Sep 14, 2017

मोदी सपने देखते हैं, पूरा भी करते हैं, 2022 में दौड़ा देंगे बुलेट ट्रेन, जलने वाले जलते रहें


pm-modi-in-way-to-full-fill-dream-of-bullet-train-in-india-till-2022

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुलेट ट्रेन का सपना देखा हालाँकि कुछ लोगों ने उनका मजाक उड़ाया. आज प्रधानमंत्री मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे ने अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की शिलान्याश भी कर दिया, ऐसा लगता है कि मोदी सरकार से जलने वाले जलते रहेंगे लेकिन पांच साल में अहमदाबाद से गुजरात के बीच में मोदी बुलेट ट्रेन दौड़कर रहेंगे.

मोदी ने कहा कि - साथियों कोई भी देश आधे अधूरे संकल्पों और बंधे हुए सपनों के साथ कभी भी आगे नहीं बढ़ सकता है, सपनों का विस्तार ही किसी भी देश को, किसी भी समाज को और किसी भी व्यक्ति की उड़ान तय करने का सामर्थ्य रखता है, ये न्यू इंडिया है, इसके सपनों का विस्तार, इसकी उड़ान असीम है, इसकी इक्षाशक्ति असीमित है.

मोदी ने कहा कि आज भारत ने अपने वर्षों पुराने सपने को पूरा करने की तरफ एक बहुत बड़ा कदम उठाया है. मैं देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों को मुंबई अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर का इस भूमि पूजन के अवसर पर  कोटि कोटि शुभकामनाएँ और बधाईयाँ देता हूँ.

मोदी ने कहा कि बुलेट ट्रेन परियोजना एक ऐसा प्रोजेक्ट है जो तेज गति, तेज प्रगति और तेज टेक्नोलॉजी के माध्यम से तेज परिणाम भी लाने वाला है., जिसमें सुविधा भी है, सुरक्षा भी है, जो रोजगार भी लाएगा और वो रफ़्तार भी लाएगा, ये ह्यूमन फ्रेंडली भी है और एको-फ्रेंडली भी है.

मोदी ने कहा कि आज का दिन जापान-और भारत के रिश्तों में एक ऐतिहासिक और उतना ही भावात्मक अवसर भी है. एक अच्छा दोस्त हमेशा समय और सीमा से परे होता है और आज जापान ने दिखा दिया है कि वो भारत का सबसे मजबूत दोस्त है जो सीमा और समय से परे है.

मोदी ने कहा कि मुंबई और अहमदाबाद के बीच भारत का पहला हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट दोनों देशों के बीच मजबूत होते संबंधों का भी एक उदाहरण है. अगर आज इतने कम समय में इस प्रोजेक्ट का भूमिपूजन हो रहा है तो उसका सबसे बड़ा श्रेय मेरे परम मित्र अबे शान (शिंजो अबे) को जाता है, इतने कम समय में शिंजो अबे ने ये सुनिश्चित किया कि इस प्रोजेक्ट में कहीं कोई दिक्कत नहीं होने पाए.

मोदी ने कहा कि यह प्रोजेक्ट जापान की दोस्ती की बहुत बड़ी सौगात है क्योंकि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट एक तरह से फ्री में गिफ्ट मिल रहा है क्योंकि जापान ने 90 हजार करोड़ रूपये 50 साल के लिए सिर्फ 0.1 परसेंट व्याज पर दिया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: