इनकी चर्चा हुई लेकिन आज म्यांमार से रोहिंग्या मुस्लिम भगाए जा रहे हैं तो लोगों ने बवाल मचा दिया है, हर तरफ सिर्फ इनकी चर्चा हो रही है.

सुभाष चंद्रा ने कहा कि अगर इतनी ही चर्चा कश्मीरी पंडितों के लिए भी हुई होती तो आज उनकी हालत कुछ और होती, उन्हें शिविरों में ना रहना पड़ता.
subhash-chandra-statements-on-rohingya-musalman

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि म्यांमार से रोहिंग्या समाज के लोगों को भगाया जा रहा है, कई लोग भारत के शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं, भारत के कुछ लोग इन्हें शरण ना देने की अपील कर रहे हैं क्योंकि इनके आने से आतंकवाद, जिहाद और अपराध बढ़ सकता है, यही घटना म्यांमार में हुई है और इसीलिए इन्हें वहां से भगाया गया है. 

भारत के कुछ लोग इनका समर्थन भी कर रहे हैं और इन्हें भारत में शरण देने की वकालत कर रहे हैं, सभी न्यूज़ चैनलों पर इनकी चर्चा हो रही है. सभी वामपंथी, लिबरल, सेक्युलर, अधिकतर मुस्लिम इनके समर्थन में उतर आये हैं. यही सब देखकर सुभाष चंद्रा ने कहा कि अगर ऐसी ही चर्चा कश्मीरी पंडितों के लिए होती तो आज उनकी हालत इतनी खराब ना होती.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: