Sep 20, 2017

ऐसे ही विदेश में घूम घूम कर भाषण देते रहे तो राहुल कभी नहीं बन पाएंगे प्रधानमंत्री, पढ़ें क्यों


congress-exposing-congress-party-in-foreign-by-nonsense-speech

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी इस वक्त खुद को ग्लोबल लीडर दिखाने के लिए अमेरिका में घूम घूम कर भाषण दे रहे हैं लेकिन वे अंजानें में कांग्रेस पार्टी और अपनी ही पोल खोल रहे हैं, हमारे विचार से अगर राहुल गाँधी ऐसे ही विदेश में घूम घूम कर भाषण करते रहे तो वह जिन्दगी में कभी भी प्रधानमंत्री नहीं बन पाएंगे और कांग्रेस पार्टी केंद्र में कभी वापसी नहीं कर पाएगी क्योंकि दुनिया समझ जाएगी कि राहुल गाँधी के अन्दर क्या योग्यता है, वैसे भी राहुल गाँधी के कमान संभालने के बाद कांग्रेस पार्टी पूरे देश से समाप्त हो गयी है और सिर्फ 3-4 राज्यों में उसकी सरकार है.

आपको बता दें कि दुनिया राहुल गाँधी का भारत को लेकर विजन जानना चाहती है, दुनिया जानना चाहती है कि राहुल गाँधी भारत को कैसे बदल सकते हैं, उनके मन में क्या प्लान है लेकिन राहुल गाँधी कुछ भी नहीं पता पा रहे हैं, वे सिर्फ मोदी सरकार की बुराई कर रहे हैं और अपना कोई भी अजेंडा नहीं समझा पा रहे हैं.

कल राहुल गाँधी ने अमेरिका की Princeton University में भाषण दिया और छात्रों से सवाल जवाब किया. वहां पर उनसे इंडिया के Transformation पर सवाल पूछा गया, उन्होंने आजादी के समय 1947 से शुरू किया और सीधा 1991-92 में कूद गए, बीच के 40 साल पर उन्होंने कोई बात नहीं की.

उन्होने कहा कि हमने पहले धीरे धीरे शुरुआत की और भारत को आगे बढ़ाया लेकिन हमारे लिए 1991-92 महत्वपूर्ण है क्योंकि हमने अपनी इकॉनमी को ओपन किया. उसके बाद हमें ग्रीन रेवोलुशन किया, वाइट रेवोलुशन किया, बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया, इन सभी ने इंडिया का आर्थिक सशक्तिकरण किया.

1991 के बाद की बात करते हुए उन्होंने कहा कि एशिया के दो ताकतवर देश हैं, इंडिया और चाइना. एक डेमोक्रेटिक और फ्री है जबकि दूसरा कंट्रोल्ड है. उन्होने कहा कि अब हमारे सामने परेशानी यह है कि हम रूरल इकॉनमी को अर्बन इकॉनमी के कैसे बदलें. अब हमारे सामने सवाल है कि भारत के लोगों को जॉब कैसे दें क्योंकि जब हम लोगों को रोजगार नहीं दे सकते तो हम विजन भी बना सकते.

उन्होंने कहा कि आज हम चाइना से प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रहे हैं, उनका विकास हमसे तेज है, उनका विजन क्लियर है जबकि हमारा नहीं है. चाइना ने पिछले 20-25 साल में बहुत तेजी से आर्थिक विकास किया है.

आपको बता दें कि पिछले 10 साल तक देश में कांग्रेस की सरकार थी इसके बाद भी अगर इंडिया चाइना से पीछे है तो इसकी जिम्मेदारी कांग्रेस सरकार पर बनती है क्योकि मोदी सरकार ने पांच महीनें बाद ही विकास की रफ़्तार चाइना से तेज कर दी थी, GDP के मामले में चाइना हमसे पीछे हो गया था. उसके बाद नोटबंदी और GST लागू की गयी जिसकी वजह से GDP में गिरावट आयी है लेकिन भारत की विकास अभी भी कांग्रेस सरकार से तेज है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: