Sep 5, 2017

अब रोहिंग्या मुसलमानों को लीगली भगाएंगे किरण रिजिजू, नहीं करेंगे फ़ोर्स का इस्तेमाल: पढ़ें क्यों


kiren-rijiju-will-not-use-force-again-to-depart-rohingyas-muslim

म्यांमार से भगाए गए रोहिंग्या मुसलामानों के भारत में रहने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. भारत के वामपंथी और सेक्युलर सोच वाले लोग उन्हें भारत में बसाने के समर्थन में हैं जबकि भारत में आतंकवाद के शिकार लोग उन्हें भगाना चाहते हैं क्योंकि ये लोग जहाँ भी रहना शुरू करते हैं वहां पर चोरी, लूट, हिंसा, आगजनी और आतंकवाद की घटनाएं बढ़ गयी हैं. करीब 4 लाख रोहिंग्या मुस्लिम भारत में शरण लेना चाहते हैं, पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन भी इनके समर्थन में हैं क्योंकि वे इनपर डोरे डालकर इन्हें आसानी से आतंकवादी बना लेंगे और भारत में आसानी से जिहाद कर सकेंगे.

केंद्र सरकार भी इन्हें भारत में शरण देने के पक्ष में नहीं है, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू पहले से ही इन्हें भारत की शांति के लिए खतरा बता चुके हैं. वे इन्हें भारत से भगाना चाहते हैं, शुरुआत में भारतीय सेना ने इनके खिलाफ फ़ोर्स का इस्तेमाल किया लेकिन कुछ लोग इनके समर्थन में सुप्रीम कोर्ट चले गए हैं जिनमें सुप्रीम कोर्ट के बड़े वकील प्रशांत भूषण भी शामिल हैं.

कल इस मामले पर सुनवाई हुई हालाँकि कोई फैसला नहीं आ सका, SC ने सुनवाई की तारीख आगे बढ़ा दी है. मामले के तूल पकड़ते ही मीडिया ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ फ़ोर्स का इस्तेमाल कर रही है. इन आरोपों का बचाव करते हुए आज किरण रिजिजू ने कहा कि हम लीगली तरीके से उन्हें वापस डिपार्ट करेंगे, अब फ़ोर्स का इस्तेमाल नहीं होगा, इसलिए ये ख़बरें गलत हैं.

आपको बता दें कि म्यांमार से भागकर आए 4 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने भी देश के लिए खतरा बताया है इसीलिए केंद्र सरकार ने इन्हें वापस भगाने का फैसला लिया है लेकिन कोर्ट के टांग अड़ाने के बाद कार्यवाही बंद कर दी गयी है. अब गेंद सुप्रीम कोर्ट के पाले में पहुँच गयी है इसलिए सुप्रीम कोर्ट जो कहेगा केंद्र सरकार वही करेगी. लेकिन ये साफ है कि अगर इन्हें भारत में शरण दी जाती है तो ये लोग जहाँ रहेंगे वो जगह कुछ समय के बाद सीरिया बन जाएगी क्योंकि इनका यही इतिहास है और म्यांमार ने इसी वजह से इन्हें भगा दिया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. vudsan motherchudko jutaase thora suagot kiro job gorse baharnikly.motherchud.

    ReplyDelete