Sep 29, 2017

अगर मोदीजी में साहस ना होता तो नहीं हो पाती सर्जिकल स्ट्राइक, पहला क्रेडिट उनको: पूर्व जनरल


general-dalbir-singh-suhag-give-first-credit-pm-modi-for-surgical-strike

जी न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में पूर्व आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह सुहाग में सर्जिकल स्ट्राइक का पहला क्रेडिट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिया है, उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक बिना सरकार की अनुमति के नहीं की जाती इसलिए POK में सर्जिकल स्ट्राइक का पहला क्रेडिट मैं प्रधानमंत्री मोदीजी को देना चाहूँगा क्योंकि बिना उनकी अनुमति के यह असंभव था, उन्होने ऐसा करके बहुत साहस का परिचय दिया था.

उन्होने दूसरा क्रेडिट पैरा कमांडो के उन बहादुर जवानों को दिया जिन्होंने POK में ढाई किलोमीटर सीमा में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था. उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बहुत मुश्किल था क्योंकि ढाई किलोमीटर की परिधि में कई आतंकी ठिकानों पर हमला किया गया था. इसमें हमारे जवानों ने सूझ बूझ और बहादुरी से काम लिया था.

उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का लाभ भारत को मिला है क्योंकि उसके बाद पाकिस्तान ने भारत पर कोई बड़ा हमला नहीं करवाया, यही नहीं उसके बाद हमारे देश की प्रतिष्ठा पूरे विश्व में बढ़ी है, हम एक ताकतवर देश के रूप में उभरकर सामने आए हैं, हालाँकि इसके पहले हम म्यांमार में सर्जिकल स्ट्राइक कर चुके थे लेकिन POK की सर्जिकल स्ट्राइक उससे काफी अलग और मुश्किल थी.


कैसे की गयी थी सर्जिकल स्ट्राइक

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सर्जिकल स्ट्राइक को पिछले साल आज के ही दिन अंजाम दिया गया था, इस ऑपरेशन में कश्मीर के पूंछ जिले में एडवांस्ड लाईट हेलिकॉप्टर ध्रुव पर 4 और 9 पैरा के 25 कमांडो सवार होकर POK की सीमा में दाखिल हुए और एक सूनसान जगह पर उतार दिया, पाकिस्तान को पता भी नहीं चल पाया कि उनकी सीमा में भारत का हेलिकॉप्टर घुस आया है, इसके बाद पाकिस्तान के सैनिकों की नजरों से बचते हुए हमारे जवान रेंगकर ढाई किलोमीटर अन्दर जा पहुंचे और आतंकी ठिकानों पर हमला कर दिया, देखते ही देखते हमारे जवानों ने आतंकियों की लाशें बिछा दीं. उनके कई लांचिंग पैड को भष्म कर दिया और शकुशल वापस भी आ गए.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: