Sep 7, 2017

मानवाधिकार संगठन जाएं भाड़ में, मोदी ने 'अंग सन सू कयी' को दिया रक्षा वचन, कहते रहो रियल आतंकी


pm-narendra-modi-promised-help-myammar-pres-aung-san-suu-kye

आज भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मरेन्द्र मोदी ने साबित कर दिया है कि वे दुनिया की परवाह नहीं करते. आज उन्होंने म्यांमार की रक्षा का भरोसा दिया, वहां की राष्ट्रपति Aung San Suu Kye को रक्षा का वचन दिया जिसे दुनिया के मानवाधिकार संगठन रियल आतंकी बता रहे हैं. रोहिंग्या मुसलामानों पर उनका एक्शन दुनिया पचा नहीं पा रही है. दुनिया के मानवाधिकार संगठन Aung San Suu Kye के खिलाफ उतर आये हैं. उन्हें दिया हुआ शान्ति का नॉबेल पुरष्कार वापस छीनने की मांग कर रहे हैं, उनकी कनाडा की नागरिकता रद्द करने की मांग कर रहे हैं लेकिन ऐसे समय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने म्यांमार का दौरा करके Aung San Suu Kye को अपना दोस्त बनाया और उनके देश की रक्षा करने का भरोसा दिया.

आपको बता दें कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों ने आतंक मचा रखा था, वहां के धर्मस्थल तोड़े जा रहे थे, वहां के लोगों पर हमले हो रहे थे, जब राष्ट्रपति Aung San Suu Kye ने देखा कि रोहिंग्या मुसलमान वहां के संस्कृति के लिए खतरा बनते जा रहे हैं तो उन्होने एक्शन शुरू कर दिया. आर्मी को आतंकी रोहिंग्या समुदाय को ख़त्म करने और उन्हें भगाने का आदेश दे दिया. कई लोगों को ख़त्म कर दिया गया. अब म्यांमार को रोहिंग्या मुसलमानों से मुक्त कर दिया गया है लेकिन ये लोग बंगलदेश और भारत में घुसना चाहते हैं. दुनिया के मानवाधिकार संगठन रोहिंग्या को फिर से म्यांमार में घुसाने के लिए दबाव बना रहे हैं लेकिन Aung San Suu Kye ने यूनाइटेड नेशन से भी कह दिया है कि जिन्हें भी रोहिंग्या मुसलमाओं से प्यार है वो उन्हें अपने यहाँ रख सकते हैं, हमारे लिए वे खतरा हैं, वे आतंकी है, इसलिए हम उन्हें अपने यहाँ नहीं रख सकते.

 Auung San Suu Kye के इसी एक्शन से रोहिंग्या मुसलमान समर्थक और मानवाधिकार संगठन उन्हें रियल आतंकी बता रहे हैं लेकिन मोदी ने इसकी परवाह नहीं की और Aung San Suu Kye से हाथ मिलाकर म्यांमार की रक्षा का वचन दिया. मोदी ने कहा कि हम रोहिंग्या मुसलामानों को लेकर आपनी परेशानी को समझते हैं क्योंकि हम भी ऐसी ही परिस्थिति से गुजर रहे हैं. हम मिलाकर इस समस्या से लड़ने की कोशिश करेंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: