Sep 1, 2017

नोटबंदी के बाद GDP गिरने से खुश हो रहे हैं कांग्रेसी लेकिन जल्द ही मनाएंगे मातम: पढ़ें क्यों


congress-gdp-girne-se-khush-lekin-jald-manaenge-matam-hindi

कल RBI ने जून तिमाही (अप्रैल, मई, जून) के GDP के आंकड़े जारी किये. पिछली तिमाही के मुकाबले GDP ०.4 परसेंट गिरकर 5.7 पहुँच गयी. GDP गिरने से कांग्रेस के लोग बहुत खुश हैं. ये समझ लो कि उन्हें मुंहमांगा वरदान मिल गया है. हालाँकि उनकी ख़ुशी ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाएगी क्योंकि जैसे ही GST का असर शुरू होगा वैसे वैसे GDP बढ़ने लगेगी और हो सकता है कि चुनाव के समय GDP 9-10 परसेंट के आस पास पहुँच जाय. अगर ऐसा हो जाएगा तो आज जो कांग्रेस ख़ुशी मना रहे हैं वही लोग मातम मनाएंगे और वे लोग उसी गड्ढे में गिर जाएंगे जो वे मोदी सरकार के लिए खोद रहे हैं.

आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी नोटबंदी का पहले से ही विरोध कर रही है, प्रधानमंत्री मोदी ने अर्थव्यवस्था सुधारने और देश से कालाधन और भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए दो दो ताकतवर इंजेक्शन दे दिए. पहला इंजेक्शन नोटबंदी का लगाया इसलिए विकास की रफ़्तार रुकना तय थी, इसी बीच उन्होंने दूसरा इंजेक्शन GST का भी लगा दिया. एक साथ दो दो इंजेक्शन लगाने से जून तिमाही में देश की विकास दर 0.4 परसेंट गिरकर 5.7 फ़ीसदी हो गयी है. 

अब नोटबंदी और GST का असर शुरू हो गया है. अब नतीजे भी दिखने लगे हैं लेकिन कांग्रेस ने आँखों पर पट्टी बाँध ली है जो इनके लिए ही बुरी साबित होगी.

नोटबंदी और GST से क्या हुए फायदे: पढ़ें

नोटबंदी और GST का सबसे बड़ा फायदा यह हुआ है कि 56 लाख नए करदाता जुड़े हैं. मतलब टैक्स देने वालों की संख्या दोगुना हो गयी है. आप समझ सकते हैं, पहले केवल करीब 1 करोड़ लोग टैक्स देते थे लेकिन अब इनकी संख्या बढ़कर डेढ़ करोड़ पहुँच चुकी है और टैक्स देने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है और इस वर्ष डबल हो जाएगी क्योंकि अब सभी व्यापरियों को GST रजिस्ट्रेशन कराना ही पड़ेगा, टैक्स देना ही पड़ेगा. अगले साल केंद्र सरकार को दोगुनी कमाई होगी और GDP अपने आप बढ़ने लगेगी.

नोटबंदी और GST का दूसरा फायदा यह हुआ है कि पिछले साल रिटर्न भरने वालों की संख्या में केवल 9.9 फ़ीसदी वृद्धि हुई थी लेकिन इस साल 24.7 परसेंट की वृद्धि हुई.

नोटबंदी से तीसरा फायदा यह हुआ है कि व्यक्तिगत आयकर के अग्रिम संग्रह में पिछले साल की अवधि की तुलना में इस वर्ष 41.79 परसेंट की वृद्धि हुई है.

नोटबंदी से चौथा फायदा यह हुआ है कि स्वयं आकलन कर (सेल्फ असेसमेंट टैक्स) के तहत व्यक्तिगत आयकर पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 34.25 परसेंट बढ़ा है. 

आगे होंगे और फायदे

ये चारों फायदे तो शुरुआत में ही हुए हैं. जैसे जैसे लोग GST और टैक्स सिस्टम से जुड़ते जाएंगे, टैक्स करदाताओं की संख्या बढती जाएगी, केंद्र सरकार का खजाना भरता जाएगा, इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पर इन्वेस्टमेंट बढ़ने लगेगा वैसे वैसे इकॉनोमी भी बढ़ती जाएगी, GDP भी बढ़ती जाएगी और कांग्रेस का मुंह भी लटकता जाएगा. आज कांग्रेसी ख़ुशी मना लें लेकिन जल्द ही वे मातम मनाएंगे और उन्हें भागने की भी जगह नहीं मिलेगी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. ye jo kuch bhi ye kuch bjp ke chootia bhakkat bata rahe hain .......... ek tha mungeri lal ke hassin sapne ye hain modi lal ke hasin sapne

    ReplyDelete