Sep 17, 2017

मोदी भी कम होशियार नहीं हैं, अपने जन्मदिन पर नाम नहीं लिया लेकिन कांग्रेस को दिखा दिए तारे


pm-narendra-modi-attack-congress-jawahar-lal-nehru-without-name

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज देश को सरदार सरोवर बाँध के रूप में बहुत बड़ा गिफ्ट भेंट दिया. मोदी ने पहले नर्मदा जिले में सरदार सरोवर बाँध का लोकार्पण किया उसके बाद बड़ोदरा जिले में एक जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने आज अपने भाषण में कांग्रेस पार्टी और उसके किसी भी नेता का नाम नहीं लिया लेकिन उन्होंने अपनी चालाकी से कांग्रेसियों को दिन में तारे जरूर दिखा दिए इसी का नतीजा था कि मनीष तिवारी जैसे सभ्य नेता भी असभ्य हो गए और ट्विटर पर मोदी और उनके समर्थकों को गालियाँ बकने लगे.

मोदी ने कहा कि ये आज भारत के लौहपुरुष सरदार पटेल की आत्म जहाँ भी होगी वह हम पर ढेर सारा आशीर्वाद बरसाती होगी. मोदी ने कहा कि 71 साल पहले, आजादी से भी पहले, मेरे जन्मदिन से भी पहले उन्होने सरदार सरोवर डैम का सपना देखा था और आज यह बनाकर पूरा हो गया.

मोदी ने कहा कि आज मैं बड़े विश्वास के साथ कहना चाहता हूँ कि अगर दो महापुरुष कुछ और साल जीवित रहे होते तो ये सरदार सरोवर डैम 60-70 के ही दशक में बन जाता और पश्चिम के सारे राज्य सुजलाम सुफलाम बन गए होते, सब हरे भरे हो गए होते और भारत के अर्थजगत में योगदान दे रहे होते. मोदी ने दोनों महापुरुषों का नाम बताया - सरदार पटेल और भीम राव अंबेडकर.

मोदी ने कहा कि सरदार पटेल ने नर्मदा नदी के महात्मय और सामर्थ्य को और गुजरात की आवश्यकता को समझा, उन्होंने मध्य प्रदेश, महारष्ट्र, राजस्थान और गुजरात के जीवन को एक माँ नर्मदा कैसे बदल सकती है इसका सपना संयोया था, दीर्घदृष्टि से उसकी कल्पना की थी.

मोदी ने कहा कि दूसरे महापुरुष थे डॉ भीम राव अंबेडकर. उन्होंने मंत्रि-परिषद के अपने अल्पकाल में भी भारत में जल क्रांति के लिए, जल शक्ति के लिए, वाटरवेज़ के लिए, सामुद्रिक सामर्थ्य के लिए जितनी योजनायें, जितनी कल्पनाएँ कर रखी थीं उतना शायद ही कोई सरकार सोच सकती है. बाबा साहेब का अध्ययन करने वाले लोग यह भली भाँती जानते होंगे.

मोदी ने कहा कि अगर ये दो महापुरुष कुछ और साल जीवित रहते, हमें उनकी सेवाओं का लाभ कुछ वर्ष अधिक मिला होता तो आज बाढ़ के कारण जो प्रदेश तबाह हो जाते हैं, सूखे के कारण जहाँ का किसान मर रहा है, इन सारी समस्याओं से देश बाहर निकल आता और प्रगति की नयी ऊँचाइयों को पार कर लेता लेकिन यह हमारा दुर्भाग्य रहा कि हमें इन दोनों महापुरुषों को बहुत पहले खो देना पड़ा. लेकिन आज ये सरदार सरोवर डैम भारत को समर्पित हो रहा है, सवा सौ करोड़ देशवासियों को समर्पित हो रहा है, गाँधी और सरकार की धरती से समर्पित हो रहा है.

अब आप सोचिये, मोदी ने आज दो महापुरुषों को याद किया और कहा कि अगर ये होते तो सरदार सरोवर डैम 1960-70 में ही बन गया होता, इसका मतलब यह है कि पंडित जवाहर लाल नेहरु और अन्य कांग्रेस प्रधानमंत्रियों ने जान बूझकर यह बाँध नहीं बनवाया. मोदी ने एक तरह से कांग्रेस पर बहुत बड़ा हमला बोला है, कांग्रेस की गले की नश पर वार किया है जिसकी चोट से कांग्रेस बिलबिला रही है. आपको बता दें कि सरदार बल्लभभाई पटेल के निधन के बाद भी पंडित जवाहर लाल नेहरु 10 साल तक प्रधानमंत्री रहे, उसके बाद इंदिरा गाँधी भी 14 साल प्रधानमंत्री रहीं, उसके बाद राजीव गाँधी प्रधानमंत्री रहे, उसके बाद 10 साल मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री रहे लेकिन यह बाँध नहीं बनवा पाए, यह बाँध मोदी ने अपने दम पर बनवाया, कई सामाजिक संगठनों ने उनके खिलाफ धरना दिया, भूख हड़ताल की, कांग्रेस की केंद्र सरकार ने मोदी की कोई मदद की उल्टा उन्हें परेशान करते रहे लेकिन मोदी ने आखिरकार यह बाँध बनवा ही दिया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. मध्यप्रदेश के विपक्षी नेता अजय सिंह ने कहा कांग्रेस ने 60 सालों में किया वो मोदी 60 जन्मों तक नहीं कर सकते, उनको मैंने जवाब दिया, आप भी पढ़ें >> कांग्रेस ने भारत के टुकड़े किये, मोदी नहीं कर सकते, कांग्रेस ने भारत का बड़ा भाग चीन के हाथों लूटवाया, मोदी से नहीं हो सकता, कांग्रेस ने मुल्ला वोट बैंक के लिए हिन्दुओं पर अत्याचार कर के मुल्लों को खुश किया, मोदी से नहीं हो सकेगा, कांग्रेस ने विदेशो से क़र्ज़ ले कर सीधे अपने स्विस बैंक खाते में भर दिए, मोदी से नहीं होगा, कोई भी सरकारी योजना में कमिशन खाए बिना फंड जरी नहीं किया, मोदी से नहीं हो सकता, अजय सिंह, मध्य प्रदेश के विपक्षी नेता और सोनिया के गुलाम, मैं आपकी बात से पूर्ण सहमत हूँ, सिर्फ मैं ही नहीं सारा देश आपसे सहमत है. कि आप जैसे घोटाले मोदी से 60 जन्म तो क्या 6०००००० जन्मो में भी नहीं होंगे.

    ReplyDelete