Sep 10, 2017

जन्नत जाने वाले आतंकियों से बोले राजनाथ सिंह, असली जन्नत तो कश्मीर है, लेकिन तुमने बना दिया नरक


rajanth-singh-told-terrorists-asali-jannat-to-kashmir-hai-not-other

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह चार दिनों के लिए जम्मू कश्मीर दौरे पर हैं. आज उन्होंने पुलिस के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आतंकियों को करारा सन्देश दिया. उन्होंने कहा कि कुछ दहशतगर्द ऐसे हैं जिन्हें सिर्फ दहशतगर्दी से मतलब है, इसके अतिरिक्त उन्हें कुछ चाहिए ही नहीं. वे अपराध और जिहाद की बात करते हैं, कहते हैं कि ऐसा करने से जन्नत मिलेगी, क्या उन्हें यह नहीं मालूम है कि हमारे जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान और सारे CRPF और सेना के जवान यदि किसी को जन्नत बनाना चाहते हैं तो इस कश्मीर को जन्नत बनाना चाहते हैं, वे लोग यहाँ के कश्मीरियों को साथ लेकर कश्मीर को जन्नत बनाना चाहते हैं. लेकिन आतंकियों ने यहाँ पर नरक बना रखा है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि जन्नत और कहीं नहीं है दोस्तों, अगर इस हिंदुस्तान की जन्नत कहीं है तो ये कश्मीर है. मैं सभी से अपील करता हूँ जो कश्मीर हमेशा जन्नत के नाम से जाना जाता रहा है, कश्मीर फिर से उसी जन्नत के रूप में जाना जाएगा, इसके लिए सभी के सहयोग की जरूरत है. 

राजनाथ सिंह ने पुलिस वालों से कहा - हम चाहते हैं कि जम्मू कश्मीर के हर थानों पर बुलेट प्रूफ गाड़ियाँ हों, हमने इसके ना सिर्फ आदेश दिए हैं बल्कि धनराशि भी जारी कर दी है. मेरा मानना है कि हमारे जवानों को बुलेट प्रूफ जैकेट भी मिलने चाहियें, इसके लिए हमने पैसे जारी कर दिए हैं. पुलिस थानों के आधुनिकीकरण के लिए भी हमने पैसे जारी कर दिए हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि आपको सुविधाएं दी जा रही हैं लेकिन मैं यह मानता हूँ कि आपको कितनी भी सुविधाएं प्रदान की जाएं लेकिन वह काफी नहीं हैं लेकिन अपने दिल में एक जज्बा लेकर कश्मीर की हिफाजत के लिए, कश्मीरियों की हिफाजत के लिए कश्मीरियत की हिफाजत के लिए लड़ रहे हैं इसलिए मैं आपकी बहादुरी के लिए आपको सलाह कर रहा हूँ.

राजनाथ सिंह ने पुलिस वालों को कहा कि मैं इस हकीकत को जानता हूँ कि आपका सियासत से कोई देना देना नहीं है. आप जो भी काम कर रहे हैं जम्मू कश्मीर की हिफाजत के लिए कर रहे हैं. 

राजनाथ सिंह ने कहा कि मैंने अब्दुल रशीद की बेटी जोहरा का वो चित्र देखा था, आंसुओं से भीगे हुए उसके चेहरे को देखा था, मेरे दोस्तों मेरे दिल से वह दर्द निकलता नहीं है. कल ही हमारे एक बहादुर जवान इम्तियाज भी शहीद हो गए. बड़ी संख्या में आपने शहादत दी है. आपके शहादत की कीमत नहीं चुकाई जा सकती. आप अपने लिए शहादत नहीं दे रहे हैं बल्कि कश्मीर के लिए शहादत दे रहे हैं. देश के लिए शहादत दे रहे हैं, कश्मीरियों के लिए शहादत दे रहे हैं. दुर्भाग्य है कि इस हकीकत को लोग समझने को तैयार नहीं हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि आप लोग सेना और CRPF से मिलकर फोर-फ्रंट पर लड़ाई लड़ रहे हैं. मेरे बहादुर दोस्तों आपका यह वलिदान सर्वोच्च वलिदान है, इन्हें भारत कभी भूलेगा नहीं.  
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: