Sep 8, 2017

केरल में RSS स्वयंसेवकों की हत्या पर बहुत खुश होती थीं गौरी लंकेश, कहती थीं 'स्वच्छ केरलम'


gauri-lankesh-happy-when-rss-worker-killed-she-says-swach-keralam

गौरी लंकेश पत्रिके की फाउंडर गौरी लंकेश की हत्या के बाद उनके बारे में कई खुलासे हो रहे हैं. पहले भारत के ज्यादातर लोग नहीं जानते थे कि उनके दिल में आरएसएस, हिन्दू, हिंदुत्व, संघ आदि के लिए कितना नफरत भरी हुई है लेकिन उनकी हत्या के बाद उनके बारे में पूरा देश जान गया और अब उनके बारे में रोजाना खुलासे हो रहे हैं.

उनके बारे में खुलासा हुआ है कि जब केरल में आरएसएस के स्वयंसेवकों की हत्या होती थी तो वे जश्न मनाती थी, वे ट्विटर पर कहती थी स्वच्छ केरलम. यानी केरल स्वच्छ हो रहा है. आरएसएस ने इतनी नफरत के पत्रकार तो कर ही नहीं सकती क्योंकि देश में करोड़ों लोग आरएसएस के फॉलोवर हैं और आरएसएस के फॉलोवर जिस राज्य में अधिक होते हैं वहां हिंसा बहुत कम होती है.

आपको बता दें कि पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी पत्रकार की मौत पर लोगों ने खुलेआम जश्न मनाया है. गौरी लंकेश पत्रकार थीं लेकिन एकतरफा पत्रकार थीं. वामपंथी और नक्सल समर्थक थीं. मोदी, बीजेपी, हिंदुत्व, आरएसएस की कट्टर विरोधी थीं. अब उनकी मौत पर सोशल मीडिया पर जश्न मनाया जा रहा है.

कई लोग जश्न मनाने के अलग अलग कारण बता रहे हैं. लोगों का कहना है कि जब गौरी लंकेश CRPF जवानों की नक्सलियों द्वारा हत्या पर जश्न मनाती थी तो हम उसकी मौत पर क्यों ना जश्न मनाएं.

कई लोग यह भी कह रहे हैं कि जब केवल में स्वयं सेवकों की हत्या होती थी तो गौरी लंकेश ट्विटर पर कहती थी 'स्वच्छ केरलम', यह कहकर वह आरएसएस और हिन्दुओं को चिढ़ाती थी, वह हिन्दुओं और आरएसएस की हत्या पर खुशियाँ मना सकती है तो हम उसकी मौत पर क्यों ना ख़ुशी मनाएं.

जब हिन्दू लोग बीफ का विरोध करते थे तो गौरी लंकेश ट्विटर पर लिखती थीं - आज बीफ अच्छा बना है. यह बोलकर वे हिन्दुओं को चिढ़ाती थीं. लोग ऐसे ऐसे तर्क देकर उनकी मौत का जश्न मना रहे हैं. लोग कल से उनके ट्विटर अकाउंट को छान मार रहे हैं और उनके पिराने ट्वीट को देखकर जश्न मनाने का कारण भी बता रहे हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: