Sep 24, 2017

मैं जानता हूँ कि ये काम बहुत मुश्किल है लेकिन मुश्किल काम मोदी नहीं करेगा तो कौन करेगा


pm-modi-bole-mere-liye-dal-se-bada-desh-isliye-karta-hun-mushkil-kaam

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वाराणसी में पशुधन आरोग्य मेला के आयोजन पर एक जनसभा को संबोधित किया और प्रधानमंत्री आवाज योजना में लाभार्थियों को प्रमाण पत्र बांटा। मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग इतनी बड़ी संख्या में यहाँ पर आये और तप किया, मैं आपकी तपस्या बेकार नहीं जाने दूंगा।

मोदी ने यहाँ भी योगी को बधाई देते हुए कहा कि आज उन्होंने एक पशुधन आरोग्य मेले की योजना की. मैं जब मेले में गया तो करीब करीब 1700 पशु अलग अलग जगह से यहाँ आये हैं और उन पशुओं के आरोग्य के लिए वहां पर सारे एक्सपर्ट डॉक्टर आये हैं और डॉक्टर बंधु भी पशुओं के आरोग्य की चिंता कर रहे हैं. अब योगी जी इसी तरह से पूरे उत्तर प्रदेश में पशुधन आरोग्य मेला लगाएंगे, अब हमारा किसान आर्थिक कारणों से पशुओं की सेवा नहीं कर पाता इसलिए अब ऐसे किसानों को भी इससे फायदा मिलेगा।

मोदी ने बताया कि राजनीतिक पार्टियों का स्वभाव होता है कि वह उसी काम को करना पसंद करते हैं जिसमें वोट की सम्भावना होती है, अपनी वोट बैंक मजबूत बनाने के लिए वो काम करते हैं लेकिन हम अलग संस्कारों से पले बढे हैं, हमारा चरित्र अलग है, हमारे लिए दल से बड़ा देश है और दल से बड़ा देश होने के कारण हमारी प्राथमिकताएं वोट के हिसाब से नहीं होती हैं, आज ये पशुधन आरोग्य मेला उन पशुओं की सेवा कर रहे हैं जिन पशुओं को कभी वोट देने के लिए नहीं जाना है, ये किसी के वोटर नहीं हैं, आज तक 70 साल में पशु धन के लिए इस तरह का अभियान कभी नहीं चलाया गया.

मोदी ने कहा कि आज हमारा देश दुग्ध उत्पादन में आगे हैं लेकिन हमारे यहाँ पर प्रति पशु दूध बहुत कम मिलता है, इसी वजह से पशुपालन मंहगा पड़ता है, अगर हम प्रति पशु दूध का उत्पादन बढ़ा लेते हैं तो पशुपालन भी सस्ता हो जाएगा और किसानों की आमदनी भी बढ़ जाएगी।

मोदी ने कहा कि हम 2022 तक किसानों की आय डबल करना चाहते हैं, इसके लिए पशुपालन एक मार्ग है, खेती में आधुनिकता लाना एक मार्ग है, साइल हेल्थ कार्ड के द्वारा जमीन की जांच हो, किसान को पूरी मदद मिले, इस काम को बल देने की दिशा में हम काम कर रहे हैं, उत्तर प्रदेश में भी नयी सरकार बनने के बाद किसानों को साइल हेल्थ कार्ड देने का काम चला है वह भी किसानों का भला करेगा।

मोदी ने स्वच्छता पर बोलते हुए कहा कि गन्दगी से हम सभी को नफरत है लेकिन हम गन्दगी को साफ़ नहीं करना चाहते, हम चाहते हैं कि गन्दगी हम करें लेकिन साफ कोई और करे, स्वच्छता हर नागरिक की जिम्मेदारी है, हर माँ-बाप और हर बेटे की जिम्मेदारी है. गन्दगी से ही बीमारी होती है.

मोदी ने कहा कि आज बगल के ही एक गाँव में मुझे शौचालय की ईंट रखने का मौका मिला तो मुझे बहुत ख़ुशी हुई क्योंकि मेरे लिए शौचालय बनाना भी एक पूजा है, शहंशाहपुर गाँव में सभी शौचालयों पर इज्जत घर लिखा था, ऐसा करके योगी सरकार ने शौचालयों की भी इज्जत बना दी है, अब जो भी इज्जत से जीना चाहेगा शौचालय का इस्तेमाल जरूर करेगा।

मोदी ने कहा कि आज हमारे देश के करोड़ों लोगों के पास घर नहीं है, वे खुले आसमान में रहते हैं, हमारा दाइत्व है कि हम गरीब से गरीब लोगों को रहने के लिए घर दें, उन्हें छत दें. इसीलिए हमने एक बहुत बड़ा बीड़ा उठाया है, मैं जानता हूँ कि जो काम मैंने उठाया है बहुत मुश्किल काम है लेकिन अगर मुश्किल काम मोदी नहीं करेगा तो कौन करेगा। 

मोदी ने कहा कि हमने तय किया है कि 2022 भारत की आजादी के 75 साल होंगे तो हिंदुस्तान के हर गरीब को उसका घर देंगे, चाहे शहर हो या गाँव हों, सभी गरीबों को उसका घर मिलेगा। मोदी ने कहा कि मुझे भारत में इतने घर बनाने हैं जैसे कि यूरोप जैसा देश भारत में बनाना है. जब इतने सारे घर बनेंगे तो सीमेंट लगेगा, ईंटें लगेंगी, लोहा लगेगा, लकड़ी लगेगी, नए नए लोगों को काम मिलेगा, मिस्त्री को काम मिलेगा।
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: