Sep 4, 2017

चीन और नार्थ कोरिया के बीच बजवाना चाहते हैं डोनाल्ड ट्रम्प लेकिन बज ही नहीं रही: पढ़ें


donald-trump-slams-china-for-not-controlling-north-korea-h-test

यूनाइटेड नेशन और अमेरिका के प्रतिबंधों के बावजूद भी आज नार्थ नार्थ कोरिया ने हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण कर लिया. नार्थ कोरिया के धमाके की गूँज पूरी दुनिया में सुनाई दी है, जिसकी वजह से समुंदर में जलजला आ गया है और बड़े बड़े देशों में हडकंप मच गया है. भारत ने भी इस परीक्षण की निंदा की है.

जानकारी मिल रही है कि इस हाइड्रोजन बम का परीक्षण इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल में लोड करके किया गया. न्यूज़ एजेंसी AFP के मुताबिक टेस्ट के बाद जो भूकंप आया वह नार्थ कोरिया के पांचवे टेस्ट से पांच गुना ताकतवर था और परीक्षण के बाद 5.7 तीव्रता का भूकंप आ गया. सबसे अधिक जापान में भूकंप के झटके महसूस किये गए क्योंकि जापान नार्थ कोरिया के काफी नजदीक है.

नार्थ कोरिया की इस हरकत की चीन से कड़े शब्दों में निंदा की लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को उनकी निंदा पसंद नहीं आयी. उन्होंने कहा कि नार्थ कोरिया एक दुष्ट देश है, अब ये देश चीन के लिए खतरा बन चुका है साथ ही चीन के लिए शर्मनाक है, चीन उसे कण्ट्रोल नहीं कर पा रहा है. उसे थोड़ी सी भी सफलता नहीं मिल रही है.
north-korea-is-a-rogue-nation-says-donald-trump

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डोनाल्ड ट्रम्प चाहते हैं कि चीन नार्थ कोरिया को कण्ट्रोल करे, अगर चीन ऐसा करने की कोशिश करेगा तो नार्थ कोरिया चीन के पीछे पड़ जाएगा. अब आप सोचिये, जब नार्थ कोरिया यूनाइटेड नेशन से नहीं डर रहा है तो अकेले चीन से कैसे डरेगा. अगर चीन नार्थ कोरिया के खिलाफ कुछ भी एक्शन लेगा तो दोनों में युद्ध शरू हो जाएगा. चीन अपने पडोसी और ताकतवर देश से कभी भी झगडा मोल नहीं लेना चाहेगा क्योंकि एक बाद लड़ाई शुरू हो गयी तो चीन उसी में फंस कर रहे जाएगा और उसका विकास रुक जाएगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: